ज्वॉइंट फैमिली में रहकर करें ये 2 काम, पति के साथ सास भी होगी दीवानी

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Apr 11, 2018
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • लड़कियां शादी के बाद भी खुद तक ही सीमित रहती हैं। 
  • संयुक्‍त परिवार में चीजों को शेयर करने की कला होती है।
  • अकेले रहने वाले लोग 50 प्रतिशत संसाधनों को बर्बाद करते हैं। 

आजकल के समय में वैसे तो अधिकतर लोग सेप्रेट रहना ही पसंद करते हैं। लेकिन कई परिवार आज भी ऐसे हैं जो ज्वॉइंट फैमिली में रहते हैं। वर्तमान में पश्चिमी देशों में अकेले रहने वालों की संख्‍या बहुत अधिक है, शायद यही वजह है कि लगभग सारी बीमारियां वहीं पनपती हैं। भारत में अब भी संयुक्‍त परिवारों की संख्‍या बहुत अधिक है और वे एकल परिवारों की तुलना में कहीं अधिक सुखी और खुशहाल हैं। जब घर में इतने सारे लोग रहेंगे तो जाहिर सी बात है कि नोकझोंक होना और खुद को अच्छा साबित करने की प्रतिस्पर्धा काफी बढ़ जाती है। आज हम आपको शादीशुदा महिलाओं के लिए घर की फेवरेट बहु बनने की टिप्स बता रहे हैं। आज भी इन्हें ट्राई कर अपने पति के साथ साथ सास के दिल पर भी राज कर सकती हैं।

इसे भी पढ़ें : पत्नी करें ये 2 आसान काम, तो दूसरी लड़की की तरफ देखेगा भी नहीं पति

ये है सीक्रेट टिप्स 

आजकल के समय में लड़कियां शादी के बाद भी खुद तक ही सीमित रहती हैं। जो एकल परिवार के लिए तो ठीक है लेकिन संयुक्त परिवार में इस तरह का स्वभाव रिश्तों को कमजोर बनाता है। अगर आप एक संयुक्त परिवार की बहु हैं तो आपको अपने साथ साथ परिवार के अन्य लोगों का भी ध्यान रखने की जरूरत है। जैसे कि यदि किचन में आपकी सास या देवरानी—जेठानी खाना बना रही हैं तो आप आॅफिस से आकर उनका हाथ बटांने की पेशकश कर सकती हैं। जाहिर की बात है कि वो लोग आपको मना ही करेंगे लेकिन ऐसा करने पर आपकी परिवार के प्रति जिम्मेदार दिखेगी। इसके अलावा अगर आपको घर का काम नहीं आता है तो घर के सदस्यों के साथ वक्त मिलने पर बात करें, घर में होने वाले कामों, फैसलों पर अपनी राय दें, अपने सास—ससुर के स्वास्थ्स के प्रति जागरूक रहें। ये सारी चीजें न सिर्फ आपके पति को आकर्षित करेंगी बल्कि आपकी सास भी आपकी दीवानी हो जाएगी।

ज्वॉइंट फैमिली में रहने के अन्य लाभ

  • एक साथ रहने का सबसे अधिक फायदा यही होता है कि खाना खराब नहीं होता क्‍योंकि खाने वालों की संख्‍या अधिक होती है। एक इंस्‍टीट्यूट ने इसपर शोध भी किया और शोध के परिणाम में यह दिखा कि अकेले रहने वाले लोग अधिक खाना बर्बाद करते हैं जबकि संयुक्‍त रूप से रहने वाले खाने को कम बर्बाद करते हैं।
  • चीजों को शेयर करने की कला संयुक्‍त परिवार में अधिक देखने को मिलती है। चाहे खाना हो, रूम हो, खिलौने हो, कार हो, आदि एक साथ शेयर करने से अभाव का एहसास नहीं होता। क्‍योंकि आपके घर में हर वो चीज होती है जिसकी जरूरत आपको है। अगर वो आपके पास नहीं तो आपके परिवार के दूसरे सदस्‍यों के पास होती है और आप भी उसे प्रयोग कर सकते हैं।
  • एक शोध की मानें तो जो लोग अकेले रहते हैं वो 50 प्रतिशत संसाधनों को बर्बाद करते हैं। इसलिए एक साथ रहने का सबसे अधिक फायदा यह भी है कि आप संसाधनों को बर्बाद नहीं करते और आपकी सभी जरूरतें आसानी से पूरी हो जाती हैं। इसके अलावा जो लोग अकेले रहते हैं वो अधिक बिजली, पानी, गैस खर्च करते हैं। लेकिन साथ में रहने से आप इन जीजों को दूसरे के साथ बांटते हैं जिससे कि कम संसाधन में ही आपकी जरूरतें पूरी हो जाती हैं।
  • पैसे का अभाव हो गया तो तनाव होना लाजमी है, लेकिन अगर पैसे बच गये ऐसी समस्‍यायें भी नहीं होती हैं। मनी मैनेजमेंट और कम पैसे खर्च करने की कला संयुक्‍त परिवार में अधिक देखने को मिलती है। क्‍योंकि अगर आप अकेले रहते हैं तो कमरे का किराया, यात्रा खर्च, आदि पर आपके पैसे अधिक खर्च होते हैं। जबकि एक साथ रहने पर ऐसा नहीं होता है, क्‍योंकि उस जगह पर कई लोग होते हैं और आपस में खर्चे भी बांट लेते हैं, जिससे कम पैसे खर्च होते हैं।
  • अकेले रहने वालों को अधिक तनाव होता है, जबकि संयुक्‍त रूप से रहने वाले लोग अधिक खुशहाल रहते हैं। ए‍क साथ रहने का यह भी फायदा है कि आप हेल्‍दी और हैप्‍पी रहते हैं। क्‍योंकि आपके पास ऐसे लोग हैं जिनसे आप अपने दुख-दर्द बांट सकते हैं और अपने तनाव को खत्‍म कर सकते हैं। तो जनाब यूं ही नहीं कहा जाता 'संयुक्‍त परिवार, खुशहाली का आधार'।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Relationship In hindi

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES1300 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर