आंखों को स्वस्थ रखने के​ लिए वरदान हैं आंसू, होते हैं ये फायदे

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 15, 2017
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • आंखों के लिए मॉयस्चराइजर है आंसू।
  • आंखों को स्वस्थ बनाए रखने में इनकी अहम भूमिका होती है।
  • कभी-कभी आंखों में रुखापन आने लगता है।

आंसू को हम दुखों का पर्याय मानते हैं, पर आंखों की अच्छी सेहत के लिए आंसू भी बेहद जरूरी हैं। इसी की वजह से आंखों की कुदरती नमी बरकरार रहती है, पर आजकल लोगों की आंखों में रूखेपन की समस्या तेजी से बढ़ रही है। आधुनिक जीवनशैली ने जिन स्वास्थ्य समस्याओं को जन्म दिया है, ड्राई आई सिंड्रोम भी उन्हीं में से एक है। इसमें आंखों की नमी कम हो जाती है। सामान्य दृष्टि के लिए आंखों में नमी होना बहुत जरूरी है।

इसे भी पढ़ें: जब शरीर में दिखे ये 5 लक्षण तो कभी न करें नजरअंदाज

आंखों का मॉयस्चराइजर

आपको यह जानकर ताज्जुब होगा कि आंसू भी हमारी आंखों के लिए बेहद जरूरी हैं। आंखों में मौजूद लैक्रीमल ग्लैंड आंसू बनाने का काम करते हैं। दरअसल आंसू हमारी आंखों के लिए कुदरती मॉयस्चराइजर की तरह होते हैं। आंखों को स्वस्थ बनाए रखने में इनकी अहम भूमिका होती है। इसी वजह से आंखों की ऊपरी सतह नम रहती है और पलकें झपकाने पर उनको आराम मिलता है। आई बॉल्स के संचालन के साथ आंसू आंखों में मौजूद गंदगी हटाने का भी काम करते हैं।

इसी नमी की वजह से आई बॉल्स को ऑक्सीजन और अन्य पोषक तत्व मिलते हैं। आंसू में मौजूद एंजाइम आंखों को इंफेक्शन से भी बचाता है। आंखों से आंसू निकलना एक स्वाभाविक प्रक्रिया है। प्रतिदिन हमारी आंखों से आंसू निकलते रहते हैं और पलकों के भीतरी कोने से छन कर नाक में चले जाते हैं, लेकिन कभी-कभी आंखों में रुखापन आने लगता है।

क्या है वजह

- लंबे समय तक एसी में रहना
- कंप्यूटर पर लगातार काम करना
- लंबे अरसे से बुनाई-कढ़ाई जैसे बारीक काम करना
- कांटेक्ट लेंस का इस्तेमाल
- बदलते मौसम की एलर्जी
- प्रदूषण की वजह से फील्ड वर्क करने वाले लोगों को भी यह समस्या होती है।

बचाव एवं उपचार

- कंप्यूटर पर काम करते या पढ़ते समय हर एक घंटे के अंतराल पर दो मिनट के लिए अपनी आंखें बंद करें।
- अगर कॉन्टेक्ट लेंस का इस्तेमाल करती हैं तो उसे नियमित रूप से अच्छी तरह साफ करें। बेहतर यही होगा आप अच्छी क्वॉलिटी का डिस्पोजेबल कॉन्टेक्ट लेंस का इस्तेमाल करें।
- अपने मन से दवाओं का सेवन न करें क्योंकि कुछ दवाओं के साइड इफेक्ट से भी आंखों की नमी सूखने लगती है।
- अपने भोजन में ऐसी चीजों को शामिल करें, जिनमें एंटी ऑक्सीडेंट तत्व और विटमिन ए पर्याप्त मात्रा में मौजूद हों। इसके लिए संतरा, पपीता, आम, नीबू और टमाटर आदि का सेवन फायदेमंद होता है।
- ओमेगा-3 फैटी एसिड आंखों के लिए बहुत जरूरी है। मछली, अखरोट, बादाम और फ्लैक्ससीड में यह तत्व भरपूर मात्रा में पाया जाता है।
- घर से बाहर निकलते समय हमेशा अच्छी क्वॉलिटी का सनग्लास पहनें।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Mind & Body In Hindi

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES1902 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर