आंखों की देखभाल के लिए क्‍या करें और क्‍या न करें, जानें ये 10 बातें

कंप्यूटर, मोबाइल, टीवी के समय में आइए जानें आंखों को स्वस्थ और सलामत रखने के लिए क्या करना चाहिए।

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Apr 23, 2018
आंखों की देखभाल के लिए क्‍या करें और क्‍या न करें, जानें ये 10 बातें

स्‍वास्‍थ्‍य की देखभाल के साथ-साथ आंखों की देखभाल भी जरूरी है। इसके लिए आप समय-समय पर आई स्पेशलिस्ट से रूटीन चेकअप करवा सकते हो। आंखों के मामले में लापरवाही बरतना ठीक नहीं, जरा सी लापरवाही आंखों के लिए घातक हो सकती है। आंखों को लेकर आप हमेशा अलर्ट रहें, तभी अपनी आंखों को स्वस्थ और सुंदर बना सकती हैं। छोट़ी-छोटी बातों का ध्यान रखने मात्र से ही आप आपनी आंखों की देखभाल कर सकते हैं। आइए जानें आंखों को सलामत रखने के लिए क्या–क्या करना चाहिए।

आंखों की देखभाल के टिप्स

  • आज कंप्यूटर, मोबाइल, टीवी के समय में बच्चों  से लेकर बड़ा व्यक्ति तक इन आधुनिक तकनीकों में अपना समय जाया करता है। जाहिर सी बात है इसका असर आंखों पर भी पड़ेगा। ऐसे में आंखों को समय-समय पर आराम देना चाहिए।
  • आंखों को स्वस्थ रखने के लिए विटामिन, प्रोटीन, आयरनयुक्त खान-पान लेना चाहिए। इसके अलावा हरी सब्जियां और गाजर, मूली, टमाटर, खीरा भी खाना चाहिए।
  • फलों में सेब, संतरा, पपीता, आम, अमरूद, अनार जैसे फलों का चयन आपकी आंखों को भी सलामत रखेगा।
  • यदि आप 8 से 10 घंटे प्रतिदिन कंप्यूटर पर बैठते हैं तो अपनी आंखों को आराम देने के लिए हर आधे-एक घंटे बाद थोड़ी देर के लिए आंखें बंद करके बैठ जाएं या फिर कुछ देर टहलें। इससे आपको आराम भी मिलेगा।
  • आंखों से पानी आने का अर्थ है आपकी आंखों की मांसपेशियां कमजोर हैं, ऐसे में आपको आंखों की एक्सरसाइज करनी चाहिए।
  • यदि आंखों में बहुत ज्यादा तकलीफ या दर्द है तो तुरंत आई स्पेशलिस्ट से मिलना चाहिए जो आपको कुछ आई ड्राप्स‍ के साथ-साथ कुछ एक्सरसाइज भी करवाएंगे।
  • यदि आपकी आंखें कमजोर है तो आपको किसी एक केंद्र बिंदु को फोकस कर कुछ देर तक उसे देखना चाहिए या फिर पेन की नोंक पर फोकस करते हुए उसे बार-बार धीरे-धीरे आगे-पीछे करना चाहिए। इस एक्सरसाइज को दिन में कम से कम 3-4 बार करें। इससे आपकी आंखों की मसल्स मजबूत होंगी।
  • आंखों से कम दिखाई देने पर आपको आई स्पेशलिस्ट की सलाह पर नजर का चश्मा लगाना चाहिए या फिर आप लेंस का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।
  • सुबह घास पर दस मिनट तक नंगे पैर टहलें।
  • अपने मुँह में पानीभर लें और फिर ठंडे पानी की बूंदों से आँखों पर छींटे मारें । ऐसा सुबह 3-5 बार करें।
  • आँखों की कोई भी एक्सरसाइज़ करते समय अपनी आँखों पर ज़ोर न डालें। ध्यान रखें आपके चेहरे की मांसपेशियाँ तनावगस्त नहीं होनी चाहिए , शांत होनी चाहिए।
  • रोशनी से सीधे संपर्क में आने से बचें। अपनी आंखों को धूप से बचाने के लिए सनग्लासेज का इस्तेमाल करें।
  • अपने लिविंग रूम में बहुत ज्यादा रोशनी या बहुत ज्यादा अंधेरा न रखें।
  • दिन में अपनी आँखों को कम से कम दो या तीन बार धोयें।
  • अपनी आँखों को धूल और धूएँ से बचायें।
  • एलसीडी मॉनिटर्स का प्रयोग करें। इनसे आँखों पर जोर कम पड़ता है।
  • अपने कंप्यूटर स्क्रीन को हाथ भर के फासले पर रखें, अपनी आँखों से या अपनी निगाह के स्तर के बिल्कुल नीचे।
  • कंप्यूटर पर टाइपिंग करते समय फोंट साइज को बढ़ा लें।
  • साल में एक बार नेत्र रोग विशेषज्ञ से आँखों की जांच करानी चाहिए।
  • आँखों की बीमारी होने पर स्वयं चिकित्सा न करें।
  • आँखों में काजल, सुरमे का इस्तेमाल न करें।
  • आंखों में कचरा, धूल का कण आदि पड़ने पर आँख को मलना नहीं चाहिए।
ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप
Read More Articles On Eye Care In Hindi 
Disclaimer