बच्चों को 'जीनियस' बनाने के टिप्स

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 14, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • बच्चों के दिमागी विकास के लिए उन्हें पौष्टिक आहार दें।
  • जिन कामों में उनकी रूचि हो उसे करने देना चाहिए।
  • बच्चों के हर सवालों को जवाब सरल भाषा में दें।
  • उनकी गलतियों पर डांटने की जगह उन्हें प्यार से समझाएं।

बच्चों के मानसिक विकास में माता-पिता और घर के माहौल का अहम रोल होता है। जिस प्रकार बच्चों का शारीरिक विकास के लिए उनका काफी ध्यान रखा जाता है उसी प्रकार मानसिक विकास के लिए भी आपको बच्चों को एक अच्छा माहौल और आपके प्यार और दुलार की जरूरत होती है।    

आजकल बढ़ती प्रतिस्पर्धा की दौड़ में आगे बढ़ने के लिए बच्चों को शार्प माइंडेड होना बहुत जरूरी है। उन्हें वो सबकुछ पता होना चाहिए, जो उनके लिए जानना जरूरी है। हर माता-पिता का सपना होता है कि उनका बच्चा बुद्धिमान बने और पढ़ाई में आगे निकले। लेकिन क्या आप जानते हैं बच्चों को बुद्धिमान बनाना आपके हाथ में है? जी हां, अगर बच्चों को एक खुशनुमा माहौल दिया जाए खाने में पौष्टिक आहार दिया जाए तो बच्चों को बुद्धिमान बनाना आसान हो जाता है। जानें बच्चों का दिमाग तेज करने के उपाय।


improve brain power


दिमागी खेल के फायदे

बच्चों के दिमागी विकास और उन्हें बुद्धिमान बनाने के लिए जरूरी है कि बच्चों के साथ छोटे-छोटे दिमागी खेल खेले जाएं। पहले उन्हें विस्तार से खेल का तरीका बताएं फिर उनके साथ बच्चा बनकर ही खेलें और गलती होने पर उन्हें अवश्य बताएं। जिससे वे उस गलती को दोबारा करने से बचेंगे। इन खेल की मदद से उनका दिमाग तो तेज होगा ही साथ उन्हें मजा भी आएगा।


प्यार व दुलार

वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं द्वारा किए गए अध्ययन के मुताबिक जो महिलाएं अपने नवजात को ज्यादा प्यार व दुलार देती हैं। उनके बच्चों के दिमाग के हिप्पोकेंपस क्षेत्र में ज्यादा नर्व कोशिकाएं बनती हैं जिससे बच्चे का दिमाग तेज होता है। मां से लगाव होने पर बच्चों के दिमागी विकास पर काफी असर होता है।


पौष्टिक आहार

बच्चों के दिमागी विकास के लिए उन्हें पौष्टिक आहार की बहुत जरूरत होती है। बच्चों को खाने में हरी सब्जियां, फल, दूध, मेवे, अंडे आदि जैसे खाद्य पदार्थ दें। बच्चों को जंक फूड का सेवन कम से कम कराएं। हर रोज सुबह बच्चों को भीगे हुए बादाम की दो तीन गरियां खाने को दें। इससे उनकी याद्दाशत बढ़ती है।

 

healthy food


पर्याप्त नींद

पोषक तत्वों के अलावा, पर्याप्त नींद आवश्यक है। अमरीका में हुए एक अध्ययन के मुताबिक दोपहर में खाना खाने के बाद क़रीब एक घंटे की नींद लेने से बच्चों की याददाश्त बढ़ती है। यूनिवर्सिटी ऑफ मैसाच्युसेट्स के शोधकर्ताओं के मुताबिक दिमाग को मजबूत बनाने और सीखने के लिए दोपहर की नींद बेहद अहम है।


स्तनपान कराएं

मां का दूध बच्चे के दिमागी विकास के लिए बहुत जरूरी है। नवजात के लिए मां के दूध से अच्छा कोई भी आहार नहीं होता है। एक तरफ जहां स्तनपान से बच्चों को गंभीर बीमारियों से बचाया जा सकता है वहीं यह बच्चों के दिमागी विकास के लिए भी महत्वपूर्ण माना जाता है। डैनिश शोधकर्ताओं के मुताबिक स्तनपान करने वाले बच्चे ज्यादा स्वस्थ और बुद्धिमान होते हैं।


किताबों के शौकीन  

बच्चों के दिमागी विकास के लिए नयी-नयी तकनीक आ चुकी है लेकिन हम किताबों से मिलने वाले ज्ञान को कैसे भूल सकते हैं। ज्यादातर बच्चों को किताबें पढ़ने का शौक होता है। आपको बच्चे की इस शौक में बाधा बनने की जगह उन्हें किताबें पढ़ने के लिए प्रेरित करना चाहिए। यह हर उम्र के बच्चों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। इससे उन्हें हर तरह का ज्ञान मिलता है।

 

तो अब बच्चों का दिमागी विकास के लिए इन उपायों को अपनायें और अपने प्यारे को बनाए जिनियस। ध्यान रहे बच्चे आपसे ही सीखते हैं इसलिए जैसा आप बोलेंगे व्यवहार करेंगे वे भी वैसा ही करेंगे।

 

Read More Articles On Parenting In Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES217 Votes 14882 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर