वायरस और फ्लू से बचा सकती है काली चाय, न्यूट्रीशनिस्ट ल्यूक कौटिन्हो ने बताए ब्लैक टी के जबरदस्त फायदे

इम्यूनिटी बूस्ट करने, वायरस और फ्लू से बचाव करने और कई बीमारियों को बढ़ने में रोकने में मददगार होती है काली चाय, इसके फायदे जानें और रोज पिएं।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Mar 11, 2020
वायरस और फ्लू से बचा सकती है काली चाय, न्यूट्रीशनिस्ट ल्यूक कौटिन्हो ने बताए ब्लैक टी के जबरदस्त फायदे

भारत में इन दिनों कोरोना वायरस के खतरे ने सभी को परेशान कर रखा है। इसके अलावा मौसम में बदलाव के कारण भी कई तरह के वायरस, बैक्टीरिया, फ्लू, इंफेक्शन और बीमारियों का खतरा बढ़ गया है। इन बीमारियों, वायरस और इंफेक्शन से बचाव का सबसे सिंपल तरीका ये है कि आप अपनी इम्यूनिटी (रोग प्रतिरोधक क्षमता) बूस्ट करें। हमारा शरीर प्राकृतिक रूप से तमाम तरह के वायरस और इंफेक्शन से लड़ने में सक्षम होता है। मगर गलत खानपान और आदतों के कारण हम अपनी इम्यूनिटी खराब कर लेते हैं, जिससे जब वायरस और बैक्टीरिया हम पर अटैक करते हैं, तो शरीर अपनी रक्षा नहीं कर पाता है। इम्यूनिटी को अच्छा करने के लिए आपको बहुत ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है। सेलिब्रिटी न्यूट्रीशनिस्ट और लाइफस्टाइल कोच ल्यूक कौटिन्हो के अनुसार काली चाय पीने से आपकी इम्यूनिटी बूस्ट हो सकती है। बस आपको कुछ बातों का ध्यान देना है।

ल्यूक कौटिन्हो ने बताए काली चाय क्यों है फायदेमंद

ल्यूक बताते हैं कि अगर आप अच्छी क्वालिटी की काली चाय पीते हैं, तो इम्यूनिटी बूस्ट करने के लिए ये बेस्ट ड्रिंक है। ब्लैक टी में टैनिन्स होते हैं। ये चाय में टेस्ट लाने के साथ-साथ आपको कई तरह के वायरसों से भी बचाता है। टैनिन्स आपको एंफ्लुएंजा, डायरिया, पेचिश, हेपेटाइटिस आदि से बचाता है। इसके अलावा चाय में खास तत्व होता है, जो इम्यूनिटी बूस्ट करने के लिए जिम्मेदार होता है। इसे एल्काइलामाइन कहते हैं। एल्काइलामाइन एक तरह के एंटीजेन होते हैं, जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाते हैं।

इसे भी पढ़ें: कोरोना वायरस से बचने के लिए कैसे बूस्ट करें अपनी इम्यूनिटी? न्यूट्रीशनिस्ट से जानें

क्या चाय सिर्फ चाय पीकर वायरस और बैक्टीरिया से बचा जा सकता है?

ल्यूक बताते हैं कि इस बात की गारंटी नहीं दी जा सकती है कि अगर आप ब्लैक टी पीते हैं, तो आप हर तरह के वायरस और बैक्टीरिया से बच जाएंगे। मगर हां, इम्यूनिटी अच्छी हो, तो आपका शरीर बहुत सारे वायरस और बैक्टीरिया से लड़ने के लिए तैयार हो जाता है। इम्यून सिस्टम को कई बातें सपोर्ट करती हैं, जैसे- आपकी नींद, जीवन में तनाव, आपका भोजन, रोजाना पानी पीने की मात्रा और एक्सरसाइज आदि। इसलिए आपको अपने जीवन में इन सभी चीजों को बदलना भी जरूरी है।

कई बीमारियों से बचाती है काली चाय

ब्लैक टी में फ्लैवोनॉइड्स और एंटीऑक्सिडेंट्स होते हैं, जो आपको कई बीमारियों से बचाते हैं। ध्यान दें कि आपको बाजार में बनी हुई ब्लैक टी नहीं, बल्कि घर पर बनी ताजी ब्लैक टी पीनी है। इसके पीने से हार्ट के मरीजों में हार्ट अटैक का खतरा कम होता है। काली चाय आपके कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करती है, ब्लड प्रेशर घटाने में मदद करती है। डायबिटीज

इसे भी पढ़ें: बेमौसम बरसात आपको बना सकती है कई बीमारियों का शिकार, कोरोना वायरस और सामान्य फ्लू में न हों कंफ्यूज

कब और कितनी पीनी चाहिए चाय?

ल्यूक एक स्टडी का जिक्र करते हुए बताते हैं कि आप एक दिन में 3 कप काली चाय, हर 4 घंटे के अंतर पर पी सकते हैं। हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को इसका सेवन करना चाहिए। इसके अलावा डायबिटीज के मरीज खाने के 45 मिनट बाद अगर 1 कप काली चाय पी लें, तो उनका ब्लड शुगर कंट्रोल में रहता है।

चाय पीने से नहीं होती एसिडिटी

चाय और कॉफी के बारे में अक्सर लोग सोचते हैं कि इसे पीने से उन्हें एसिडिटी हो जाएगी। मगर ल्यूक इस बात से इंकार करते हैं। उनका कहना है कि चाय-कॉफी पीने से एसिडिटी नहीं होती है, बल्कि आप पहले से एसिडिक होते हैं और चाय-कॉफी से इसका प्रभाव बढ़ जाता है। ऐसे बहुत कम लोग हैं, जिन्हें वाकई चाय या कॉफी पीने से परेशानी होती है। बाकी लोग अगर अपने पाचन और आंतों के स्वास्थ्य का ख्याल रखें, तो उन्हें चाय पीने के बाद एसिडिटी की समस्या नहीं आएगी।

Watch Video: COVID-19: कोरोनावायरस से बचने के 5 आसान उपाय

Read more articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer