नसों के टॉक्सिन को निकाले हल्दी और काली मिर्च का ये 1 मिश्रण

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jul 24, 2017
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • हल्दी से आपको अनगिनत स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं
  • हल्दी में कई एंटीमाइक्रोबियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं
  • काली मिर्च कैंसर से लड़ने में मददगार

जब भी व्यक्ति को चोट तो घरेलू नुस्खों में सबसे पहले हल्दी ही भरी जाती है, क्योंकि उसमें मौजूद एंटी-माइक्रोबियल गुण चोट को जल्द ठीक करने में मदद करते हैं। हल्दी और काली मिर्च को अगर आप मिक्स करके इस्तेमाल में ला रहे हैं, तो इससे आफको कई फायदे मिल सकते हैं, जिसमें सबसे ज्यादा तो आपको हड्डियों को मजबूती देगी और नसों में मौजूद टॉक्सिन को बाहर करने में मदद मिलेगी।

turmeric and black pepper

काली मिर्च और हल्दी से आपको अनगिनत स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं। हल्दी में कई एंटीमाइक्रोबियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। अगर स्वास्थ्य लाभ की बात की जाए, तो काली मिर्च भी पीछे नहीं है। इससे कैंसर से लड़ने, वजन कम करने, गैस की समस्या से राहत पाने और त्वचा को साफ रखने में मदद मिलती है।

इसे भी पढ़ेंः खाली पेट 1 लहसुन खाएं, सेहतमंद हो जाएं

हल्दी के सभी स्वास्थ्य पाने के लिए आपको इसका इस्तेमाल काली मिर्च के साथ करना चाहिए। हल्दी में पाए जाने वाले केमिकल तत्व क्युरक्यूमिन में चिकित्सीय गुण होते हैं। इसी तरह काली मिर्च में पाए जाने वाला तत्व पीपरिन इसके टेस्ट और हेल्थ बेनिफिट्स के लिए जिम्मेदार है। जब क्युरक्यूमिन को पीपरिन के साथ जोड़ा जाता है, तो आपको अधिक फायदे मिलते हैं।

क्या होता है हल्दी में काली मिर्च मिक्स करने से...

काली मिर्च में मौजूद पीपरिन आपके लीवर को क्युरक्यूमिन को हटाने से रोकता है, इससे पहले कि आपके शरीर को इसका पूरा लाभ मिले। यह पेट में क्युरक्यूमिन को रखने का समय बढ़ाकर मेटाबोलिज्म रेट को स्लो करता है। इसके अलावा यह एंजाइमों को बाधित करता है जो कि इसे जल्दी मेटाबोलाइज कर सकते हैं। ये शरीर को इसे पूरी तरह से अवशोषित करने में मदद करता है।

इसे भी पढ़ेंः नींबू के छिलके से चमकाएं जूते, जानें इसके 5 बेहतरीन फायदे

काली मिर्च से करें नसों में मौजूद टॉक्सिन को साफ

हल्दी में मौजूद पॉलीफेनोल क्युरक्यूमिन को ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करके तंत्रिकाओं की रक्षा के लिए जाना जाता है। लेकिन इसकी खराब बायोवेलएबिलिटी के कारण, हल्दी अपने आप यह काम नहीं कर सकती है। वैज्ञानिकों ने चूहों को न्यूरोटॉक्सिन 3-नाइट्रोप्रोपोनिक एसिड के साथ हल्दी और काली मिर्च का इंजेक्शन दिया। रिसर्च में पाया गया कि नसों पर विषाक्त पदार्थों के हानिकारक प्रभाव को कम करने में काली मिर्च द्वारा हल्दी का प्रभाव बढ़ाया गया था।

किस तरह इन दोनों का मिश्रण मदद करता है हड्डियों को बनाने में...

ऑस्टियोक्लास्ट हड्डी की कोशिकाएं हैं। यह हड्डी में ऊतकों को तोड़ती हैं और खून में मिनरल्स और कैल्शियम को जारी करती हैं। यह ऑस्टियोपोरोसिस जैसी समस्याएं पैदा कर सकता है। जर्नल ऑफ़ एन्डोडोंटिक्स में प्रकाशित एक अध्ययन से पता चला है कि काली मिर्च के साथ हल्दी का संयोजन ऑस्टियोक्लास्ट के गठन को रोकने में मदद करता है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Home Remedy Articles In Hindi

 

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES1038 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर