ये 6 संकेत हैं ब्लड कैंसर (खून का कैंसर) के शुरुआती लक्षण, जानें कितना खतरनाक है ये रोग

ब्लड कैंसर (खून का कैंसर) एक खतरनाक रोग है लेकिन इसके शुरुआती लक्षण बेहद सामान्य होते हैं। इन लक्षणों को जानकर बीमारी को समय रहते पहचाना जा सकता है।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavUpdated at: Feb 09, 2021 18:47 IST
ये 6 संकेत हैं ब्लड कैंसर (खून का कैंसर) के शुरुआती लक्षण, जानें कितना खतरनाक है ये रोग

खून हमारे शरीर का कितना महत्वपूर्ण अवयव है, ये आप जानते हैं। हमारे शरीर के सभी अंगों तक जरूरी पोषक तत्व, ऑक्सीजन आदि खून के माध्यम से ही पहुंचते हैं। अगर किसी व्यक्ति के खून में कोई बीमारी हो जाए, तो परेशानी काफी बड़ी हो सकती है। ब्लड कैंसर (खून का कैंसर) एक खतरनाक रोग है। आप जानते हैं कि हमारा खून 2 तरह के सेल्स से मिलकर बना होता है, जिन्हें रेड ब्लड सेल्स (लाल रक्त कणिकाएं) और व्हाइट ब्लड सेल्स (सफेद रक्त कणिकाएं) कहा जाता है। हमारे शरीर में पर्याप्त खून होना बहुत जरूरी है क्योंकि शरीर के अंगों तक ऑक्सीजन और दूसरे पोषक तत्व खून के माध्यम से ही पहुंचते हैं। ब्लड कैंसर की शुरुआत बोन मैरो से होती है क्योंकि खून वहीं बनता है। ब्लड कैंसर कई तरह के हो सकते हैं। शुरुआती अवस्था में इसके लक्षण बेहद सामान्य होते हैं, जिन्हें लोग अक्सर नजरअंदाज कर देते हैं। आइए आपको बताते हैं ब्लड कैंसर के सामान्य लक्षण।

1. बार-बार इंफेक्शन होना

ब्लड कैंसर होने पर व्यक्ति बार-बार इंफेक्शन का शिकार होता है। दरअसल ब्लड कैंसर में रोगी के खून में कुछ ऐसे सेल्स विकसित हो जाते हैं, जो स्वस्थ सेल्स को नुकसान पहुंचाने लगते हैं। चूंकि हमारे शरीर के हर अंग तक खून पहुंचता है, इसलिए इसके लक्षण भी शरीर के किसी भी अंग में दिख सकते हैं। आमतौर पर ब्लड कैंसर होने पर रोगी को त्वचा का इंफेक्शन (जैसे- त्वचा का लाल, काला या भूरा रंग हो जाना, चकत्ते या दाने हो जाना), फेफड़ों का इंफेक्शन, गले और मुंह का इंफेक्शन आदि होने लगता है। एक साथ कई इंफेक्शन भी हो सकते हैं।

इसे भी पढ़ें:- ब्रेस्ट कैंसर से जुड़ी ये 5 बातें हैं मिथक, कहीं आप भी तो सच नहीं मानते इन्हें?

2. चोट लगने पर खून बंद न होना

हमारे शरीर में जब भी चोट लगती है या खरोंच आती है, तो थोड़े समय में ही खून बहना अपने आप बंद हो जाता है। इसका कारण यह है कि बाहरी हवा के संपर्क में आने पर खून के जमने की प्रक्रिया शुरू हो जाती है। मगर ब्लड कैंसर के रोगी में ऐसा नहीं होता है। अगर किसी व्यक्ति को चोट लगने पर उसका खून बहना थोड़ी देर में बंद नहीं होता है या घाव भरने में सामान्य से ज्यादा समय लगता है, तो ये ब्लड कैंसर का संकेत हो सकता है। चोट के अलावा बिना कारण नाक या मसूड़ों से खून निकलने लगना और पीरियड्स के दौरान बहुत ज्यादा मात्रा में खून निकलना भी इसके संकेतों में शामिल हैं। इसलिए एक बार चिकित्सक से मिलकर जांच जरूर करवाएं।

3. हर समय थकान और सुस्ती

थकान और सुस्ती बहुत सामान्य लक्षण हैं, जो आपको अक्सर ही अपने अंदर दिखाई दे सकते हैं। मगर यदि थकान के कारण आपको रोजमर्रा के कामों में परेशानी आने लगे और आप दिनभर सुस्त रहते हैं, तो एक बार जांच करवाएं। ये ब्लड कैंसर का शुरुआती लक्षण भी हो सकता है।

4. तेजी से वजन कम होना

अगर आपको अचानक अपने वजन में कमी लग रही है, तो सबसे पहले अपना वजन चेक करें। अगर महीने भर के भीतर ही बिना किसी प्रयास के आपका वजन 2.5 किलो से ज्यादा कम हो गया है, तो ये शरीर में किसी समस्या का संकेत हो सकता है। ब्लड कैंसर होने पर भी व्यक्ति का वजन बिना कारण कम होने लगता है।

इसे भी पढ़ें:- सोनाली बेंद्रे ने बताई कैंसर से जंग की कहानी: "मैं बिखर गई थी लेकिन कभी नहीं सोचा कि मर जाउंगी"

5. जोड़ों में दर्द होना

जोड़ों में दर्द की समस्या को भी हम बहुत सामान्य मान लेते हैं। आमतौर पर जोड़ों में दर्द के कई कारण हो सकते हैं, जिनमें अर्थराइटिस, गठिया, थकान, चोट, हड्डियों की कमजोरी आदि शामिल हैं। मगर ब्लड कैंसर के कारण भी आपको अपने जोड़ों और हड्डियों में दर्द का अनुभव हो सकता है।

6. भूख कम लगना और पेट के रोग

ब्लड कैंसर आपके पाचनतंत्र को भी बुरी तरह प्रभावित करता है। यही कारण है कि ब्लड कैंसर होने पर लोगों को भूख कम लगने लगती है और पेट के कई रोग जैसे- कब्ज, अपच, मल के साथ खून आना, पेशाब के साथ खून आने जैसे लक्षण दिखते हैं। अगर आपको ये लक्षण दिखाई दें, तो अपने चिकित्सक से इसका कारण जानने की कोशिश करें।

Read More Articles On Cancer in Hindi

Disclaimer