तपती गर्मी और लू से आपको बचाती है तुलसी और ये 4 आयुर्वेदिक औषधियां, जानें इनके फायदे

आयुर्वेद प्राकृतिक रूप से हमें स्‍वस्‍थ जीवन जीने में मदद करता है। इसमें कुछ सरल जड़ी-बूटियों की तरह बहुत कुछ होता है, जो गर्मियों में होने वाली समस्याओं से राहत प्रदान करती हैं। 

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: May 13, 2019
तपती गर्मी और लू से आपको बचाती है तुलसी और ये 4 आयुर्वेदिक औषधियां, जानें इनके फायदे

आयुर्वेद के अनुसार, "गर्मी का मौसम बहुत ही गर्म है, और इस मौसम को पित्त दोष का मौसम माना जाता है।" गर्मियों में पूरे जोश के साथ, आपके शरीर में त्वचा की सूजन, पसीना, चिड़चिड़ापन, गर्मी की वजह से रेशेज, दस्त और निर्जलीकरण यानी डिहाइड्रेशन का खतरा अधिक होता है। इसलिए, आयुर्वेद का सुझाव है कि हर किसी को मौसम के अनुसार सही भोजन का चुनाव करना चाहिए जो शरीर को विषाक्‍त पर्दार्थों बचाने में मदद करे। साथ ही शरीर को दोबारा जीवंत करे और पाचन, प्रतिरक्षा, शारीरिक और मानसिक शक्ति को बढ़ावा दे। यहां 5 जड़ी बूटियां हैं जो आपको बढ़ते तापमान से लड़ने में मदद कर सकती हैं और आपकी त्वचा को हीटिंग से बचाएंगी। ये जड़ी बूटी प्रतिरक्षा और पाचन को सही रखेंगी। 

 

ब्राह्मी

ब्राह्मी, जिसे बाकोपा मोन्नियारी के नाम से भी जाना जाता है, यह भारत की एक पारंपरिक चिकित्सीय जड़ी बूटी है। इस जड़ी बूटी को आमतौर पर आयुर्वेद में स्मृति बढ़ाने, कामोद्दीपक और सामान्य टॉनिक के रूप में उपयोग किया जाता है। यह मन को शांत करने की प्रवृत्ति रखता है और अवसाद को दूर करता है। यह संज्ञानात्मक प्रदर्शन को प्रभावित करता है और सीखने को बढ़ाता है, नए तंत्रिका के जुड़ाव बनाता है और आवश्यक न्यूरोट्रांसमीटर स्तरों को संतुलित करता है।

मंजिष्ठा

मंजिष्ठ, जिसे रूबिया कॉर्डिफोलिया के रूप में भी जाना जाता है, रक्त में शीतलन प्रभाव और शरीर से विषाक्त पदार्थों को हटाने के लिए जाना जाने वाला यह सबसे अधिक कीमती आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है। हालांकि यह जड़ी बूटी स्‍वाद में कड़वा है, लेकिन इसके लाभ और उपयोग की लंबी लिस्‍ट है। यह एक शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट, एंटी इफ्लामेशन और एंटी माइक्रोबियल है। 

तुलसी

तुलसी, जिसे पवित्र तुलसी के रूप में भी जाना जाता है, यह मानव शरीर में एक detoxifying और क्लींजिंग एजेंट के रूप में कार्य करती है। यह 3000 साल पुरानी औषधि व्यापक रूप से चिकित्सीय शक्ति के कारण इसे ऐतिहासिक रूप से दवा के रूप में उपयोग किया जाता है। यह अत्यधिक गर्मी के दौरान शरीर को ठंडा रखता है और इसे नियमित रूप से हर्बल चाय के रूप में उपयोग किया जा सकता है। यह दुनिया भर में तनाव दूर करने वाली औषधि के रूप में जाना जाता है।  

इसे भी पढ़ें: डायबिटीज, ब्‍लड प्रेशर और इन 5 रोगों से छुटकारा दिलाते हैं जामुन के बीज, जानें सेवन का तरीका

आंवला

आंवला, जिसे भारतीय Gooseberry के नाम से भी जाना जाता है, यह अपने विटामिन सी वाले गुणों के लिए लोकप्रिय है। यह मूत्रवर्धक है और पाचन तंत्र से अतिरिक्त गर्मी को हटाता है, भोजन के अवशोषण को बढ़ाता है और शरीर को detoxify करता है। आंवला प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने में मदद करता है, उम्र बढ़ने को धीमा करता है, रक्त में शर्करा के स्तर को कम करता है, गले के संक्रमण का इलाज करता है, प्रजनन क्षमता को बढ़ाता है, हृदय को पोषण देता है और हृदय स्वास्थ्य में सुधार करता है।

इसे भी पढ़ें: तनाव, अवसाद के साथ त्‍वचा रोगों से भी निजात दिलाते हैं ये 5 आयुर्वेदिक तेल, जानें क्‍या हैं ये

अश्वगंधा

अश्वगंधा, जिसे भारतीय जिनसेंग के रूप में भी जाना जाता है, इसका उपयोग ज्यादातर मानव शरीर में ऊर्जा और स्‍टेमिना को बढ़ाने के लिए किया जाता है। यह एक अविश्वसनीय औषधीय जड़ी बूटी है और एक एडेपोजेन के रूप में वर्गीकृत है। इसमें उन लाभों की एक लंबी सूची है जिनमें रक्त शर्करा के स्तर में कमी, कोर्टिसोल के नियंत्रित स्तर और कई और अधिक शामिल हैं। यह आपको चिंता और अवसाद से लड़ने में भी मदद करेगा। यह मस्तिष्क के कार्यों को भी बढ़ावा देगा। इसके कई स्वास्थ्य लाभ हैं और विभिन्न अध्ययनों के अनुसार, यह ट्यूमर के विकास से लड़ने में भी आपकी मदद कर सकता है। आप अश्वगंधा के साथ सूजन का इलाज भी कर सकते हैं। 

इन जड़ी बूटियों के लाभ अंतहीन हैं इसलिए आप इन्हें अपने दैनिक जीवन में शामिल कर सकते हैं। यदि कोई भी जड़ी-बूटी आपके शरीर को सूट नहीं करती है तो आप इसके उपयोग को रोक सकते हैं।

इनपुट्स: ऋषभ चोखानी, संस्थापक और सीईओ, नेचरविब बोटैनिकल

Read More Articles On Ayurveda In Hindi

Disclaimer