क्या बार-बार प्राइवेट पार्ट्स छूता है आपका बच्चा? इन टिप्स से छुड़ाएं ये आदत

Parenting Tips : बच्चों के प्राइवेट पार्ट्स छूने की आदत से अगर आप परेशान हैं, तो इसे छुड़ाने के लिए कुछ आसान उपायों को फॉलो कर सकते हैं।

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Jul 21, 2022Updated at: Jul 21, 2022
क्या बार-बार प्राइवेट पार्ट्स छूता है आपका बच्चा? इन टिप्स से छुड़ाएं ये आदत

बच्चों को अच्छी परवरिश देना पेरेंट्स के लिए बहुत ही मुश्किल भरा काम होता है। छोटे बच्चे दूसरों के सामने कब कैसा व्यवहार कर दें, ये माता-पिता के समझ से भी परे होता है। कभी-कभी बच्चों के गलत व्यवहार की वजह से माता-पिता को दूसरों के सामने शर्मिंदगी का सामना करना पड़ता है। ऐसे में बच्चों को डांट देना पेरेंट्स की बड़ी गलती हो सकती है। इसलिए कोशिश करें कि अगर आपका बच्चा दूसरों के सामने कुछ गलत व्यवहार कर रहा है, तो उस समय खुद को कंट्रोल करें। तुरंत रिएक्ट करने के बजाय बाद में आप उनके उस व्यवहार को सुधारने की कोशिश करें। बच्चों के कई ऐसे व्यवहार हो सकते हैं, जो पब्लिक में गलत होते हैं, जैसे- प्राइवेट पार्ट्स टच करना। 

कुछ बच्चों को आपने देखा होगा कि वे अपना प्राइवेट पार्ट टच करने लगते हैं। उनका यह व्यवहार आपको या किसी बड़े व्यक्ति को अजीब लग सकता है, लेकिन बच्चों को इसमें कोई बुराई नजर नहीं आती है, क्योंकि वे इसे सामान्य ही समझते हैं। ऐसे में अगर आप उन्हें डांट देंगे, तो इसका असर उनके मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ सकता है। इसलिए कोशिश करें कि उन्हें अच्छे से समझाएं। 

बच्चों को प्राइवेट पार्ट्स छूने से कैसे रोकें?

शरीर के अंगों की दें जानकारी

एक उम्र के बाद बच्चे अपने शरीर के अंगों के बारे में अपने आप जान जाते हैं। लेकिन कम उम्र में उन्हें  उनके शरीर के बारे में कुछ भी नहीं पता होता है। ऐसे में छोटे बच्चों में अपने शरीर के अंगों को लेकर जिज्ञासा बनी रहती है। इसलिए 3-4 साल की उम्र के बाद बच्चों को शरीर के हर अंग के बारे में बताना और उसके कार्यों को समझाना जरूरी होता है। 

इसे भी पढ़ें - बच्चों में कैंसर होने पर दिखते हैं ये 5 शुरुआती लक्षण, न करें नजरअंदाज

कई माता-पिता बच्चों को प्राइवेट पार्ट्स का सही नाम तक नहीं बताते हैं।ऐसा करने के बजाय आपको उन्हें इसके नाम और इन अंगों के कार्यों को अच्छे से समझाना जरूरी होता है। 

व्यवहार को न कहें गलत

माता-पिता को यह समझने की जरूरत होती है कि जब बच्चा अपने शरीर के अंगों को छूना शुरू करता है, तो उसे क्या सही है  और क्या गलत, इसके बारे में कुछ भी पता नहीं होता है। ऐसे में अगर आप उन्हें गलत या गंदा कहेंगे, तो उनकी भावनाओं को चोट पहुंच सकती है। इसलिए इस स्थिति में बच्चों को डांटने के बजाय उन्हें समझाएं कि दूसरों के सामने या फिर सार्वजनिक जगहों पर प्राइवेट पार्ट्स को छूना अच्छी आदत नहीं मानी जाती है। उन्हें आप कुछ उदाहरण देकर समझा सकते हैं कि जिस तरह रास्ते पर टॉयलेट करना अच्छी बात नहीं होती है, उसी तरह प्राइवेट पार्ट्स को छूना सही नहीं होता है। 

किसी चीज में रखें बिजी

अगर आपको ऐसा लग रहा है कि आपके बच्चे को प्राइवेट पार्ट्स छूने की आदत हो गई है, तो इस आदत को छुड़ाने के लिए आप उनको थोड़ा बिजी रखें, ताकि उनका हाथ बिजी रहे। इसके लिए आप उन्हें कलर करना, म्यूजिक सुनना या फिर कोई अन्य एक्टिविटी सिखाएं। इससे उनका ध्यान भटकेगा और उनकी यह आदत धीरे-धीरे छूट सकती है। 

बच्चों की किसी भी आदत को छुड़ाने के लिए माता-पिता को थोड़ा धैर्य की जरूरत होती है। अगर आप उनके गलत व्यवहार से भड़क जाएंगे, तो इसका असर उनके ऊपर गलत पड़ सकता है। इसलिए कोशिश करें कि बच्चों को अच्छी आदतें प्यार और समझदारी से सिखाएं।

 
Disclaimer