ओमेगा -3, फैटी एसिड, विटामिन डी और विटामिन बी 2 से भरपूर मछली खाना मांसहारी लोगों को काफी पसंद होता है।

"/>

क्या ज्यादा मछली खाने से स्किन कैंसर का खतरा बढ़ता है? जानें एक्सपर्ट की राय

ओमेगा -3, फैटी एसिड, विटामिन डी और विटामिन बी 2 से भरपूर मछली खाना मांसहारी लोगों को काफी पसंद होता है।

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasPublished at: Jul 03, 2022Updated at: Jul 03, 2022
क्या ज्यादा मछली खाने से स्किन कैंसर का खतरा बढ़ता है? जानें एक्सपर्ट की राय

ये बात ज्यादातर लोग जानते हैं कि मछली खाना स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है। ओमेगा -3, फैटी एसिड, विटामिन डी और विटामिन बी 2 से भरपूर मछली खाने की सलाह डॉक्टर भी देते हैं। लेकिन अमेरिका की ब्राउन यूनिवर्सिटी द्वारा की गई एनआईएच-एएआरपी हाइट और हेल्थ स्टडी  (NIH-AARP Diet and Health Study) के मुताबिक मछली का सेवन करने से स्किन कैंसर का खतरा बढ़ सकता है। 4 लाख 91 हजार 367 लोगों पर हुई इस स्टडी में यह बात सामने आई है कि ज्यादा मछली खाने वाले लोगों की स्किन की बाहरी परत में असामान्य कोशिकाओं के विकास का खतरा बढ़ जाता है। शोधकर्ताओं ने इन असामान्य कोशिकाओं को मेलेनोमा या स्वस्थानी मेलेनोमा (प्री कैंसर का एक रूप) का नाम दिया है। शोधकर्ताओं का कहना है कि ये कॉम स्किन कैंसर का एक लक्षण है। इस रिसर्च के सामने आने के बाद सवाल उठने लगने लगे हैं कि क्या मछली का सेवन करने से स्किन कैंसर का खतरा बढ़ जाता है?

ऑन्कोलॉजी (कैंसर स्पेशलिस्ट) डॉक्टर नीति रायजादा का कहना है कि मछली खाने से हर इंसान में मेलेनोमा का विकास हो इसका ठोस सबूत नहीं है। मछली का सेवन करने से स्किन कैंसर का खतरा बढ़ सकता है यह वातावरण, मौसम, मछली का टाइप और पकाने के तरीके पर निर्भर करता है।

डॉक्टरों का कहना है कि स्टीम मछली खाना सेहत के लिए फायदेमंद हो सकता है, लेकिन तली हुई मछली खाने से स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। तेल में मछली को फ्राई करने से ओमेगा -3 फैटी एसिड की मात्रा कम हो जाती है। ऐसे में संभव है कि मछली का सेवन प्रतिदिन करना नुकसानदायक साबित हो सकता है। डॉक्टरों का यह भी कहना है कि सप्ताह में 1 बार मछली सेहत के लिए अच्छी होती है।

 

मछली खाने के नुकसान (Side Effect of Fish)

  • मछली एक सी फूड है इसलिए कई बार इसको खाने से खुजली, रैश और एलर्जी जैसी प्रॉब्लम हो सकती है।
  • नियमित तौर पर मछली का सेवन करने से यह शरीर में पीसीबी (Primary Biliary Cholangitis) की मात्रा को बढ़ाता है। पीसीबी लेवल बढ़ने ने यह दिमाग पर बुरा असर डालता है। कई बार इस कारण भूलने की बीमारी का खतरा भी हो सकता है।
  • मछली बेशक एक सी-फूड हो, लेकिन इसकी तासीर बहुत गर्म होती है। अगर ज्यादा मात्रा में इसका सेवन किया जाए तो यह स्किन प्रॉब्लम होने का खतरा हो सकता है
  • गर्भवती महिलाओं को भी ज्यादा मात्रा मछली का सेवन न करने की सलाह दी जाती है। अगर एक गर्भवती महिला अधिक मात्रा में मछली का सेवन करती है तो इससे गर्भपात होने का खतरा हो सकता है। 

अगर आप मछली का सेवन कर रहे हैं तो इसकी एक निश्चित मात्रा ही खाएं। विशेषज्ञ सप्ताह में 1 बार मछली का सेवन करने सलाह देते हैं। अगर आप सप्ताह में 1 दिन से ज्यादा मछली का सेवन करते हैं तो इसके लिए डॉक्टर से सलाह लें।

Disclaimer