प्रेगनेंसी में क्यों फायदेमंद माना जाता है कीगल एक्सरसाइज करना? एक्सपर्ट से जानें कीगल एक्सरसाइज का सही तरीका

प्रेग्नेंसी के दौरान कीगल एक्सरसाइज महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है। आइए जानते हैं कीगल एक्सरसाइज करने का तरीका क्या है। 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraUpdated at: Jan 14, 2021 15:33 IST
प्रेगनेंसी में क्यों फायदेमंद माना जाता है कीगल एक्सरसाइज करना? एक्सपर्ट से जानें कीगल एक्सरसाइज का सही तरीका

कीगल एक्सरसाइज एक तरह से पेल्विक फ्लोर (pelvic floor) एक्सरसाइज है, जो पेल्विक क्षेत्रों की मांसपेशियों को मजबूत करने में हमारी मदद करता है। कीगल एक्सरसाइज को नियमित रूप से करने से पेल्विक क्षेत्र यानी मूत्राशय, गर्भाशय, छोटी आंत और मलाशय मजबूत होता है। इसलिए गर्भवती महिलाओं के लिए यह एक्सरसाइज फायदेमंद होता है। प्रेग्नेंसी में कीगल एक्सरसाइज करने से योनि प्रोलैप्स (vaginal prolapse) का  इलाज सही से होता है। यह गर्भाशय के प्रोलैप्स (uterine prolapse) को रोकने में मददगार होता है। आपको बता दें कि गर्भावस्था में कीगल एक्सरसाइज करने के लिए किसी भी निर्भारित समय की जरूरत नहीं होती है। यह एक्सरसाइज आप किसी भी समय कर सकते हैं। 

प्रेग्नेंसी में क्यों करना चाहिए कीगल एक्सरसाइज ?

गर्भावस्था में कीगल एक्सरसाइज नियमित रूप से करना चाहिए। स्त्री एंव शिशु रोग विशेषज्ञ डॉक्टर नीरा श्रीवास्तव का कहना है कि प्रेग्नेंसी में महिलाओं को नियमित रूप से एक्सरसाइज करना चाहिए। कीगल एक्सरसाइज करने से पेल्विक एरिया मजबूत होता है, जो प्रसव के लिए काफी अच्छा माना जाता है। अगर आप नॉर्मल डिलीवरी चाहते हैं। तो यह एक्सरसाइज जरूर करें। कीगल एक्सरसाइज से नॉर्मल डिलीवरी होने में मदद मिल सकती है। कीगल एक्सरसाइझ से गर्भाशय और योनि की मांसपेशियां मजबूत होती हैं, जिससे लेबर पैन कम होता है। 

इसे भी पढ़ें - दूसरी बार मां बन रही हैं तो इन 5 बातों का रखें खास ख्याल, आप और शिशु दोनों रहेंगे स्वस्थ

कीगल एक्सरसाइज करने का तरीका (How To Do Kegel Exercise)

  • कीगल एक्सरसाइज करने के लिए सबसे पहले योगा मैट पर सीधा लेट जाएं और अपने दोनों पैरों के घुटनों को मोड़ें।
  • इसके बाद अपनी पैल्विक मांसपेशियों का पता लगाएं। हालांकि, ऐसा करना थोड़ा मुश्किल हो सकता है। लेकिन आप महसूस कर सकते हैं। 
  • अगर आपको पेल्विक मांसपेशियां पता लगाने में ज्यादा कठिनाई हो रही हैं, तो अपनी एक उंगली को अपनी योनी में डालें और इसे हल्का सा दबाएं।
  • ऐसा करने से पैल्विक एरिया में खिंचाव होगा, जिससे आपको पैल्विक की मांसपेशियों का पता चल सकेगा। 
  • कीगल एक्सरसाइज करने के लिए मूत्राशय का खाली होना बहुत ही जरूरी होता है। 
  • पैल्विक मांसपेशियों का पता लगाने के बाद आप उन मांसपेशियों को करीब 5 सेकंड के लिए संकुचित करें।
  • अगर आपको 5 सेकंड ज्यादा लग रहे हैं, तो शुरुआत में सिर्फ 2-3 सेकंड के लिए यह एक्सरसाइज करें। 
  • इसके बाद कम से कम 10 सेकंड के लिए पेल्विक मांसपेशियों को ढीला छोड़ दें। 
  • इस क्रिया के दौरान सांस रोकने से बचें।
  • प्रेग्नेंसी में दिन में दो बार यह एक्सरसाइज करना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।  
 

कीगल एक्सरसाइज करने के फायदे (Benefits Kegel exercise During Benefits of doing Kegel exercises)

  • गर्भावस्था के दौरान कीगल एक्सरसाइज करने से लेबर पेन कम होता है। 
  • प्रेग्नेंसी में कीगल एक्सरसाइज से महिलाओं का शरीर सामान्य प्रसव के लिए तैयार होता है। 
  • प्रेग्नेंसी में कीगल एक्सरसाइज करने से आपका वजन कंट्रोल रहता है। 
  • कीगल एक्सरसाइज से पेल्विक फ्लोर की मांसपेशियां मजबूत होती हैं। 
  • इस एक्सरसाइज से आपका शरीर लचीला होता है। साथ ही आपके शरीर का ताकत बढ़ता है। 
  • गर्भावस्था में होने वाली बवासीर की परेशानी दूर होती है। 
  • प्रेग्नेंसी में कीगल एक्सरसाइज करने से प्रसव के बाद रिकवरी जल्दी होती है। 
 
Read more on   Women Health tips in Hindi

 

Disclaimer