पोलियो वायरस से मुक्ति दिलाएगा ये पाउडर, डॉक्टर ने किया है दावा

भले ही हमारे देश में पोलिया वायरस के कुछ चुनिंदा मामले ही सामने आते हैं। लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि हमें इसके प्रति सावधानी नहीं बरतनी चाहिए। 

Rashmi Upadhyay
लेटेस्टWritten by: Rashmi UpadhyayPublished at: Nov 29, 2018Updated at: Nov 29, 2018
पोलियो वायरस से मुक्ति दिलाएगा ये पाउडर, डॉक्टर ने किया है दावा

भले ही हमारे देश में पोलिया वायरस के कुछ चुनिंदा मामले ही सामने आते हैं। लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि हमें इसके प्रति सावधानी नहीं बरतनी चाहिए। पोलिया वायरस बहुत ही भयंकर वायरस होता है। यह व्यक्ति को अंदर तक क्षतिग्रस्त कर देता है। हाल ही में शोधकर्ताओं ने इसके लिए इलाज के लिए नई दवा का अविष्कार किया है। दरअसल, वैज्ञानिकों ने पोलियो की एक नई दवाई बनाई है जिसे फ्रिज में रखने की जरूरत नहीं है और इसे दुनियाभर में कहीं भी उपयोग किया जा सकता है। शोधकर्ताओं का कहना है कि पोलियो के शिकार मुख्य रूप से पांच साल से कम उम्र के बच्चे होते हैं।

यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ कैरोलिना (यूएससी) के शोधकर्ताओं द्वारा विकसित की गई इंजेक्शन के माध्यम से दी जाने वाली दवाई पाउडर के रूप में जमी हुई और सूखी है और इसे सामान्य तापमान पर चार सप्ताह तक रखा जा सकता है जिसे बाद में रिहाइड्रेट भी किया जा सकता है। शोधकर्ताओं ने कहा कि चूहों पर परीक्षण करने पर निष्कर्ष निकला कि यह नई दवाई पोलियो के विषाणु से पूरी तरह रक्षा करती है।

यूएससी के के स्कूल ऑफ मेडीसिन में मुख्य शोधकर्ता वू-जिन शिन ने कहा, 'स्थिरीकरण कोई रॉकेट विज्ञान नहीं है इसलिए ज्यादातर वैज्ञानिक इस क्षेत्र में ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं।' शिन ने कहा, 'हालांकि, किसी दवाई या टीका के शानदार होने से तब तक फर्क नहीं पड़ता जब तक एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जाने में वह ठीक न हो।' यह शोध एनबायो में प्रकाशित हुआ है। वैज्ञानिकों ने सूखा कर नमी खत्म करके चेचक, टाईफाइड और मेनिंगोकोकल बीमारियों के लिए सामान्य तापमान में स्थिर रहने वाले टीके बनाए, लेकिन वैज्ञानिक पोलियो के लिए ऐसा टीका नहीं बना सके जो जमाने-सुखाने के बाद दोबारा नम मौसम में प्रभावशाली बनी रह सके।

पोलियो का खतरा

•    दूषित पानी का सेवन से पोलियो का खतरा होता है।

•    गंदे पानी में तैरने से भी पोलियो वायरस का संक्रमण हो सकता है। 

•    युवाओं की तुलना में बच्चों में इस बीमारी के फैलने की संभावना अधिक होती है।

पोलियो की रोकथाम

•    बच्चे को पोलियो ड्राप पिलाना ना भूलें 

•    अपने आसपास सफाई रखें

•    पौष्टिक आहार लें

पोलियो के लक्षण

मरीज की स्थिति वायरस की तीव्रता पर निर्भर करती है। अधिकतर स्थितियों में पोलियो के लक्षण फ्लू जैसी ही होते हैं। लेकिन इसके कुछ सामान्य लक्षण हैं:

•    पेट दर्द

•    उल्टियां आना 

•    गले में दर्द

•    सिरदर्द

•    जटिल स्‍‍थितियों में हृदय की मांस पेशियों में सूजन भी आ सकती है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Health News In Hindi

Disclaimer