वर्कआउट के बाद कूल डाउन एक्सरसाइज करना क्यों जरूरी है? जानें 5 कारण

Importance Of Cool Down Exercises: कूल डाउन एक्सरसाइ आपको वर्कआउट सेशन के बाद वाप सामान्य स्थिति में लाने में मदद करते हैं, जानें यह क्यों जरूरी है।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarUpdated at: Jan 12, 2023 15:01 IST
वर्कआउट के बाद कूल डाउन एक्सरसाइज करना क्यों जरूरी है? जानें 5 कारण

Importance Of Cool Down Exercises In Hindi: स्वस्थ रहने के लिए एक्सरसाइज करना जितना महत्वपूर्ण है, उतना ही स्वस्थ तरीके से एक्सरसाइज करना भी है। जिससे कि आप किसी भी तरह की चोट या अन्य जोखिमों से बच सकें। इसलिए वर्काउट से पहले और बाद में भी कुछ सरल स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करने की सलाह दी जाती है। जिस तरह वर्काउट से पहले वार्म अप करना जरूरी होता है, उसी तरह एक इंटेंस वर्कआउट सेशन के बाद शरीर को कूल डाउन भी बहुत जरूरी है। वर्काउट के बाद कुछ कूल डाउन एक्सरसाइज करने से हार्ट रेट और ब्लड प्रेशर को वर्काउट से पहले की तरह सामान्य करने में मदद मिलती है। एथलीट्स के लिए यह खासकर बहुत जरूरी होता है, क्योंकि कूल डाउन एक्सरसाइज ब्लड फ्लो को कंट्रोल रखने में मदद करती हैं। इसके इससे एक्सरसाइज के बाद मांसपेशियों की जकड़न और दर्द को कम करने में भी मदद मिलती है।

लेकिन अक्सर लोगों के मन में यह सवाल रहता है कि क्या वर्काउट के बाद कूल डाउन एक्सरासइज करना जरूरी है? क्या सभी को इसकी जरूरत होती है? देखा जाए तो व्यक्ति की वर्काउट की इंटेंसिटी पर निर्भर करता है। साथ ही यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप अपने वर्काउट सेशन को कितना समय दे सकते हैं। जैसा कि हमने ऊपर बताया कि कूल डाउन सेशन किस तरह रिकवरी में मदद करते हैं, इसको ध्यान में रखते हुए अगर आप समय निकाल सकते हैं तो आपको कूल डाउन एक्सरसाइज जरूर करनी चाहिए। हालांकि इसके अलावा भी कई कारणों से कूल डाउन एक्सरसाइज का अभ्यास आपकी स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है। इस लेख में हम आपको ऐसे ही 5 कारण बता रहे हैं।

Importance Of Cool Down Exercises In Hindi

कूल डाउन एक्सरसाइज करना क्यों जरूरी है- Why are cool down exercises important in hindi

1. लैक्टिक एसिड बढ़ावा मिलता है

जब आप एक इंटेंस वर्काउट करते हैं, तो इसके बाद शरीर में मांसपेशियों में ऐंठन और अकड़न की समस्या देखने को मिलती है। कूल डाउन एक्सरसाइज करने से शरीर में लैक्टिक एसिड को रिलीज करने की प्रक्रिया को तेज होती है, जिससे शरीर को जल्दी रिकवरी में मदद मिलती है।

इसे भी पढें: रनिंग करने के बाद कौन सी एक्सरसाइज करनी चाहिए? जानें 5 स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज

2. मिलता है वर्काउट का पूर्ण लाभ

एक्सरसाइज के दौरान और बाद में चोट के जोखिम को कम करने के लिए वार्म अप और कूल डाउन एक्सरसाइज करना बहुत जरूरी होता है। अगर आप कूल डाउन नहीं करते हैं तो इससे मांसपेशियों की रिकवरी धीरे-धीरे होती है और वर्काउट का पूर्ण लाभ भी नहीं मिलता है।

3. हार्ट रेट रहती है कंट्रोल

जब आप इंटेंस वर्काउट करते हैं तो इससे आपके हार्ट रेट काफी बढ़ जाती है और दिल जल्दी-जल्दी धड़कने लगता है। जिसे आपको वर्काउट के बाद सामान्य करने की आवश्यकता होती है। इसमें कूल डाउन एक्सरसाइज आपकी मदद करती हैं। लेकिन अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो इससे चक्कर आना, हल्कापन महसूस हो सकता है। साथ ही कई अन्य समस्याएं भी हो सकती हैं।

4. बेहतर होती है रिकवरी

वर्काउट के दौरान हमारा शरीर कई बदलावों से गुजरता है जैसे एड्रेनालाईन पंपिंग, तापमान बढ़ना, और सांस तेज होना या फूलना आदि। कूल डाउन सेशन की मदद से आपको सामान्य स्थिति में वापस आने में मदद मिलती है।

इसे भी पढें: एक्सरसाइज करते समय न करें ये 5 गलतियां, नहीं घटेगा वजन

5. तनाव कम होता है और आराम मिलता है

एक्सरसाइज का लाभ आपके आपके मानसिक स्वास्थ्य को भी मिलता है। जब आप एक्सरसाइज के बाद शरीर को कूल डाउन करते हैं तो आप आराम की स्थिति में पहुंचने लगते हैं और मूड में सुधार होता है। इस दौरान आपका मस्तिष्क डोपामाइन और सेरोटोनिन हार्मोन रिलीज करना शुरू कर देता है, जो हमें अच्छा और तनाव महसूस कराने में भूमिका निभाते हैं।

All Image Source: Freepik

Disclaimer