मन की अशांति का कारण बन सकता है सुबह उठते ही फोन चेक करना, जानें क्‍यों जरूरी है इस आदत को छोड़ना

क्‍या आप भी सुबह उठकर पहला काम फोन देखने से शुरू करते हैं। अगर हां, तो यह आदत तुरंत छोड़ दें, यह आपके मन को अशांत कर सकता है। 

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtPublished at: Nov 15, 2019Updated at: Nov 15, 2019
मन की अशांति का कारण बन सकता है सुबह उठते ही फोन चेक करना, जानें क्‍यों जरूरी है इस आदत को छोड़ना

अधिकतर लोगों को आपने सुबह आंख खुलते ही सबसे पहला काम फोन चेक करते हुए देख होगा। लेकिन आपको क्‍या लगता है कि यह आदत सही है? इसका जवाब जरूर तलाशने की कोशिश करें। क्‍योंकि देखा जाता है कि अधिकतर लोग ऐसे हैं, जो सुबह उठते ही पहला काम फोन को स्‍क्रॉल करते हुए व्हाट्सएप मैसेज, ईमेल और इंस्टाग्राम व फेसबुक अपडेट देखते हैं। आप अकेले नहीं हैं, बहुत सारे लोग सुबह के अखबार की जगह अपने स्मार्टफोन को स्‍क्रॉल करते हुए चाय की चुष्‍की लेते हैं और दिन की शुरूआत करते हैं। 

सुबह उठते ही फोन चैक करने को लेकर कुछ अध्‍ययन भी हुए हैं, जिसमें आईडीसी द्वारा किए गए एक अध्ययन के अनुसार, लगभग 80 प्रतिशत स्मार्टफोन उपयोगकर्ता सबसे पहला काम अपने फोन से शुरू करते हैं। हां, जागने के पहले 15 मिनट के भीतर, 5 में से 4 लोग अपने फोन की जांच करते हैं। लेकिन आपका ऐसा करना आपकी सेहत को प्रभावित कर सकता है। इसका सीधा-सीध असर आपके दिमाग पर पड़ता है। आइए जानते हैं क्‍या होता है, जब आप सबसे पहले उठकर फोन चैक करते हैं। 

wake_up_With_Phone

मन की शांति को करता है भंग 

यदि आप बिस्तर से बाहर निकलने से पहले ही अपने फोन को चेक करना शुरू काते हैं, तो यह वास्तव में आपके दिन की शुरुआत से पहले ही आपके मन की शांति को बाधित करता है। कभी इसके बारे में सोचकर देखिए। हम आपको बताते है कैसे? जब आप अपने दिन की शुरुआत अपने फोन को स्क्रॉल के साथ करते हैं, तो आप याद करते हैं कि आपने कल क्या किया और आज आपको क्‍या-क्‍या करना है अन्‍य कई चीजें, जिससे कि यह तनाव और चिंता को ट्रिगर कर सकता है। काम के ईमेल, टू-डू लिस्ट, कई रिमाइंडर और यहां तक कि उन लोगों के इंस्टाग्राम पोस्ट, जो हमेशा अपने घूमने फिरने को लेकर पोस्‍ट शेयर करते हैं, इससे आप दिन शुरू होने से पहले ही आपको थका सकते हैं।

चिड़चिड़ापन और गलत खानपान की आदतें 

इसके अलावा, यह FOMO यानि कि कहीं गुम हो जाने का डर, की भावना को भी ट्रिगर कर सकता है। कुछ लोग छुट्टियों पर जा रहे हैं और अपना सर्वश्रेष्ठ जीवन जी रहे हैं, जबकि आप मुश्किल से काम करने के लिए जद्दोजहद में लगे हैं। इससे आपका समय बर्बाद होने के साथ-साथ, आप क्रोधी, थके हुए और चिड़चिड़े हो जाते हैं। इतना ही नहीं यह आपके अस्वास्थ्यकर भोजन विकल्प बनाने की अधिक संभावना पैदा करता है। 

ध्‍यान बंटना और काम को प्राथमिकता न दे पाना 

आपके फोन पर जैसे ही स्विच करते हैं, आपके रास्ते में आने वाली जानकारी, मैसेज आदि से आपका दिमाग चकरा जाता है। परिणामस्वरूप, जो जरूरी है आप उस पर ध्यान केंद्रित नहीं कर पाते और इसके बजाय आप उन अन्‍य चीजों के जवाब देना शुरू करते हैं। नतीजतन, आपकी प्रोडक्टिविटी हिट हो जाती है और आपका ध्यान बंट जाता है।

जरूरी सावधानियां 

  • आपको फोन आपको खुशी देने के साथ-साथ ढेंरों टेंशन भी देता है, इसलिए सुबह उठते ही फोन को स्‍क्रॉल करने के बजाय एक ग्‍लास गर्म पानी पिएं। 
  • सुबह का समय मेडिटेशन में लगाएं, जो आपके तनाव को दूर करेगा न कि फोन पर समय बिताएं, जो आपके तनाव को बढ़ाने के लिए जिम्‍मेदार है। 
  • अपने परिवार के साथ समय बिताएं और खुद को एक कप चाय या कॉफी ऑफर करें। 
  • फोन को सोने से पहले करें साइलेंट और रखें खुद से दूर। 

Read More Article On Mind and Body In Hindi 

Disclaimer