Relationship Tips: वैवाहिक जीवन से जुड़ी ये धारणाएं कितनी सही कितनी गलत

दांपत्य जीवन से जुड़ी बातों को लेकर अब युवा पीढ़ी काफी जागरूक हो रही है। इसके लिए वे काउंटर की भी मदद ले रहे हैं। जानते हैं दांपत्य जीवन से जुड़े सच

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Nov 05, 2020Updated at: Nov 06, 2020
Relationship Tips: वैवाहिक जीवन से जुड़ी ये धारणाएं कितनी सही कितनी गलत

शादीशुदा जिंदगी में अनेक पहलुओं को समझना जरूरी होता है। इसके अंदर दांपत्य संबंध भी आता है। कई ऐसे कारण होते हैं जिससे इस संबंध में तनाव और समस्या पनपने लगती है। ऐसे में इस समस्या को सुलझाना भी आपका ही कर्तव्य है। स्थिति को गंभीर होने से पहले ही रोकना जरूरी है। आज हम इस लेख के माध्यम से आपको बताएंगे कि दांपत्य जीवन में संबंध से जुड़ी कुछ धारणाएं कितनी सही और कितनी गलत। पढ़ते हैं आगे...

 relatiionship

संबंध बनाने के लिए पार्टनर पर दबाव गलत

वैवाहिक संबंधों में जबरदस्ती कैसी। जब साथी समझदार है तो ऐसी स्थिति पैदा नहीं हो सकती। बता दें कि दबाव से इंटिमेसी नहीं बढ़ सकती है और ना ही संतुष्टि मिलती है। ऐसे में मानसिक स्थिति को समझना भी बेहद जरूरी है। अगर ऐसी स्थिति पैदा हो तो एक दूसरे को सहयोग दें।

रोमांटिक बॉन्डिंग का होना जरूरी

सीधे दबाव डालने के बजाय अपने साथी के साथ रोमांटिक बॉन्डिंग स्ट्रांग करें। एक्सपर्ट की मानें तो अगर थकान और तनाव में हैं आप तो ऐसे में संबंध बनाना अच्छा हो सकता है। अगर आप संतुष्टि चाहते हैं तो आसपास के माहौल को रोमांटिक बनाएं। इसके अलावा हैवी डिनर ना करें। साथ ही अपने पार्टनर को मसाज दें। ये थकान और तनाव को दूर करने का सबसे बेहतर तरीका है।

इसे भी पढ़ें : शादी के बाद दूर रहने के कारण आपके रिश्ते में भी आ रही है कड़वाहट, तो इस तरह अपने रिश्ते में लाएं खुशियां

गलत होती है इमोशनल ब्लैकमेलिंग

दांपत्य संबंधों का इस्तेमाल एक दूसरे को नियंत्रित करने के लिए नहीं किया जाता। अगर आप अपने साथी की किसी बात से रुष्ट हैं तो स्वभाविक है कि आप आगे बढ़ने से पहले संकोच करेंगे। ऐसे में खुद को और सामने वाले को थोड़ा समय दें। बातचीत से उलझन को सुलझाएं। इसके अलावा अपनी नाराजगी जाहिर करें। दांपत्य संबंध को हथियार के रूप में इस्तेमाल ना करें।

कंफर्ट जोन बनाएं

हर रिश्ते को आपसी समझदारी से आगे बढ़ाया जा सकता है। ऐसे में अपने साथी के कंफर्ट जोन का भी ध्यान रखें। वरना दांपत्य संबंध में सुखद अनुभव नहीं होगा। अपने पार्टनर की प्रक्रिया को भी समझें। आपके साथी की बॉडी लैंग्वेज को समझें। इससे आपको उसकी इच्छा या अनिच्छा के बारे में पता चलेगा।

इसे भी पढ़ें : ये 5 संकेत बताते हैं कि आपके हसबैंड और आपमें है खास बॉन्डिंग, अच्छी मैरीड लाइफ के लिए जरूरी हैं ये बातें

रिश्तों को वक्त दें

कई बार हम घर और कामकाज में इतने व्यस्त हो जाते हैं कि अपने साथी को समय देना भूल जाते हैं। ऐसे में दांपत्य रिश्ते पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इसका प्रभाव दांपत्य संबंध पर भी पड़ता है। ऐसी स्थिति पैदा हो तो तुरंत प्रक्रिया देने के बजाय थोड़ा सा वक्त दें और पार्टनर को सहज बनाएं।

दूसरों से तुलना करना गलत

आए दिन इस न्यूजपेपर में सेलिब्रिटी के दांपत्य रिश्ते के बारे में पढ़ते रहते हैं। लेकिन उससे अपनी निजी जिंदगी की तुलना करना गलत है। दांपत्य में सबसे महत्वपूर्ण है सुखद अनुभव। अगर आप सीखना ही चाहते हैं तो अपने अनुभवों के सहारे सीखें। किसी और से तुलना करने से संबंधों में तनाव पैदा होता है।

Read more articles on Marriage in Hindi

Disclaimer