बच्चों में आॅटिज्म का खतरा बढ़ाते हैं पेट के ऐसे बैक्टीरिया, ये होते हैं लक्षण

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 28, 2018
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

हर व्यक्ति के पेट और आंत में 5,000 से ज्यादा बैक्टीरिया पेट-आंत में पाए जाते हैं। इनमें से कुछ बैक्टीरिया ऐसे होते हैं जो हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छे होते हैं और कुछ बैक्टीरिया ऐसे होते हैं जो हमारे लिए कई तरह से खतरनाक होते हैं। वैज्ञानिकों ने रिसर्च में पाया है कि पेट के बैक्टीरिया बच्चों में आॅटिज्म का रोग पैदा करने के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं। वैज्ञानिकों ने पेट में पाए जाने वाले बैक्टीरिया और एंटी-ट्यूमर प्रतिरक्षा प्रतिक्रियाओं के बीच संबंध पाया है जो लिवर कैंसर के होने की प्रक्रिया को समझने और उसके इलाज में मदद साबित हो सकता है।

इसे भी पढ़ें : स्‍मोकिंग करने से सिर्फ फेफड़े ही नहीं, मांसपेशियों भी होती हैं प्रभावित

शोधकर्ताओं ने चूहों पर किए शोध में पाया है कि पेट में पाए जाने वाले बैक्टीरिया लिवर के एंटी-ट्यूमर प्रतिरक्षा गतिविधियों को प्रभावित कर रहे थे। नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट (एनसीआई) के सेंटर फॉर कैंसर रिसर्च (सीसीआर) से इस अध्ययन के मुख्य लेखक टिम ग्रेनेट ने कहा, विभिन्न ट्यूमर मॉडल का उपयोग करके हमने पाया है कि अगर एंटीबायोटिक दवाओं के जरिए चूहों का इलाज किया जाए और उस बैक्टीरिया को कम कर देते हैं तो लिवर की प्रतिरक्षा कोशिकाओं की संरचना बदल सकती है और लिवर में ट्यूमर वृद्धि भी प्रभावित हो सकती है।

इसे भी पढ़ें : थायरॉइड से ब्रेन डैमेज का खतरा, इन 7 तरीकों से बरतें सावधानी

मनुष्यों में शरीर के कुल सूक्ष्मजीव का सबसे बड़ा अनुपात पेट में होता है। पेट के माइक्रोबायम (बैक्टीरिया का जटिल पारिस्थितिक तंत्र) और कैंसर के बीच संबंधों में व्यापक शोध के बावजूद लिवर कैंसर के गठन में पेट के बैक्टीरिया की भूमिका को कम समझा गया है। इस शोध के लिए अध्ययनकर्ताओं ने लिवर कैंसर वाले तीन चूहों के मॉडलों का आकलन कर पाया कि जब एंटीबायोटिक 'कॉकटेल' का उपयोग कर पेट के बैक्टीरिया को कम कर दिया गया तो चूहों में कम और छोटे लिवर ट्यूमर ही विकसित हुए। जांचकर्ताओं ने पाया कि एंटीबायोटिक उपचार ने चूहे के लिवर में एनकेटी कोशिकाओं नामक प्रतिरक्षा कोशिका की संख्या में वृद्धि की। यह शोध पत्रिका 'साइंस' में प्रकाशित हुआ है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles on Health News in Hindi

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES384 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर