स्कैल्प में एक वसामय ग्रंथि भी होती है, जो तेल का उत्पादन करके खोपड़ी को मॉइस्चराइज़ करती है। जब तेल का उत्पादन कम हो जाता है, तो सिर की त्वचा सूखने लगती है। जिसकी वजह से कई समस्याएं हो सकती हैं। 

"/>

इन 5 नेचुरल तरीकों से करें सिर के रूखेपन का इलाज, रूसी और बाल झड़ने हो जाएंगे कम

स्कैल्प में एक वसामय ग्रंथि भी होती है, जो तेल का उत्पादन करके खोपड़ी को मॉइस्चराइज़ करती है। जब तेल का उत्पादन कम हो जाता है, तो सिर की त्वचा सूखने लगती है। जिसकी वजह से कई समस्याएं हो सकती हैं। 

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Jan 01, 2019Updated at: Jan 01, 2019
इन 5 नेचुरल तरीकों से करें सिर के रूखेपन का इलाज, रूसी और बाल झड़ने हो जाएंगे कम

बालों की समस्या आपके स्कैल्प यानी खोपड़ी को भी प्रभावित करती है। अगर आपको अपने स्कैल्प की समस्या है, तो इसके कई कारण हो सकते हैं। स्कैल्प में एक वसामय ग्रंथि भी होती है, जो तेल का उत्पादन करके खोपड़ी को मॉइस्चराइज़ करती है। जब तेल का उत्पादन कम हो जाता है, तो सिर की त्वचा सूखने लगती है। जिसकी वजह से कई समस्याएं हो सकती हैं। कुछ लोगों को एक्जिमा, स्कैल्प संक्रमण जैसी कई समस्याएं हो सकती हैं। यहां हम आपको कुछ ऐसे नुस्‍खे बता रहे हैं जिसकी मदद से आप अपने स्‍कैल्‍प के रूखेपन को दूर कर सकते हैं साथ ही रूसी और बाल झड़ने की समस्‍या से भी छुटकारा पा सकते हैं। 

 

स्‍कैल्‍प के रूखेपन से कैसे बचें 

बालों तथा सिर की त्वचा को स्वस्थ रखने के लिए सही भोजन आवश्यक है। आपके रोज के आहार में उचित मात्रा में विटामिन और प्रोटीन का होना बहुत ज़रूरी है। रोज के खाने में हरी व पत्तेदार सब्जियों के साथ फलों का सेवन करें। अतिरिक्त पोषण के लिए मछली, अंडे, दूध, ड्राई फ्रूट के साथ ओमेगा3 फैटी एसिड युक्त चीजों को भी आहार में शामिल करें। यह सिर की त्वचा और बालों को सेहतमंद बनाए रखने में मदद करते हैं।

अगर आप बालों पर शैंपू, कंडीशनर या क्लिंजर जैसे केमिकल युक्त उत्पादों का इस्तेमाल करते हैं तो इन्हें तुरंत बंद कर दें। बालों का रखरखाव करें। केमिकल युक्त प्रोडक्‍ट के बजाए घरेलू नुस्‍खों को अपनाएँ यह बालों की सेहत के लिए अच्छे होते हैं। केमिकल युक्‍त प्रोडक्‍ट बालों को रूखा कर देते हैं, बालों में अधिक रूखापन होने की वजह से भी डैंड्रफ की समस्या पैदा होती है। 

इसे भी पढ़ें: कौन सा दूध ज्‍यादा फायदेमंद है, गर्म या ठंडा? जानें इन दोनों के फायदे 

रूखेपन का प्रकृतिक उपचार 

  • बालों की सभी समस्‍याओं खासकर डैंड्रफ का भी सबसे कारगर उपचार है तेल मालिश। तेल मालिश से बालों को पोषण मिलता है। सिर की मांपेशियां उत्तेजित होती है और रक्त संचार भी तेज होता है। और बाल स्‍वस्‍थ, सुन्‍दर, घने, लंबे और रूसी रहित बनते हैं। इसलिए हफ्ते में एक बार तेल लगाकर बालों की मालिश करना अति आवश्यक है।
  • मालिश के पश्चात बालों के रोमकूपों से गन्‍दगी व मैल साफ करने के लिए स्‍टीम देना अच्‍छा रहता है। इसके लिए गर्म पानी से तौलिया भिगोकर बालों पर अच्‍छी तरह से लपेट लें। स्‍टीम से रोमकूपों में फंसी मैल और मृत कोशिकाएं आदि निकल जाती है व तेल भी अच्‍छी तरह से सिर की त्वचा में चला जाता है जिससे बालों की जड़ें मजबूत बनती है और डैंड्रफ की समस्‍या भी दूर होती है।
  • मेथी में निकोटिनिक एसिड और प्रोटीन पाया जाता है जो बालों की जड़ों को पोषण देता है। मेथी से उपचार के लिए 2 चम्मच मेथी को रात भर पानी में भिगो कर सुबह पीस लें। इस लेप को अपने बालों और सिर पर कम से कम 30 मिनट के लिये लगायें। 30 मिनट के बाद बालों को किसी अच्‍छे हल्‍के शैम्‍पू से धो लें। इससे रूसी हटेगी, बाल मजबूत होगें और टूटने से बचेगें।
  • नींबू के रस में विटामिन सी, ए, बी, फॉसफोरस और एंटीऑक्‍सीडेंट पाया जाता हैं जिससे बाल चमकदार और घने बनते हैं। अगर बालों में डैंड्रफ है तो गर्म तेल में नींबू के रस को डाल कर मालिश करने से यह दूर हो जाती है साथ ही बालों का झड़ना भी  रुक जाता हैं। नहाने से पहले नींबू के रस से सिर की मालिश कर बालों को धोने से भी फायदा होता है।
  • दही के सेवन से स्‍कैल्‍प पर नमी आती है। जिससे डैंड्रफ से छुटकारा पाया जा सकता है। डैंड्रफ की शिकायत होने पर बालों को दही में काली मिर्च का चूर्ण मिलाकर सिर धोयें। यह हफ्ते में दो बार अवश्य करें। इससे बालों की डैंड्रफ तो दूर होगी, साथ ही बाल मुलायम, काले, लंबे व घने होंगे।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Home Remedies In Hindi

Disclaimer