पुशअप्‍स के दौरान एब्‍स पैक को सुडौल बनाने का तरीका

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 12, 2015
Quick Bites

  • पुशअप्‍स करने से सीना, कंधे व पैक्स मजबूत बनती हैं।
  • पुशअप के दौरान एब्स पर भी बेहतर काम किया जा सकता है।
  • बैंच प्रैस करने से पहले ये पुशअप वॉर्म करने के लिये होती हैं।

बाजुओं को मजबूत बनने और बॉडी के ऊपरी हिस्सों को खूबसूरत आकार देने में पुशअप्स एक्सरसाइज बेहतरीन भूमिका निभाते हैं। पुशअप्‍स करने से न सिर्फ सीना व कंधे मजबूत होते हैं बल्कि बाजुएं व पैक्स भी मजबूत बनते हैं। लेकिन यदि आप पुश अप के दौरान अपनी पैक्स (अंसपेशी) पर बेहतर काम करना चाहते हैं तो पुश करने के तरीके में बस थोड़ा से बदलाव से आप ऐसा कर सकते हैं। तो चलिये जानें पुश-अप्स के दौरान अपने पैक्स पर बेहतर काम कैसे कर सकते हैं।

During a Pushup in Hindi

साधारण तौर पर पुशअप करने के लिए हाथों को फर्श पर रखकर कमर सीधी रखते हुए अपनी कुहनियों को मोड़ें और सीने को फर्श के नजदीक लाया जाता है। और फिर वापस उसी स्थिति में लौट आया जाता है। लेकिन अगर आप पुशअप के दौरान पैक्स पर भी बेहतर काम करना चाहते हैं तो आपको हाथों की पोजीशन में थोड़ा बदलाव करना होगा।

इसे भी पढ़ें : पुश-अप्‍स की शुरूआत कैसे करें



साधारण पुशअप के दौरान जब आपके हाथ आपके कंधे के नीचे सीधे होते हैं, तो इस समय आपके ट्राइसेप्स वजन का अनुभव करते हैं। हालांकि जब आप अपने हाथों को कंधों की दूरी से ज्यादा फांसला रखते हैं तो आपका वजन छाती पर का कवच की मांसपेशियों में बंट जाता है। और हाथों को आगे की ओर रखने पर आपके पैक्स पर पर अधिक प्रभाव पड़ता है।



इसे भी पढ़ें : पुश अप वर्कआउट के जरिए शरीर को दीजिए बेहतर शेप और मजबूती

फिजिकल एक्सरपर्ट बताते हैं कि इस बैंच प्रैस करने से पहले ये पुशअप वॉर्म करने के लिये होती हैं। लेकिन ये पुश अप्स कंधे की छोटी मांसपेशियों के लिये थोड़ी मुश्किल हो सकती हैं, तो वॉर्म अप के लिये साधारण पुश अप के 5 से 8 रैप लगाएं। और फिर अपने हाथों को कुछ इंच बाहर निकालकर 5 से 8 रैप लगाएं।

 

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Exercise And Fitness in Hindi.




बाजुओं को मजबूत बनने और बॉडी के ऊपरी हिस्सों को खूबसूरत आकार देने में पुशअप्स एक्सरसाइज बेहतरीन भूमिका निभाते हैं। पुशअप्‍स करने से न

सिर्फ सीना व कंधे मजबूत होते हैं बल्कि बाजुएं व पैक्स भी मजबूत बनते हैं। लेकिन यदि आप पुश अप के दौरान अपनी पैक्स (अंसपेशी) पर बेहतर काम

करना चाहते हैं तो पुश करने के तरीके में बस थोड़ा से बदलाव से आप ऐसा कर सकते हैं। तो चलिये जानें पुश-अप्स के दौरान अपने पैक्स पर बेहतर काम

कैसे कर सकते हैं।

साधारण तौर पर पुशअप करने के लिए हाथों को फर्श पर रखकर कमर सीधी रखते हुए अपनी कुहनियों को मोड़ें और सीने को फर्श के नजदीक लाया जाता

है। और फिर वापस उसी स्थिति में लौट आया जाता है। लेकिन अगर आप पुशअप के दौरान पैक्स पर भी बेहतर काम करना चाहते हैं तो आपको हाथों की

पोजीशन में थोड़ा बदलाव करना होगा।

साधारण पुशअप के दौरान जब आपके हाथ आपके कंधे के नीचे सीधे होते हैं, तो इस समय आपके ट्राइसेप्स वजन का अनुभव करते हैं। हालांकि जब आप

अपने हाथों को कंधों की दूरी से ज्यादा फांसला रखते हैं तो आपका वजन छाती पर का कवच की मांसपेशियों में बंट जाता है। और हाथों को आगे की ओर

रखने पर आपके पैक्स पर पर अधिक प्रभाव पड़ता है।

फिजिकल एक्सरपर्ट बताते हैं कि इस बैंच प्रैस करने से पहले ये पुशअप वॉर्म करने के लिये होती हैं। लेकिन ये पुश अप्स कंधे की छोटी मांसपेशियों के

लिये थोड़ी मुश्किल हो सकती हैं, तो वॉर्म अप के लिये साधारण पुश अप के 5 से 8 रैप लगाएं। और फिर अपने हाथों को कुछ इंच बाहर निकालकर 5 से

8 रैप लगाएं।  



Read More Articles On Exercise And Fitness in Hindi.



Loading...
Is it Helpful Article?YES134 Votes 23710 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK