Makar Sankranti 2021: मकर संक्रांति और लोहड़ी पर जरूर खाएं तिल-गुड़, जानें इससे सेहत को मिलने वाले फायदे

मकर संक्रांति और लोहड़ी के पर्व पर खाए जाने वाला तिल गुड़ से सेहत ढेर सारे लाभ मिलते हैं। इसीलिए इन चीजों को पारंपरिक रूप से इन त्यौहारों से जोड़ा गया

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Jan 09, 2020
Makar Sankranti 2021: मकर संक्रांति और लोहड़ी पर जरूर खाएं तिल-गुड़, जानें इससे सेहत को मिलने वाले फायदे

तिल और गुड़, दोनों ही एक स्‍वास्‍थ्‍यवर्धक आहार है, जिसका सेवन अधिकांश भारतीय, नियमित तौर पर या किसी विशेष पर्व पर करते हैं। तिल गुड़ का सेवन और दान मुख्‍यत: मकर संक्रांति और लोहड़ी पर्व पर लोगों द्वारा किया जाता है। आयुर्वेद के अनुसार, गुड़ और तिल का सेवन विभिन्‍न रोगों में औषधि के तौर पर भी करते हैं। गुड़ और तिल दोनों ही स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होते हैं। इनमें कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, आयरन, कैल्शियम और वसा प्रचुर मात्रा में होता है। इसके अलावा, तिल में फाइबर की भी मौजूदगी होती है। यह सभी पोषक तत्‍व शरीर को उर्जा प्रदान करने के साथ शरीर में इनकी जरूरत को पूरा करते हैं।   

मैक्‍स हॉस्पिटल (गुरूग्राम) की हेड न्यूट्रीशनिस्ट उपासना शर्मा कहती हैं "तिल गुड़ को एक साथ या इसकी अलग-अलग रेसिपी बनाकर सेवन किया जा सकता है। इनके सेवन से ब्‍लड प्रेशर कंट्रोल रहता है, हड्डियां मजबूत होती हैं, पाचन तंत्र दुरूस्‍त रहता है और सर्दी के मौसम में अर्थराइटिस के दर्द से राहत दिलाता है। इसके अलावा, इसमें कई ऐसे पोषक तत्‍व मौजूद होते हैं, जो बीमारियों के जोखिम को कम करते हैं।"   

til-ke-laddu

गुड़ के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ- Health Benefits of Jaggery in Hindi

  • चीनी के विकल्‍प के तौर पर गुड़ का सेवन करना अधिक फायदेमंद होता है। 
  • पाचन को सुधारने और शरीर की गंदगी को साफ करने में मदद करता है। 
  • यह विटामिन और खनिज जैसे- कैल्शियम, जिंक, पोटेशियम आदि का पॉवर हाउस है। 
  • इसके एंटी एलर्जिक गुणों के कारण यह सांस संबंधी समस्याओं से बचाता है। 
  • यह विटामिन सी का एक अच्छा स्रोत है।
gur

तिल के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ- Health Benefits of Sesame In Hindi

  • चूंकि यह फाइबर का एक समृद्ध स्रोत है, इसलिए पाचन को बेहतर बनाने में मदद करता है। 
  • अध्ययन से पता चलता है कि यह एलडीएल और हाई ट्राइग्लिसराइड्स को कम करने में मदद करता है। 
  • यह पॉलीअनसेचुरेटेड फैटी एसिड और मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड का एक समृद्ध स्रोत है। 
  • प्रोटीन और आवश्यक अमीनो एसिड जैसे- मेथिओनिन एब्स सिस्टीन होता है, जिसमें फलियां की कमी होती है। 
  • इसमें मैग्नीशियम की उच्च मात्रा के कारण यह बीपी को कम करने में मदद करता है। 
  • यह दैनिक जरूरत का लगभग 22% कैल्शियम प्रदान करता है, जिससे हड्डी मजबूत होती है। इसमें एंटी-इंफ्लामेट्री गुण होते हैं, जो आर्थराइटिक दर्द को दूर करने के साथ सूजन को भी करते हैं।
til

गुड़ और तिल का सेवन कैसे कर सकते हैं?

  • गुड़ और तिल का सेवन अलग-अलग व्‍यंजनों के तौर पर कर सकते हैं या आप इसके मिश्रण से भी एक खास तरह की डिश बना सकते हैं। 
  • गुड़-तिल का लड्डू सर्दियों में काफी फायदेमंद होता है। लड्डू बनाना काफी आसान है।   
  • कई लोग रागी गुड़-तिल पुड़ा बनाकर खाते हैं।  
  • दूध में ड्राई फ्रूट गुड़ और तिल पाउडर मिलाकर सेवन कर सकते हैं। यह कमजोर शरीर वालों को ताकत देता है।
  • मालपुआ में भी इनका मिश्रण कर बना सकते हैं।  

100 ग्राम गुड़ औ तिल में मौजूद पोषक तत्‍व

पोषक तत्‍व                     गुड़ (मिग्रा)             तिल (मिग्रा)

कार्बोहाइड्रेट                     353                    516

प्रोटीन                          1.85                    21.61 

आयरन                         4.63                   14.95 

कैल्शियम                      107                     1174

वसा                            0.16                    43.22

फाइबर                         -                         17.21

Inputs: Upasana Sharma, Head Nutritionist, Max Hospital, Gurgaon

Read More Articles On Healthy Diet In Hindi

Disclaimer