इन झूठ को सच समझ लेती हैं गर्भवती, फायदे की जगह होता है नुकसान

प्रेग्नेंसी का समय हर महिला के बेहद खास होता है। हालांकि प्रेग्नेंसी के दौरान कई समस्याओं का सामना भी करना पड़ता है मगर आने वाले नन्हें मेहमान की खुशी में वो इन कष्टों को भूल जाती है। 8-9 महीने की प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाएं होने वाले शिशु को लेक

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Nov 11, 2018Updated at: Mar 30, 2019
इन झूठ को सच समझ लेती हैं गर्भवती, फायदे की जगह होता है नुकसान

प्रेग्नेंसी का समय हर महिला के बेहद खास होता है। हालांकि प्रेग्नेंसी के दौरान कई समस्याओं का सामना भी करना पड़ता है मगर आने वाले नन्हें मेहमान की खुशी में वो इन कष्टों को भूल जाती है। 8-9 महीने की प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाएं होने वाले शिशु को लेकर तमाम तरह की कल्पनाएं करती हैं। शिशु के स्वास्थ्य, उसकी देखभाल, परवरिश आदि से जुड़ी बातें महिला के दिमाग में हर समय चलती हैं। इस दौरान डॉक्टर भी महिलाओं को कई तरह के सुझाव देते हैं। ना सिर्फ डॉक्टर बल्कि घर और आस-पड़ोस की महिलाएं और बड़े बुजुर्ग भी आपको कई तरह की सलाह देते हैं। लेकिन इनमें से कुछ बातें सच तो कुछ बातें झूठ होती हैं। आज हम आपको ऐसी ही कुछ बातों के बारे में बताने जा रहें है जिन्हें आप सच मान लेते है लेकिन असल में वो झूठ होती है। आइए जानते हैं क्या हैं वो बातें-

बच्चे का अंदाजा

आपने अपने आसपास कई लोगों को यह कहते सुना होगा कि वो महिला का गर्भ देखकर शिशु के लिंग का अंदाजा बता देते हैं। जबकि ये बिल्कुल झूठ है। जिसके चलते कुछ महिलाएं अपेक्षा के अनुसार उत्तर ना मिलने पर उदास हो जाती हैं। जबकि प्रैग्‍नेंसी के दौरान बेबी बंप का शेप पेट के आकार, चर्बी, मांसपेश‍ियों और यूट्रेस के अंदर बच्चे की पोजिशन पर निर्भर करता है। इसलिए कभी भी इस बात पर विश्वास ना करें कि सामने वाला जो बोल रहा है वह सच ही है।

इसे भी पढ़ें : गर्भावस्था के दौरान, घर पर करें ये व्यायाम

सीने में जलन

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के सीने में जलन बहुत ही आम समस्या होती है। ऐसे में लोग इसके लिए कहते हैं कि ऐसा तब होता है जब हार्टबर्न तेज होती है तो बच्‍चे के बालों की ग्रोथ अच्छी होती है, यह पूरी तरह गलत है। इस दौरान भोजन एसिड फूड पाइप की ओर आ जाता है, जिससे हार्टबर्न की समस्या हो जाती है।

सुबह के वक्त कमजोरी

प्रेग्‍नेंसी में महिलाओं को सुबह के वक्त कमजोरी महसूस होती है। कुछ लोगों का मानना है कि इसका मतलब है मां के गर्भ से बच्चे को ठीक तरह पोषण नहीं मिल रहा है। जिसके चलते बच्चा कमजोर हो सकता है। ऐसा नहीं है, बल्कि हर सुबह आपके वॉमिटिंग करने का मतलब है कि आपको बच्‍चा गर्भ में पूरी तरह सुरक्ष‍ित है।

व्यायाम करना

कुछ लोगों का मानना है कि एक्‍सरसाइज करने से बच्चे को नुकसान पहुंचता है और बच्चे के अंग उतने मजबूत नहीं होते हैं। जब आप इस संबंध में डॉक्टर की सलाह लेंगे तो जानेंगे कि प्रैग्नेंसी के दौरान हल्की-फुल्की एक्‍सरसाइज करने से बच्चा स्वस्थ होता है। साथ ही मां भी शारीरिक और मानसिक तौर पर स्वस्थ महसूस करती है।

हवाई सफर

महिलाओं को गर्भावस्था में हवाई सफर करने से परहेज करने को कहा जाता है। लोग अफवाह के तौर पर कहते हैं कि इस दौरान हवाई सफर करने से बच्चे को नुकसान हो सकता है। जबकि डॉक्टर मानते हैं कि प्रेग्नेंसी में सुरक्षा के साथ हवाई सफर कर सकते है। केवल आखिरी महीनों में इससे परहेज करना चाहिए।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Pregnancy

Disclaimer