दस्त (डायरिया) और पेट की गड़बड़ी को आसानी से दूर कर देगी BRAT डाइट, जानें क्या है ये

पेट में होने वाली गड़बड़ी जैसे- दस्त, उल्टी, पेचिश, पेट दर्द आदि की समस्या होने पर BRAT डाइट से जल्दी आराम मिल सकता है।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Jan 28, 2020Updated at: Jan 28, 2020
दस्त (डायरिया) और पेट की गड़बड़ी को आसानी से दूर कर देगी BRAT डाइट, जानें क्या है ये

पेट की गड़बड़ी आपको किसी भी मौसम में परेशान कर सकती है। आमतौर पर मौसम बदलने पर या बरसात के दिनों में पेट सबसे ज्यादा खराब होता है। पेट खराब होने के कारण बार-बार दस्त या पेचिश होती है और लगातार पेट दर्द होता है। ये समस्याएं तो बहुत सामान्य हैं, मगर कई बार जल्दी-जल्दी दस्त के कारण शरीर में पानी की कमी हो जाती है और स्थिति खतरनाक हो सकती है। दस्त या डायरिया को नजरअंदाज करना खतरनाक हो सकता है। इन लक्षणों के दिखने पर आपको डॉक्टर से तो संपर्क करना ही चाहिए। इसके साथ ही आप एक खास डाइट अपनाकर भी पेट की गड़बड़ी को जल्दी ठीक कर सकते हैं। इस डाइट को BRAT डाइट कहते हैं।

brat-diet

क्या है ब्रैट डाइट (What is the BRAT diet?)

BRAT एक तरह का एक्रोनिम शब्द है, जिसका अर्थ इस प्रकार है-

  • B- Banana (केला)
  • R- Rice (चावल)
  • A- Apple sauce (सेब से बना सॉस)
  • T- Toast (टोस्ट)

इन सभी फूड्स को पचाना आसान होता है। इसलिए इन्हें खाने पर आपके पाचनतंत्र पर बोझ नहीं पड़ता है और इम्यूनिटी बढ़ती है, जिससे दस्त, मतली, उल्टी, पेट दर्द जैसे लक्षण जल्द ठीक हो जाते हैं।

इसे भी पढ़ें: पेट दर्द हो तो कभी न खाएं ये 8 चीजें, बढ़ सकती है आपकी परेशानी

क्यों फायदेमंद है BRAT डाइट

मेडिकल न्यूज टुडे के अनुसार BRAT डाइट में बताई गई चीजों के सेवन से पेट की गड़बड़ियां सही हो जाती हैं, इसके 3 कारण हैं-

  • मतली की समस्या होती है कम- BRAT डाइट में शामिल चीजों में खुश्बू तेज नहीं होती है, इसलिए ये उल्टी और मतली की समस्या में फायदेमंद होती हैं। आमतौर पर जब पेट का इंफेक्शन होता है, तो खुश्बूदार चीजें खाने से ही मतली होती है।
  • पचने में आसानी होती है- BRAT डाइट में बताई गए फूड्स बहुत आसानी से पच जाते हैं क्योंकि इनमें प्रोटीन और फैट दोनों ही कम होता है। यही कारण है कि ये पाचनतंत्र पर जोर नहीं डालते हैं और पेट दर्द की समस्या भी नहीं होती है।
  • दस्त होते हैं कंट्रोल- BRAT डाइट में फाइबर और स्टार्च कम होता है, इसलिए ये आपके मल को कड़ा बनाते हैं और पतले दस्त की समस्या धीरे-धीरे कम हो जाती है।

BRAT डाइट में सावधानियां

  • अगर किसी व्यक्ति को बहुत ज्यादा उल्टियां हो रही हैं, तो उसे ठोस आहार के बजाय लिक्विड आहार देना चाहिए और जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।
  • लगातार उल्टियां होने के मामले में एलेक्ट्रोलाइट्स वाले पेय जैसे ओआरएस, इलेक्ट्रॉल पाउडर आदि पीते रहना चाहिए, जिससे शरीर में पानी की कमी न हो जाए।
  • अगर डॉक्टर ने आपको कोई विशेष डाइट बताई है, तो आपको उसे ही फॉलो करना चाहिए।
  • BRAT को अपने रोजाना की डाइट में नहीं शामिल कर सकते हैं क्योंकि ये डाइट आपको सभी न्यूट्रिएंट्स नहीं देती है। इसलिए बीमारी के समय ही इसका सेवन करें। बाकी दिनों में आप अपनी नॉर्मल डाइट ले सकते हैं।
  • 24 घंटे से ज्यादा देर तक दस्त और उल्टी की समस्या को बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें। ये बहुत अधिक घातक और कई बार जानलेवा भी हो सकता है।

Read more articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer