Fat To Fit: 128 kg के मोहनीश ने 7 महीने में इन दो डाइट प्लान को साथ मिलाकर कम किया 33 kg वजन, जानें रूटीन

24 साल के मोहनीश ने इन दो डाइट प्लान को साथ मिलाकर 7 महीने में कम किया 33 किलो वजन, जानें कैसे। 

 

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaUpdated at: Feb 18, 2020 11:11 IST
Fat To Fit: 128 kg के मोहनीश ने 7 महीने में इन दो डाइट प्लान को साथ मिलाकर कम किया 33 kg वजन, जानें रूटीन

वजन कम करने के लिए दुनियाभर में मौजूदा वक्त की दो सबसे ज्यादा मशहूर चीजें हैं इंटरमिटेंट फास्टिंग और कीटो डाइट। लेकिन बहुत कम लोग इस बारे में जानते हैं कि इन दोनों को वास्तव में साथ में लेने से आप अपने फिटनेस रूटीन को और बेहतर बना सकते हैं। 24 वर्षीय पर्सनल ट्रेनर और ऑनलाइन फिटनेस कोच मोहनीश राजेंद्र देवरुखर ने 7 महीने में अपना वजन 128 किलो से कम कर 95 किलो किया है। उन्होंने अपने एक्सरसाइज रूटीन के साथ-साथ इन दोनों डाइट प्लान को मिक्स किया और नतीजा आप सबके सामने है।

अपनी यादों को ताजा करते हुए मोहनीश ने एक वेबसाइट को बताया कि बचपन में वह एक क्रिकेट प्लेयर बनना चाहते थे लेकिन उन्हें चोट लग गई और उस चोट ने उन्हें फिट जीवनशैली जीने के लिए प्रेरित किया। मोहनीश का कहना है कि मुझे लगता है कि मेरी चोट ने मुझे फिटनेस की इस खूबसूरत दुनिया में लाने का काम किया। इसके साथ ही उन्होंने अपने वेट लॉस सफर की कहानी का भी जिक्र किया।

कैसे घटाया 33 किलो वजन

मोहनीश का कहना है कि जब मैंने अपनी वेट लॉस जर्नी शुरू की थी तब मेरा वजन 128 किलोग्राम था। बात करूं अपने पहले कदम की तो मुझे बॉडी ट्रांसफोर्मेशन के लिए इसी स्वीकारने की जरूरत थी। आपके लिए जरूरी है कि आप सबसे पहले अपने शरीर को स्वीकारें और उसके बाद उसे बदलने के लिए आगे बढ़ें। मैंने ऐसा ही किया और उसके बाद वजन कम करने की प्रक्रिया की शुरुआत की।

किस वेट लॉस प्लान से कम किया वजन

मोहनीश का कहना है कि उन्होंने जिम में बहुत सारा कार्डियो कर अपने वेट लॉस प्लान की शुरुआत की। उन्होंने बताया कि वह खाने के बहुत शौकीन थे और उनके लिए किसी एक डाइट के साथ चिपके रहना बहुत ही ज्यादा मुश्किल था। तब  उन्हें कीटो डाइट के बारे में पहली बार पता चला। उन्होंने बताया कि कीटो डाइट उनके लिए किसी चमत्कार से कम नहीं थी क्योंकि उन्हें मीट बहुत ज्यादा पसंद था और इस डाइट ने उन्हें लंबे वक्त तक इस डाइट प्लान के साथ चिपके रहने में मदद की।

क्या है कीटो डाइट

कीटो डाइट एक विशेष डाइट प्लान है, जिसमें ये सुनिश्चित किया जाता है कि आप जो फूड खा रहे हैं, उसमें फैट की मात्रा बहुत ज्यादा हो (करीब 70 फीसदी), सामान्य मात्रा में प्रोटीन हो (करीब 25 फीसदी) और कार्बोहाइड्रेट बहुत कम हो (करीब 5 फीसदी)।  इस डाइट का मुख्य उद्देशय आपके शरीर को कीटोसिस की स्थिति हासिल करने में मदद करना है। कीटोसिस की स्थिति में आपका शरीर निरंतर बहुत ज्यादा मात्रा में फैट बर्न करता है।

 
 
 
View this post on Instagram

If you squat and don't go deep enough too see yamraj coming you way ..... then do you even squat ����

A post shared by Mohanish Devrukhkar (@that_fatkid) onNov 20, 2019 at 3:54am PST

इस बारे में बताते हुए मोहनीश का कहना है कि कुछ वक्त तक कीटो लेने के बाद मैंने जिम में हर सप्ताह एक बार अच्छी मात्रा में कार्डियो और क्रॉस ट्रेनिंग सेशन के साथ वेट ट्रेनिंग पर ध्यान देना शुरू किया। मेरे रूटीन में इस नए बदलाव के साथ मैंने कीटो के साथ ही 16:8 इंटरमिटेंट फास्टिंग शुरू की।

क्या है इंटमिटेंट फास्टिंग

इंटरमिटेंट फास्टिंग खाना खाने की एक पद्धति है, जिसमें फास्टिंग यानी की उपवास रखने और भोजन करने के बीच चक्र बनाया जाता है। इसमें इस बात पर ज्यादा तवज्जों नहीं दी जाती कि आप क्या खा रहे हैं और क्या नहीं। इसमें आपके भोजन के बीच के अंतराल पर जोर दिया जाता है, जिसमें 12 से लेकर 20 घंटों का अंतर होता है।

कई इंटरमिटेंट फास्टिंग पैटर्न हैं जिनको आप फॉलो कर सकते हैं। इसमें पहली है 12:12 विधि (12 घंटों के लिए उपवास और अगले 12 घंटों के दौरान खाना), 5: 2 विधि (5 दिन नियमित रूप से खाएं और अगले 2 दिन उपवास रखें या बहुत कम खाएं), वॉरियर डाइट (20 घंटे के लिए उपवास और केवल शेष 4-घंटे के दौरान खाना) और  सबसे जरूरी 16: 8 विधि (16 घंटे के लिए उपवास और दिन के अगले 8 घंटों के दौरान भोजन करना)। 16: 8 डाइट प्लान को सबसे प्रभावी फास्टिंग डाइट प्लान माना जाता है।

कीटो और इंटरमिटेंट फास्टिंग को साथ में कैसे करें?

16:8 वाला डाइट प्लान फॉलो करें और केवल कीटो अनुकूल फूड ही लें। ये आपकी बॉडी को बहुत तेजी से कीटोसिस की स्थिति हासिल करने में मदद करेगा। 

बॉडी ट्रांसफोर्मेशन के बाद कैसे बनाएं रखें सही वजन

मोहनीश का कहना है कि मैं सही वजन बनाए रखने की कोशिश नहीं कर रहा हूं क्योंकि मेरे लिए ऐसा कुछ नहीं है। यह पूरी प्रक्रिया सिर्फ और सिर्फ सुधार है। जब बात फिटनेस की आती है तो आपको हमेशा सुधार की जरूरत होती है। मैंने 2016 में 33 किलो वजन कम किया था और तब से लेकर हर रोज में अपनी फिजिक में सुधार कर रहा हूं। 

वजन कम करने के लिए टिप्स

हमेशा फोकस रहें। प्रेरणा आपमें केवल चिंगारी भरने का काम करती है लेकिन समर्पण आपको फिटनेस की नई ऊंचाईयों पर लेकर जाता है। 

जितना संभव हो सके उतना जिम जाने का प्रयास करें और रास्ते से भटके नहीं। 

जिम में मदद मांगते हुए कभी भी डरें नहीं। लोगों से प्यार से मिलें।

सोर्स (GQ)

Read more articles on Exercise and Fitness in Hindi

Disclaimer