इन संकेतों से लगाएं यूरिक एसिड के बढ़ते स्तर का पता और जानें किन तरीकों से करें इस पर कंट्रोल

शरीर में यूरिक एसिड प्‍यूरिन के टूटने से बनता है। इसकी ज्‍यादा मात्रा शरीर के लिए नुकसानदेह होती है। इसलिए यूरिक एसिड की मात्रा को नियंत्रित करना आवश्

सम्‍पादकीय विभाग
विविधWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Jul 16, 2014
इन संकेतों से लगाएं यूरिक एसिड के बढ़ते स्तर का पता और जानें किन तरीकों से करें इस पर कंट्रोल

यूरिक एसिड एक तरीके का एसिड होता है जो हमारी जीवनशैली से जुड़ा हुआ होता है। यह हमारे शरीर में खून के जरिए किडनी तक पहुंचता है। वैसे तो यूरिक एसिड हमारे शरीर से पेशाब के जरिए बाहर निकल जाता है। लेकिन कई बार ये नहीं निकल पाता है जो शरीर में धीरे-धीरे बढ़ने लगता है। जिसके कारण कई तरह की समस्या भी पैदा होती है। 

यूरिक एसिड अगर शरीर में ज्यादा मात्रा में बन जाता है तो ये गठिया जैसी गंभीर समस्या भी पैदा कर सकता है। इसलिए यूरिक एसिड की मात्रा को नियंत्रित करना बहुत जरूरी होता है। जिसके लिए हमे अपनी जीवनशैली और डाइट में काफी बदलाव करना पड़ता है। लेकिन कई लोगों इस बारे में जानकारी नहीं होती कि वो अपने शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा को कैसे नियंत्रित रखें। आइए हम आपको बताते हैं कि आप यूरिक एसिड बढ़ने के क्या लक्षण होते हैं और इसे कैसे नियंत्रित किया जा सकता है। 

uric acid

यूरिक एसिड बढ़ने के लक्षण 

कई मामलों में यूरिक एसिड बढ़ने के लक्षण आम समस्याओं की तरह ही होते हैं इसलिए इसे पहचाननें में काफी परेशानी होती है। लेकिन अगर आप सही तरीके से इसके लक्षणों को जान लेंगे तो आप इसका आसानी से पता लगा सकते हैं जिसके बाद आप इसको नियंत्रित कर सकते हैं। इसके मुख्य लक्षण हैं: 

  • पैरों में दर्द। 
  • जोड़ों में दर्द। 
  • एडियों में लगातार दर्द रहना। 
  • शरीर में सूजन पैदा होना। 
  • गांठ महसूस होना। 
  • इसके अलावा किसी को शुगर बढ़ने की शिकायक भी हो सकती है। 

इसे भी पढ़ें: वजन कम करना है और सेहतमंद रहना है तो ऐसा होना चाहिए आपका डाइट चार्ट

यूरिक एसिड कम करने के तरीके

ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पिएं

अगर आपको यूरिक एसिड के बढ़ने होने का अंदेशा होता है तो आप इसके लिए पानी ज्यादा पीना शुरू कर दें। पानी आपके शरीर में मौजूद यूरिक एसिड को पतला करने का काम करता है साथ ही इससे आपकी किड़नी भी सही तरीके से सक्रिय रहती है। ज्यादा मात्रा में पानी पीने से यूरिक एसिड पतला होकर आपके पेशाब के जरिए बाहर निकल जाता है। 

जैतून का तेल

आप पानी ज्यादा पीने के साथ ही जैतून के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। आप अपने रोजाना की डाइट में जैतून का तेल इस्तेमाल कर यूरिक एसिड को नियंत्रित कर सकते हैं। आपको बता दें कि जैतून के तेल में काफी मात्रा में विटमिन ई होता है, जो यूरिक एसिड के स्तर को कम करने में आपके लिए मददगार साबित होता है। 

सेब का सिरका 

सेब का सिरका आपके शरीर से यूरिक एसिड को कम करने में काफी फायदेमंद साबित होता है। इसमें काफी मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट तत्व और एंटीइंफ्लामेटरी तत्व पाए जाते हैं। नियमित रूप से इसका इस्तेमाल करने से आपके शरीर में यूरिक एसिड नियंत्रित रह सकता है। सेब का सिरका आपके खून में पीएच के स्तर को बढ़ा देता है जो यूरिक एसिड को कम करता है। 

इसे भी पढ़ें: जीएम डाइट फॉलो करें, हफ्ते में 3 से 5 किलो तक वजन कम करें

बेकिंग सोडा 

बेकिंग सोडा आपके यूरिक एसिड के स्तर को कम करता है। ये एसिड को ज्यादा घुलनशील बनाता है जिससे उसकी मात्रा कम हो जाती है। यूरिक एसिड आसानी से पतला होने के बाद आपकी शरीर से बाहर निकल जाता है। 

 Read more articles on Miscellaneous in Hindi

 
 
 
Disclaimer