अग्नि मुद्रा क्या है? जानें इसके स्वास्थ्य लाभ और करने का तरीका

अग्नि मुद्रा शरीर के लिए काफी फायदेमंद हो सकती है। आइए जानते हैं इसके फायदे और करने का तरीका क्या है।

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Jul 01, 2022Updated at: Jul 01, 2022
अग्नि मुद्रा क्या है? जानें इसके  स्वास्थ्य लाभ और करने का तरीका

योग मुद्राएं पारंपरिक रूप से दिमाग और शरीर को स्वस्थ रखने के लिए  की जाती  हैं। ये सांस संबंधी  परेशानियों को दूर करने के साथ-साथ एकाग्रता बढ़ाने और मन को शांत करने में आपकी मदद कर  सकते हैं । योग मुद्राओं में शरीर के पंचतत्वों जल, आकाश, पृथ्वी, वायु और अग्नि को मुख्य  बिंदु माना जाता है। आज इस लेख में हम अग्नि मुद्रा के बारे में जानेंगे। अग्नि मुद्रा को सूर्य मुद्रा भी कहा जाता है। इस मुद्रा के जरिए अग्नि तत्व को एक्टिव करने की कोशिश की जाती है। साथ ही यह मुद्रा हमारे शरीर में अग्नि संतुलन को  बनाए रखने में मददगार हो  सकती है। आइए इस लेख में जानते हैं कि अग्नी मुद्रा के फायदे और करने का तरीका क्या है? Agni Mudra Benefits

कैसे करें अग्नि मुद्रा (How to Do Agni Mudra)

  • इस मुद्रा का अभ्यास करने के लिए सबसे पहले साफ और शांत स्थान पर मैट बिछाएं। 
  • अब मैट पर पद्मासन या सुखासन की मुद्रा में बैठ जाएं। 
  • इसके बाद हाथों को आराम से घुटनों पर रखें और ध्यान करने की स्थिति में बैठ जाएं। 
  • अब दोनों हाथों के अंगूठों को अपनी मध्यमा उंगली के साथ मिलाएं। ध्यान रखें कि इस दौरान  उंगली और अंगूठें के पोरों को मिलाकर रखना चाहिए। 
  • अन्य तरीके से करने के लिए अनमिका को नीचे और अंगूठे को ऊपर की ओर रखना चाहिए। साथ ही हाथ की बाकी उंगलियों को को एक सीध में रखनी चाहिए। 
  • इस दौरान ध्यान रखें कि आपको अपनी हथेलियों को नीचे की ओर रखना चाहिए। 
  • अग्नि मुद्रा के अभ्यास के दौरान सामान्य रूप से सांस लें। 
  • कुछ मिनट तक इस मुद्रा में रहें।
  • बेहतर रिजल्ट के लिए दिन में कम से कम 2 बार इस मुद्रा का अभ्यास करें। 

इसे भी पढ़ें - शरीर और मन को डिटॉक्स करने के लिए करें ये मुद्रा, मिलेगी शांति और रहेंगे स्वस्थ

अग्नि मुद्रा के फायदे (Health benefits of Agni Mudra)

  • नियमित रूप से अग्नि मुद्रा का अभ्यास करने से शरीर का वजन कम हो सकता है। दरअसल, यह मुद्रा आपकी पाचन की गड़बड़ी को  सुधारती है। पाचन में खराबी की वजह से फैट को बर्न करना मुश्किल हो सकता है। ऐसे में अग्नि मुद्रा से एक्टिव अग्नि तत्व मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करता है, जिससे फैट बर्न होने में आपको मदद मिल सकती है। 
  • आंखों की रोशनी को बढ़ाने के लिए नियमित रूप से अग्नि मुद्रा का अभ्यास करें। दरअसल, यह मुद्रा हमारे शरीर में अग्नि तत्व को एक्टिव  करती है, जिससे आंखों की रोशनी बेहतर हो सकती है।
  • सर्दी-जुकाम की परेशानियों को दूर करने के लिए अग्नि मुद्रा का अभ्यास किया जा सकता है। यह सर्दी-जुकाम की परेशानी को दूर करने में प्रभावी  होती है। 
  • पाचन संबंधी परेशानी को दूर करने के लिए आप इस मुद्रा का अभ्यास कर सकते हैं। यह भूख  बढ़ाती है। साथ ही कब्ज की परेशानी को दूर करने में आपकी मदद कर  सकती है। 
  • सांस संबंधी परेशानी को दूर करने के लिए अग्नि मुद्रा का अभ्यास करना आपके लिए हेल्दी हो सकता है। इससे इन्फेक्शन की परेशानी दूर हो सकती है। 
  • इसके साथ ही यह जोड़ों में दर्द, स्किन की परेशानी, ब्लड प्रेशर संबंधी परेशानी को दूर करने में आपकी मदद कर  सकती है। 

नियमित रूप से अग्नि मुद्रा का अभ्यास करने से शरीर को काफी फायदेमंद हो सकते हैं। हालांकि, ध्यान रखें कि अगर आप पहली बार इस मुद्रा का अभ्यास कर रहे हैं, तो एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। 

 
Disclaimer