बच्‍चों में सामान्‍य स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍या

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 06, 2012
Quick Bites

  • बच्चों की स्वास्‍थ्‍य समस्याएं नजरअंदाज ना करें।
  • आपके स्वास्थ्य का भी बच्चे पर पड़ेगा बुरा असर।
  • 2.1 मिलियन बच्चे 5 वर्ष की आयु तक मर जाते हैं।
  • मरने का कारण कैंसर, अस्थमा, डायरिया, प्रमुख हैं।

आजकल की भागदौड भरी जिंदगी में लोगों के पास खुद के लिए वक्त नहीं हैं और ऐसे में बच्चे की जिम्मेदारी हो तो माता-पिता के लिए उसके स्वास्थय को लेकर सजग रहना बहुत जरूरी होता है। मौसम बदलने के साथ अगर आप स्वास्थ्‍य का ध्यान नहीं रखेंगे तो बीमार हो सकते हैं और इसका सबसे बुरा असर आपके बच्चे पर पडेगा इसलिए सबसे ज्या्दा ध्यान बच्चों का रखना चाहिए। विश्वे बैंक के अनुमान के मुताबिक भारत दुनिया का दूसरा ऐसा देश हैं जहां पर बच्चे कुपोषण और बीमारी से जूछ रहे हैं। इसमें से बच्चों में कुछ बीमारियां सामान्य और कुछ असामान्य होती हें। यूनाइटेड नेशन के एक अनुमान के मुताबिक भारत में 2.1 मिलियन बच्चे 5 वर्ष होने से पहले बीमारी से मर जाते हें। इसमें से कैंसर, अस्थमा, डायरिया, मलेरिया, निमोनिया आदि बीमारियां प्रमुख कारण हैं।

doctor checking child in hindi

मोबाइल फोन से रखें दूर

मोबाइल फोन का इस्तेमाल करने वाले लोगों की संख्या दिन-प्रतदिन बढती जा रही है और हर घर में एक से ज्यादा मोबाइल फोन का प्रयोग आम हो गया है। इलेक्टोमैग्‍नेटिक बायोलॉजी एंड मेडिसिन पत्रिका के शोध के अनुसार बच्चों का शरीर बडों की तुलना में रेडिएशन को आसानी से ग्रहण करता है। इसलिए बच्चों को मोबाइल फोन से दूर रखें। मोबाइल फोन की तरंगे दिमाग के आसपास ज्यादातर होती हैं जो बच्चे के शरीर के उतकां में आसाना से आब्जर्व हो जाती है जिससे ब्रेन कैंसर होने का खतरा बढ जाता है।

 

खान-पान का रखें ध्यान

फास्ट फूड को देखकर सबसे ज्यायदा बच्चों का जी मचलता है जो कि बच्चों के लिए हारिकारक होता है। छोटे बच्चों के लिए अगर हो सके तो डॉक्टर से सलाह लेकर ही खाने का शिडयूल तय करें। बच्चों को खाना खिलाने से पहले अपना हाथ अच्छी तरह से धो लें। 

 

मौसम का रखें ख्याल

बदलता मौसम बडे लोगों के लिए अक्सर खतरनाक हो जाता है तो इससे बच्चे कैसे बच सकते हैं। हर मौसम में नई-नई बीमारियां पैदा होती हैं। इसलिए बदलते मौसम में बच्चों का खास ख्याल रखें। बेमौसम की बारिश से भी बच्चों को दूर रखें इससे उनको फोडे-फुंसियां हो सकती हैं। सर्दी-जुकाम बच्चों को आसानी से हो सकता है।

 

टीकें लगवाएं

बच्चों को बीमारियों से दूर रखने का सबसे आसान और किफायती तरीका है टीका। इसलिए बच्चों को समय-समय पर पोलियो, हेपेटाइटिस ए और बी, चिकेनपॉक्सक आदि के टीके लगवाएं।

 

लोगों से रखें दूर

बच्चों में ज्यादातर इन्फेक्शन बाहरी लोगों से संपर्क में आने से फैलता है। इसलिए अपने बच्चे को कोशि‍श करें की घर में आए हुए लोगों से दूर रखें। अगर को बीमार व्यक्ति आपके घर में आ गया है तो खासतौर से उसे बच्चे से दूर रखें जिससे उसका इन्फेक्शन बच्चे में न फैले।

 

इस लेख से संबंधित किसी प्रकार के सवाल या सुझाव के लिए आप यहां पोस्‍ट/कमेंट कर सकते हैं।

Image Source : Getty

Read more articles on Parenting in Hindi

Loading...
Is it Helpful Article?YES27 Votes 18753 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK