जूस पीते हैं तो ध्यान रखें ये बातें वरना फायदे से ज्यादा हो सकता है नुकसान

आमतौर पर जूस पीने की आदत को सेहतमंद माना जाता है लेकिन क्या सच में ऐसा है? जानिए विस्तार से।

Monika Agarwal
स्वस्थ आहारWritten by: Monika AgarwalPublished at: Oct 02, 2020Updated at: Oct 02, 2020
जूस पीते हैं तो ध्यान रखें ये बातें वरना फायदे से ज्यादा हो सकता है नुकसान

आमतौर पर हम एक्सरसाइज करने के बाद थका हुआ महसूस करते हैं। ऐसे में शरीर को एनर्जी प्रदान करने के लिए हम जल्दी से जूस पीते हैं जिससे तरोताजा महसूस होने लगता है। आप डाइट के अलावा फलों और सब्जियों के जूस पीना सेहतमंद मानते होंगे। कई लोग घर में ही जूसर से ताजे फलों और सब्जियों का जूस निकालकर पी लेते हैं तो कई लोग बाजार में मिलने वाले जूस केन अपने फ्रिज में लाकर रख लेते हैं और जरूरत के हिसाब से उनका इस्तेमाल करते रहते हैं।

फलों और सब्जियों के रस से बनने के कारण जूस को पोषण से भरपूर माना जाता है और ये समझा जाता है कि इन्हें पीने से कोई नुकसान नहीं पहुंचता। लेकिन एक्सपर्ट्स के मुताबिक ऐसा नहीं है। अगर आप किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं और कोई दवाईयां ले रहे हैं तो आपको जूस पीने से पहले सतर्कता बरतने की जरूरत है। क्योंकि ऐसा ना करने से आपकी सेहत पर खतरा मंडरा सकता है और कुछ साइड इफेक्ट्स भी झेलने पड़ सकता हैं जो कि निम्न प्रकार के हो सकते हैं।  

Drinking Juice

1. दवाई के साथ नुकसानदायक

अगर किसी बीमारी की दवाई ले रहे हैं तो ऐसी स्थिति में किसी भी फल या सब्जी का जूस पीने से पहले डॉक्टर से परामर्श लेना ना भूलें। जैसे कि अगर आप अंगूर का जूस पी रहे हैं और कोई दवाई भी खा रहे हैं तो हो सकता है कि आपका कोलेस्ट्रोल स्तर कम होने लगे। लिपिटर दवाई ब्लड प्रेशर कम करती है और अगर अंगूर का जूस पीया तो खून में दवाई का स्तर बढ़ जाएगा जिससे साइड इफेक्ट होने की संभावना बढ़ जाएगी। 

इसे भी पढ़ें: कैलरीज़ से भरी फ्रेंच फ्राइज़ हो सकती है नुकसानदायक, जानिए इसे हेल्दी तरीके से बनाने और खाने का तरीका

2. टाइप 2 डायबिटीज का रिस्क

2019 में आई एक स्टडी के मुताबिक, जो लोग फलों का जूस पीते हैं या मीठे ड्रिंक्स का सेवन करते हैं, उनमें टाइप 2 डायबिटीज की संभावना 16 प्रतिशत अधिक होती है। ऐसे में अगर आपको टाइप 2 डायबिटीज है तो जूस पीने के बजाए फल खाने को ज्यादा तवज्जो दें क्योंकि इसमें मौजूद फाइबर आपके शरीर पर कोई साइड इफेक्ट नहीं डालता।  इसके अलावा आप, पैकेटबंद और फ्लेवर्ड फ्रूट जूस आपकी सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है। 

Type 2 Diabetes

3.किडनी हो सकती है डैमेज 

फल और सब्जियां पोटेशियम का बेहतरीन स्त्रोत होती हैं। यह मिनरल ब्लड प्रेशर के रेगुलेशन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। वहीं किडनी शरीर में जरूरत से ज्यादा मौजूद पोटेशियम को बाहर निकालती है। अगर आपको किडनी की कोई समस्या है तो जूस पीने से शरीर में पोटेशियम और ज्यादा बढ़ता जाता है। जिससे हार्ट अटैक जैसे गंभीर परिणाम सामने आ सकते हैं। पोटेशियम वाले फल जैसे केला, अंगूर, एवोकाडो, कह्जुर, आम, गाजर, संतरा, अनार का जूस पीने से बचें। 

4. फाइबर की कमी से होगी परेशानी 

जब आप संतरे का जूस पीते हैं तो आपको विटामिन सी मिलता है लेकिन उतना नहीं जितना आपको उसे खाने से मिलेगा। ऐसा इसलिए क्योंकि जूस से पल्प और फाइबर निकल जाता है जो कि आपके कालोन को स्वस्थ रखने के लिए बेहद कारगर है। साथ ही दिल की बीमारियों के रिस्क, कोलेस्ट्रोल के लेवल को कम करने के साथ ब्लड शुगर के लेवल को कम करने में मददगार होता है ।ऐसे में केवल जूस के भरोसे ना रहें और फाइबर युक्त फल और सब्जियों को जरूर खाएं। इसके अलावा, यदि आप कब्‍ज से परेशान हैं, तो आप कब्‍ज से लड़ने के लिए कुछ होममेड जूस आजमा सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: ग्रीन टी पीने के हैं शौकीन, तो इन 4 समय पर ग्रीन टी पीना पड़ सकता है सेहत पर भारी

5. बढ़ सकता है वजन

फलों के रस में शक्कर और कैलोरी की मात्रा हो सकती है और अगर कैलोरी बर्न ना की जाए तो इससे वजन बढ़ने लगता है। ऐसे में अगर जूस पी रहे हैं तो हरी सब्जियों का पिएं, ये पीने में कड़वा जरूर लगेगा लेकिन फलों के जूस की शक्कर और कैलोरी की अपेक्षा ये ज्यादा फायदेमंद होंगे और वजन नहीं बढ़ेगा।

Read More Article On Healthy Diet In Hindi 

Disclaimer