डायबिटीज, मोटापा और कोलेस्ट्रॉल को जड़ से ठीक करेगा जौ का पानी, जानें बनाने की विधि

मोटे अनाजों में जौ बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि जौ में एमिनो एसिड, डाइट्री फाइबर, बीटा ग्लूकन्स, कैल्शियम, कॉपर, आयरन, विटामिन बी कॉम्पलेक्स, मैग्नीज, मैग्नीशियम, सेलेनियम, जिंक, प्रोटीन और एंटीऑक्सिडेंट्स भरपूर होते हैं।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: May 23, 2018
डायबिटीज, मोटापा और कोलेस्ट्रॉल को जड़ से ठीक करेगा जौ का पानी, जानें बनाने की विधि

मोटे अनाजों में जौ बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि जौ में एमिनो एसिड, डाइट्री फाइबर, बीटा ग्लूकन्स, कैल्शियम, कॉपर, आयरन, विटामिन बी कॉम्पलेक्स, मैग्नीज, मैग्नीशियम, सेलेनियम, जिंक, प्रोटीन और एंटीऑक्सिडेंट्स भरपूर होते हैं। जौ का आटा भी गेंहूं के आटे से बेहतर माना जाता है क्योंकि गेंहूं की तरह जौ में ग्लूटेन नहीं पाया जाता है। इसीलिए अगर आप वजन घटाना चाहते हैं या दिल के रोगों से बचना चाहते हैं, तो आपको गेंहूं के बजाय जौ के आटे का प्रयोग करना चाहिए। क्या आपको पता है कि जौ का पानी पीने से आप कई तरह के गंभीर रोगों से बच सकते हैं। आइये आपको बताते हैं जौ का पानी पीने के फायदे और इसे बनाने की विधि।

डायबिटीज करे कंट्रोल

जौ का पानी डायबिटीज के मरीजों के लिए रामबाण है क्योंकि ये ब्लड में ग्लूकोज के लेवल को बैलेंस करता है। जौ में एक खास घुलनशील फाइबर होता है जिसे बीटा-ग्लूकन्स कहते हैं। ये बीटा-ग्लूकन्स ग्लूकोज और इंसुलिन की मात्रा को संतुलित करते हैं और खाना खाने के बाद ब्लड में शुगर के लेवल को कम करने में मदद करते हैं। इसके अलावा जौ को लो-ग्लाइसेमिक इंडेक्स फूड माना जाता है। इस तरह के फूड्स को खने से ब्लज में ग्लूकोज का लेवल कंट्रोल रहता है। जौ में मौजूद फाइटोकेमिकल्स कैंसर, डायबिटीज और दिल की बीमारियों से आपको बचाते हैं।

इसे भी पढ़ें:- क्या गर्मियों में अंडे खाना सेहत को पहुंचाता है नुकसान?

पाचन करे दुरुस्त

जौ में प्रचुर मात्रा में डाइजेस्टिव फाइबर पाया जाता है। फाइबरयुक्त आहारों के सेवन से खाना तेजी से पचता है और आंतों में जमी गंदगी साफ होती है। जब आप जौ का पानी पीते हैं, तो इससे आपका शरीर लंबे समय तक हाइड्रेट रहता है। इस ड्रिंक को पीने से आपके शरीर में मौजूद गंदगी यानि टॉक्सिन्स भी बाहर निकल जाती हैं।

कोलेस्ट्रॉल को करे कम

2010 में हुए एक शोध में पाया गया है कि जौ आपके शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करता है। इससे आपको दिल की बीमारियों की आशंका भी कम होती है और शरीर भी स्वस्थ रहता है। दिल की बीमारियों की एक बड़ी वजह शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल की अधिक मात्रा है।

तेजी से कम होगा वजन

जौ घुलनशील और अघुलनशील फाइबर का स्रोत होता है। इस गुण के कारण आपको देर तक पेट भरा हुआ महसूस होता है। इस कारण आप दिनभर में ज्यादा खाना नहीं खाते हैं। इससे शरीर में एक्स्ट्रा कैलोरीज नहीं जमा होती हैं। इसके अलावा जौ के पानी से पाचन अच्छा रहता है इसलिए इससे आपका मेटाबॉलिज्म भी तेज होता है इसलिए इसे पीने से वजन तेजी से कम होता है।

इसे भी पढ़ें:- 7 फूड्स जिन्हें आप समझते हैं हेल्दी मगर इनमें छिपा होता है ढेर सारा शुगर

जौ का पानी बनाने की विधि

जौ का पानी बनाना बहुत आसान है और इसमें समय भी ज्यादा नहीं लगता है। इसके लिए आपको 6 कप पानी, 2 नींबू, आधा कप शहद और तीन चौथाई कप जौ चाहिए। इन सभी सामानों को इकट्ठा कर लें और इस तरह बनाएं जौ का पानी:

  • सबसे पहले जौ को पानी में तब तक धुलें जब तक ये अच्छी तरह साफ न हो जाए।
  • किसी बर्तन में ये जौ डाल दें और 6 कप पानी डाल दें।
  • मध्यम आंच में जौ और पानी को थोड़ी देर पकाएं।
  • 15-20 मिनट तक पकाने के बाद स्टोव को बंद कर दें।
  • अब किसी बर्तन में इस मिश्रण को छान लें। जौ और पानी को अलग कर लें।
  • जौ के पानी में नींबू और शहद को अच्छी तरह मिलाएं।
  • अब इस तैयार मिश्रण को किसी बोतल में भर लें और फ्रिज में रखकर खूब ठंडा होने दें।
  • ठंडा होने के बाद आप इसे जरूरत अनुसार पी सकते हैं।
ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप
Read More Articles On Healthy Eating In Hindi
Disclaimer