A, B, AB या O किस ब्लड ग्रुप वाले लोगों को हार्ट अटैक का खतरा ज्यादा? जानें कौन सा ब्लड ग्रुप सबसे ज्यादा सेफ

अक्सर हम हार्ट अटैक के लिए कई चीजों को जिम्मेदार ठहराते हैं लेकिन एक चीज हम अक्सर भूल जाते हैं और वो है हमारा ब्लड टाइप।

 

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaPublished at: Mar 12, 2020Updated at: Mar 12, 2020
A, B, AB या O किस ब्लड ग्रुप वाले लोगों को हार्ट अटैक का खतरा ज्यादा? जानें कौन सा ब्लड ग्रुप सबसे ज्यादा सेफ

क्या आप दिल के बिना अपने शरीर की कल्पना कर सकते हैं? इस सवाल का लगभग सभी लोग एक ही जवाब देंगे कि नहीं, ऐसा नहीं हो सकता। मानव शरीर को चलने के लिए दिल की बेहद जरूरत है। दिल हमारे शरीर का सबसे ज्यादा संवेदनशील और बहुत ही जरूरी अंग है। लेकिन व्यस्त और तनावभरी जीवनशैली, खानपान की खराब आदतें और शारीरिक गतिविधियों की कमी के कारण हमारा दिल लगातार कमजोर होता जा रहा है। यही कारण है मौजूदा दौर में ज्यादातर लोग ह्रदय रोगों का शिकार हो रहे हैं और दुनिया भर में सबसे ज्यादा लोगों की मौत इसी कारण होती है। ह्रदय रोगों में हार्ट अटैक, एंजायना पेक्टोरिस, मायोकार्डियल इंफेक्शन, हार्ट फेल्योर और कार्डियक अरेस्ट जैसी समस्याएं शामिल हैं, जिन्होंने दुनियारभर में लोगों को अपना शिकार बनाया हुआ है।

bloodtype

ब्लड ग्रुप निभाता है अहम भूमिका

आपको बता दें कि ये सभी बीमारियां हमारे दिल को अलग-अलग तरह से प्रभावित करती हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि हार्ट अटैक सहित ह्रदय रोगों का जोखिम किस ब्लड ग्रुप के लोगों को ज्यादा होता है। अगर आप भी ये बात सुनकर होश गंवा बैठे हैं कि ऐसा भी कुछ होता है तो आप बिल्कुल सही पढ़ रहे हैं। जी हां, ऐसे कुछ ब्लड ग्रुप हैं, जिन्हें हार्ट अटैक का सबसे ज्यादा खतरा होता है। अगर आप भी जानना चाहते हैं कि कहीं आपका भी तो ब्लड ग्रुप हार्ट अटैक की संवेदनशीलता वाला नहीं है तो ये लेख जरूर पढ़ें।

इसे भी पढ़ेंः 'साइलेंट' हार्ट अटैक की वजह है शरीर में होने वाली ये 3 परेशानियां, जानें साइलेंट ह्रदय रोगों के शुरुआती संकेत

किस ब्लड ग्रुप को ज्यादा खतरा

11,000 लोगों पर किए एक अध्ययन में ब्लड टाइप, ब्लड शुगर लेवल और कोलेस्ट्रॉल लेवल को शामिल किया गया। अध्ययन में पाया गया कि लोगों ने जो जवाब दिए अध्ययन के परिणाम ठीक उसके उलट देखे गए। अध्ययन के मुताबिक, आपका ब्लड टाइप आपमें ह्रदय रोगों के खतरे को बढ़ाता है। अध्ययन में पाया गया कि   AB, B और A ब्लड टाइप वाले लोगों में हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा O ब्लड टाइप वाले लोगों की तुलना में ज्यादा होता है।

किन चीजों से बचें

सबसे ज्यादा याद रखने वाली बात ये है कि हम अपना ब्लड टाइप कभी नहीं बदल सकते हैं। लेकिन हम कुछ चीजें कर इस खतरे को ज्यादा से ज्यादा कम कर सकते हैं जैसे नियमित रूप से एक्सरसाइज करने और रिफाइन्ड शुगर का सेवन बंद कर। वहीं अन्य कारकों में धूम्रपान छोड़कर, और डाइट में बदलाव कर भी हार्ट से जुड़ी बीमारियों से बचा जा सकता है।

O ब्लड टाइप सबसे ज्यादा सुरक्षित

अध्ययन के मुताबिक, जिन लोगों का ब्लड टाइप  AB, B और A होता है उनमें ह्रदय रोगों का खतरा अधिक होता है और उनकी उम्र O ब्लड टाइप वाले लोगों की तुलना में भी कम होती है। लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि वे लोग, जिनका ब्लड टाइप O नहीं है उन्हें ज्यादा चिंता करने की जरूरत है। दरअसल ह्रदय रोगों का खतरा और जीवनकाल कई कारकों पर निर्भर करता है, जिसमें एक्सरसाइज और संपूर्ण स्वास्थ्य शामिल है।

इसे भी पढ़ेंः  इस विटामिन की कमी के कारण जोरों से धड़कता है दिल, जानें दिन में कितनी कितनी मात्रा लेने से दिल रहेगा दुरुस्त

सात साल तक किया गया अध्ययन

एक और अध्ययन में शोधकर्ताओं ने पूर्वोत्तर ईरान के 30 से 50 साल की उम्र के 50, 000 लोगों पर औसतन सात साल तक नजर रखी। उन्होंने पाया कि वे लोग जिनका ब्लड टाइप O है उनकी मृत्यु किसी भी स्वास्थ्य कारण से पूरे अध्ययन के दौरान 9 फीसदी तक कम दर्ज की गई। इतना ही नहीं उनमें ह्रदय रोगों से मरने का जोखिम भी 15 फीसदी तक कम देखा गया। जबकि अन्य ब्लड टाइप वाले लोगों में ये जोखिम 15 फीसदी अधिक था।

bloodtype and heart

गैस्ट्रिक कैंसर का खतरा 55 प्रतिशत तक कम

अमेरिकी नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ में एपिडमियोलॉजिस्ट और अध्ययन के मुख्य शोधकर्ता डॉ. एरैश एतीमैडी का कहना है कि ये मेरे लिए पता लगाना बेहद ही रोचक था कि O ब्लड टाइप वाले लोगों को अन्य रोगों से मरने का खतरा काफी कम होता है। उन्होंने पाया कि O ब्लड टाइप वाले लोगों में टाइप O रक्त वाले लोगों की तुलना में गैस्ट्रिक कैंसर का खतरा 55 प्रतिशत तक ज्यादा होता है।

Read more articles on Heart Health in Hindi

Disclaimer