Board Exams Preparation: बोर्ड परीक्षाओं में अच्छी तैयारी के लिए ऐसे बनाएं स्टडी प्लान, नहीं होंगे बोर

Board Exam 2020 Preparation: बोर्ड परीक्षाओं से पहले इस तरह बनाएंगे स्टडी प्लान, तो पढ़ाई से नहीं होंगे बोर और मिलेगी सफलता।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Feb 05, 2020
Board Exams Preparation: बोर्ड परीक्षाओं में अच्छी तैयारी के लिए ऐसे बनाएं स्टडी प्लान, नहीं होंगे बोर

बोर्ड परीक्षाएं शुरू होने वाली हैं और छात्र इन दिनों परीक्षा की तैयारियों में व्यस्त हैं। बोर्ड एग्जाम से पहले सभी को इस बात की टेंशन रहती है कि कोर्स रिवाइज कैसे करें और पढ़ाई में मन कैसे लगाएं। इसके लिए आप टाइम टेबल और स्टडी प्लान भी बनाते हैं मगर सप्ताह भर से ज्यादा इसे फॉलो नहीं कर पाते हैं। इसका कारण यह है कि अक्सर स्टडी प्लान बनाते समय आप कुछ जरूरी बातों को भूल जाते हैं। ध्यान दें कि सर्दियां जा चुकी हैं और वसंत आ गया है। पढ़ाई करने के लिए ये मौसम बेस्ट है क्योंकि इस मौसम में न तो इतनी ठंड होती है कि आप दिनभर रजाई में घुसे रहें और न ही इतनी गर्मी होती है कि पसीना आपको परेशान करे। धूप भी इस समय नर्म होती है। इसलिए हम आपको बता रहे हैं बोर्ड परीक्षाओं में सफलता के लिए स्टडी प्लान बनाने का आसान तरीका, जिससे कि आप बिना बोर हुए परीक्षा की तैयारी भी कर पाएं और आपको ज्यादा तनाव भी न लेना पड़े।

सिलेबस तय करें कि पढ़ना क्या है

जब भी आप पढ़ाई के लिए टाइम टेबल बना रहे हैं, तो सबसे पहले हर सब्जेक्ट का सिलेबस तय कर लें और एक नोटबुक में इसे लिख लें। इससे आपको इस बात का अंदाजा हो जाएगा कि किस विषय को कितना समय देना और किसमें आपको अतिरिक्त मेहनत की जरूरत पड़ने वाली है। सिलेबस को लिखकर रखने से एक अन्य फायदा यह है कि आप जैसे-जैसे सिलेबस कवर करते जाएं, उन्हें लिस्ट में काटते जाएं। इससे आपको लक्ष्य कम मुश्किल लगेगा और पढ़ाई में मजा भी आएगा।

इसे भी पढ़ें: बोर्ड रिजल्ट या परीक्षा से पहले बच्चे कैसे रहें तनाव से दूर? जानें एक्सपर्ट टिप्स

अपनी क्षमता के अनुसार बनाएं प्लान

अपनी कमजोरी और मजबूती को आपसे बेहतर कोई नहीं जानता है। आप अपने रोजाना की आदतों और रूटीन के अनुसार अपने पढ़ाई के घंटे स्वयं तय करें। जो विषय आपको आसान लगते हैं, उन्हें अपेक्षाकृत कम समय दें और जो कठिन लगते हैं, उन्हें ज्यादा समय दें। अगर आप कठिन विषयों को आखिरी समय के लिए छोड़ देंगे, तो डाउट होने पर टीचर या सीनियर से पूछने का समय नहीं मिलेगा। स्टडी प्लान बनाते समय इस बात का ध्यान रखें कि ऐसा शेड्यूल न बनाएं, जो आपके लिए ही फॉलो करना भारी हो।

मस्ती के लिए भी निकालें समय

स्टडी प्लान का मतलब यह नहीं है कि आप दिन के 18 घंटे पढ़ते ही रहें। ज्यादा तनाव लेकर पढ़ेंगे, तो आपको कुछ समझ भी नहीं आएगा और आपके लिए पढ़ाई बोझ भी हो जाएगी। इसलिए जब भी स्टडी प्लान बनाएं तो इस बात का ध्यान रखें कि आप हर 2 घंटे के अंतराल पर 10-15 मिनट का ब्रेक लें। इसके अलावा रोजाना थोड़ा समय फैमिली, दोस्तों और करीबी लोगों से बातचीत के लिए या बाहर जाकर मस्ती करने के लिए भी तय करें। इससे आप स्टडी प्लान फॉलो करते हुए बोर नहीं होंगे।

इसे भी पढ़ें: बच्चों में तनाव और मानसिक परेशानियों को दूर करते हैं ये आसान उपाय

टाइम टेबल को प्रिंट करके चिपकाएं

अपने पढ़ने के टाइम टेबल यानी स्टडी प्लान को नोटबुक में लिखकर रख लेने से आप जल्द ही इसे भूल जाएंगे और आपका जोश खत्म हो जाएगा। इसलिए जरूरी है कि स्टडी प्लान प्रिंट करके आप ऐसी जगह पर लगा लें, जहां से इस पर आपकी नजर बनी रहे। नजर में रखने से आपके लिए शेड्यूल फॉलो करना आसान होगा।

थोड़ा एक्सरसाइज या ध्यान करें

साल भर भले ही आपने एक्सरसाइज या ध्यान करने के लिए समय नहीं निकाला हो, मगर परीक्षा से पहले जब आप सामान्य से ज्यादा समय तक पढ़ाई करते हैं, तो आपके लिए एक्सरसाइज या ध्यान करना जरूरी हो जाता है। ध्यान और एक्सरसाइज से आपकी एकाग्रता बढ़ेगी और याददाश्त तेज होगी। इसके अलावा ये आपके तनाव और चिंता को कम करेगा, जिससे आपका मस्तिष्क ज्यादा बेहतर तरीके से सोच-समझ पाएगा।

Read more articles on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer