जोड़ों के दर्द को नजरअंदाज करना पड़ सकता है महंगा, अर्थराइटिस के भी हो सकते हैं संकेत

अगर आपके भी जोड़ों में हमेशा दर्द रहता है तो इसे नजरअंदाज न करें, बल्कि इसको दूर करने के लिए अपनाएं ये आसान तरीके। 

सम्‍पादकीय विभाग
अन्य़ बीमारियांWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Dec 09, 2014Updated at: Feb 12, 2020
जोड़ों के दर्द को नजरअंदाज करना पड़ सकता है महंगा, अर्थराइटिस के भी हो सकते हैं संकेत

आजकल गठिया रोग यानी अर्थराइटिस एक आम बीमारी बन गई है। ये एक जोड़ों में होने वाली एक बहुत ही बड़ी बीमारी है। अर्थराइटिस होने पर शरीर के जोड़ों में काफी दर्द रहने लगता है। इस रोग में लोग अक्सर डॉक्टरों से ज्यादा घरेलू इलाज पर भरोसा करते हैं और उसे अपनाते हैं। 

अर्थराइटिस का पता लगाना काफी मुश्किल होता है, क्योंकि ये काफी समय बाद सामने आता है। गठिया का दर्द का कारण क्या होता है और इसके लक्षण क्या होते हैं इसका पता लगाना बहुत ही जरूरी होता है। गठिया का दर्द हमारी जीवनशैली में काफी परेशानी पैदा करता है और तकलीफ देता है। इसका इलाज आपको जल्द से जल्द कराना चाहिए नहीं तो इससे आपको आगे और भी ज्यादा परेशानी हो सकती है। आइए हम आपको बताते हैं कि गठिया का दर्द यानी अर्थराइटिस के लक्षण क्या होते हैं और इससे छुटकारा कैसे पाया जा सकता है। 

अर्थराइटिस के लक्षण क्या है? 

  • जोड़ों में लगातार दर्द रहना। 
  • जोड़ों के आसपास सूजन आना। 
  • हाथ-पैर की मूवमेंट करते हुए दर्द होना। 
  • जोड़ों में काफी भारीपन आना। 

अर्थराइटिस का घरेलू इलाज 

रोजमेरी 

अगर आप अर्थराइटिस का शिकार हो गए हैं तो आपको ज्यादा घबराने की जरूरत नहीं है। अर्थराइटिस में रोजमेरी का इस्तेमाल करना बहुत ही फायेदमंद साबित होता है। ज्यादातर आयुर्वेदिक दवाइयों में रोजमेरी का ही इस्तेमाल किया जाता है। इसके साथ ही आप रोजमेरी की मदद से गठिया के दर्द को दूर कर सकते हैं। इसके लिए आप घर पर ही एक कप पानी में थोड़े रोजमेरी के पत्ते डाल लें और इसे 10 मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद आप इस पानी का सेवन चाय की तरह कर लें। आपको इसका सेवन रोजाना करना होगा। आपको जल्द ही दर्द में राहत महसूस होने लगेगी। 

इसे भी पढ़ें: अर्थराइटिस को दूर भगाएंगे, ये घरेलू उपाए

बथुआ 

अर्थराइटिस से पीड़ित लोगों के लिए बथुआ भी काफी कारगर माना जाता है। बथुआ एक तरह का साग का ही रूप होता है, जिसका सेवन ज्यादातर लोग सब्जी बनाकर करते हैं। बथुआ के ताजे पत्तों की मदद से आप अपने जोड़ों के दर्द को राहत दे सकते हैं। इसके लिए 15 ग्राम बथुआ के पत्‍तों का रस का सेवन करना पड़ेगा। इसका सेवन आपको खाली पेट करना होगा इससे आपको काफी राहत मिल सकेगी। 

एलोवेरा 

वैसे तो एलोवेरा को ज्यादातर लोग त्वचा के लिए इस्तेमाल करते हैं लेकिन ये हमारे सेहत के लिए भी काफी ज्यादा फायदेमंद होता है। एलोवेरा के इस्तेमाल से भी आप गठिया के दर्द से छुटकारा पा सकते हैं। इसके लिए आपको एलोवोरा के जेल को दर्द वाली जगह पर लगाना होगा, इसे रोजाना करने से कुछ ही दिनों में आपको राहत मिल सकेगी। 

आलू 

आलू का सेवन गठिया के दर्द में काफी हद तक आराम मिलता है। आपको इसके लिए आलू के रस का सेवन करने की जरूरत होती है। रोजाना 100 मिली रस का सेवन करने से आपको जल्दी फायदा मिल सकेगा। 

इसे भी पढ़ें: रूमेटाइड अर्थराइटिस का फेफड़ों पर प्रभाव

इन सबके अलावा आपको बता दें कि अर्थराइटिस की बीमारी को बिलकुल भी हल्के में न लें। ये दर्द आपको जीवनभर परेशान कर सकता है साथ ही ये समस्या और भी बढ़ सकती है। इसलिए इसके लक्षण को देखते ही आप इसके इलाज के लिए या तो घरेलू नुस्खों को अपनाएं या फिर डॉक्टर से जल्द से जल्द संपर्क करें। 

Read more articles on Other Diseases in Hindi

Disclaimer