फ्रक्टोज भी बढ़ाता है आपका वजन, जानिए कैसे

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 01, 2016
Quick Bites

  • डायबिटिक लोगों में फ्रक्टोज अलग ही तरह से मेटाबॉलाइज़ हो सकता है।
  • डायबिटिक लोगों पर फ्रक्टोज का प्रभाव जाननने के लिए और रिसर्च जरूरी।
  • डायबिटीज से पीड़ित चूहों में तेजी से फ्रक्टोज का अवशोषण देखा गया।
  • डायबिटिक लोगों में एक प्रकार का प्रोटीन बढ़ाता है मोटापा।

चूहों पर हुए एक नए शोध से पता चला है कि डायबिटीज से पीड़ित लोगों में फ्रक्टोज अलग ही तरह से मेटाबॉलाइज हो सकता है। जर्नल ऑफ ईलाइफ में प्रकाशित शोध के अनुसार दरअसल फ्रक्टोज शुगर का एक प्रकार होता है और जल्दी ही लीवर में सोखकर संभावित स्वास्थ्य जटिलताओं को पैदा कर सकता है। शोधकर्ताओं के अनुसार यदि इस विषय पर और विस्तार से शोध हो तो डायबटीज के मरीजों पर फ्रक्टोज के प्रभाव की बेहतर जानकारी मिल पाएगी। शोध में यह भी पाया गया कि फ्रक्टोज वजन को भी तेजी से बढ़ा सकता है। चलिए विस्तार से जानें क्या कहता है शोध।

इसे भी पढ़ें : केले का छिलका आजमाएं, छरहरी काया पाएं

फ्रक्‍टोस

 

क्या कहता है शोध

फ्रक्टोज फलों व सब्जियों में पाया जाता है और गैलेक्टोज दूध में पाया जाने वाला मीठापन है। शोध के दौरान शोधकर्ताओं ने दर्शाया कि कैसे डायबिटीज से पीड़ित चूहों में तेजी से फ्रुक्टोज का अवशोषण हुआ और कैसे फ्रक्टोज तेजी से लीवर में चला गया। लीवर में जाने के बाद फ्रक्टोज फैट को बढ़ाता है। शोधकर्ताओं की मानें तो डायबटीज के रोगियों में एक प्रकार का प्रोटीन मोटापा बढ़ाने के लिए जिम्मेदार होता है।

शोध में एक प्रकार के आणविक इंटरैक्शन को भी खोजा गया जो आंत की भीतरी परत पर उत्पन्न होता है। शोध के लेखक बताते हैं कि ये इंटरैक्शन किसी व्यक्ति द्वारा खाए गए मीठे खाद्य पदार्थों की मात्रा के हिसाब से विनियमित हो सकता है। शोधकर्ताओं के अनुसार, "हमने पाया कि डायबिटीज से पीड़ित चूहे ने बिना डायबिटीज से पीड़ित चूहे के मुकाबले अधिक फ्रक्टोज का अवशोषण किया। तो यदि यह बात मनुष्यों पर भी साबित हो जाए तो यह साबित हो जायेगा कि डायबटीज के रोगियों में मीठा खाने पर अधिक से अधिक फ्रक्टोज की मात्रा अवशोषित होती है और ये तेजी से मोटापा बढ़ने का कारण बनता है।"  

चिंता की बात ये है कि खाद्य पदार्थों को मीठा करने के लिए, फूड प्रोसेसिंग के दौरान और मीठे व्यंजनों के रूप में हम अतिरिक्त चीनी की मात्रा लेते हैं। इन दिनों कॉर्न सीरप के रूप में हाई फ्रक्टोज की उच्च मात्रा वाली अतिरिक्त शुगर का चलन बढ़ा है, जो विशुद्ध ग्लुकोज से उत्पन्न होती है। यह एन्जाइम के साथ प्रतिक्रिया करके ग्लुकोज को फ्रक्टोज में तब्दील करती है। इससे खाने में ग्लुकोज और फ्रक्टोज के मिश्रण के रूप में अतिरिक्त शुगर पहुंचती है। दूध, दही एवं डेयरी उत्पाद के रूप में मीठा हमारे लिए अच्छा होता है।

 

क्या खाएं, क्या न खाएं

फलों और सब्जियों में फ्रक्टोज की मात्रा बेहद कम होती है, इसलिए फल और सब्जियां आप बेझिझिक बिना किसी टेंशन के खा सकते हैं। बस अतिरक्त फ्रक्टोज के सेवन से बचने के लिए आपको कोल्ड ड्रिंक्स और फास्ट फूड या उन चीजों को खाने से परहेज करना होगा जिनमें मीठा अलग से मिलाया जाता है। ऐसे सभी पदार्थों में फ्रक्टोज की मात्रा अधिक होती है जोकि डायबिटीज के मरीजों के लिए नुकसानदायक होता है। लेकिन आप कोई भी फल बिना फ्रक्टोज के टेंशन के खा सकते हैं क्योंकि फलों में फ्रक्टोज की मात्रा बेहद कम होती है और उसमें काफी फाइबर होते हैं जोकि स्वास्थ्यवर्धक होते हैं।

 

Image Source : Getty

Read More Articles on Weight Loss in Hindi

Loading...
Is it Helpful Article?YES4 Votes 2347 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK