अस्‍थमा के रोगियों के लिए फायदेमंद है ये 7 तरह फूड

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 10, 2017
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • अस्‍थमा, सांस फूलना, एलर्जी आदि रोग
  • का कारण स्‍मॉग और वायु प्रदूषण है
  • प्रदूषण से हमारे फेफडों को होने वाले नुकसान

दिन प्रतिदिन बढ़ते प्रदूषण के स्‍तर का हमारे स्‍वास्‍थ्‍य पर बुरा असर देखने को मिल रहा है। वायु प्रदूषण न सिर्फ वातावरण को प्रदूषित करता है बल्कि यह हमारे शरीर में होने वाली कई जानलेवा बीमारियों की जड़ है। इसकी वजह से फेफड़ों से संबंधित रोग होते हैं। अस्‍थमा, सांस फूलना, एलर्जी आदि रोगों का कारण स्‍मॉग और वायु प्रदूषण है। प्रदूषण से हमारे फेफडों को होने वाले नुकसान से बचाने के लिए कुछ फूड्स बताए गए हैं, जिनका सेवन कर अस्‍थमा को कंट्रोल किया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें: गर्भावस्‍था में स्‍मोकिंग से बच्चे को अस्‍थमा का खतरा!

फेफड़ों के स्वास्थ्य के लिए 7 बेहतरीन फूड्स

ओमेगा-3 फैटी एसिड
ओमेगा-3 फैटी एसिड साल्‍मन, ट्यूना, ट्राउट जैसी मछलियों में एवं मेवों व अलसी में पाया जाता है। ओमेगा -3 फैटी एसिड केवल हमारे फेफडों के लिए ही नहीं बल्कि हमारे स्वास्थ्य के लिए भी बहुत लाभदायक है। इसके अलावा, ओमेगा-3 फैटी एसिड का सेवन दमे के रोगियों के स्वास्थ्य को सुधारता है। अतः अस्थमा के रोगियों को सांस की तकलीफ एवं घरघराहट के लक्षणों से निजात दिलाता है। इसलिए इसे फेफडों के सेहत के लिए सबसे अच्छा फूड माना जाता है।

कैरोटीनॉयड
फेफड़ों के स्वास्थ्य के लिए कैरोटीनॉयड बहुत महत्वपूर्ण है। यह एंटीऑक्सीडेंट व्यक्ति को फेफड़ों के कैंसर के खतरे से बचाता है तथा अस्थमा के रोगियों को अस्थमा के दौरों से राहत दिलाता है। अपने फेफडों की कैरोटीनॉयड की जरूरत को पूरा करने के लिए गाजर, शकरकंद, टमाटर व हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन करें।

पत्तेदार सब्जियां
एंटीऑक्सीडेंट से समृद्ध पत्तेदार सब्जियां फेफडों में मौजूद विषाक्त पदार्थों को निकाल बाहर करती हैं। अपने फेफडों को साफ करने के लिए आपको अपने आहार में गोभी, ब्रोकोली, एवं कोल्हाबी को शामिल करने की जरुरत है। आप इनका सेवन सलाद के रूप में या सब्जी के रूप में कर सकते हैं।

फोलिक एसिड

हमारा शरीर फोलेट को फोलिक एसिड में तबदील करता है। फोलेट हमारे फेफडों से कैंसर पैदा करने वाले सत्वों को हटाता है एवं फेफडों के कैंसर से आपकी हिफाज़त करता है। पालक, ब्रोकोली, चुकंदर, शतावरी, मसूर की दाल एवं रूचिरा फोलेट से युक्त कुछ खाद्य पदार्थ हैं।

विटामिन सी
फेफडों के लिए गुणकारी फूड की सूची में फल भी शामिल हैं। विटामिन सी से संपन्न फलों में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। ये एंटीऑक्सीडेंट सांस लेत वक्त शरीर के अन्य हिस्सों को ऑक्सीजन प्रदान करने में मदद करते हैं। संतरे, नींबू, टमाटर, कीवी, स्ट्रॉबेरी, अंगूर, अनानास व आम में विटामिन सी होता है। अपने फेफड़ों से विषाक्त पदार्थों को निकालने के लिए इन फलों की सहायता लें।

लहसुन
लहसुन में मौजूद एल्लिसिन नामक सत्व हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है। लहसुन में उपस्थित एंटीऑक्सीडेंट गुण शरीर व फेफडों से मुक्त कणों को दूर करने में मदद करते हैं। साथ ही, ये संक्रमण से लडते हैं व फेफडों की सूजन को घटाते हैं। लहसुन, दमे के रोगियों के लिए अपने भोजन में शामिल करने योग्य एक अच्छा खाद्य पदार्थ है।

बेरी
बेरी में आप ब्लूबेरी, रास्पबेरी व ब्लैकबेरी का सेवन कर सकते हैं। इन बेरियों में फ्लावोनॉयड, फैरोटीनॉयड व लुतिन, जीजांतिन नामक के एंटीऑक्सिडेंट मौजूद होते हैं। ये एंटीऑक्सिडेंट आपको कैंसर से बचाने के लिए फेफडों में बसे कार्सिनोजन को हटाते हैं तथा फेफडों के संक्रमण का खात्मा करते हैं।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Asthma In Hindi

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES2672 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर