बीमारी फैलाने वाले वायरस, बैक्टीरिया से बचना है, तो आज से ही बना लें अपने डेली रूटीन में ये 5 आदतें

वायरस, बैक्टीरिया और छोटे जीवाणु हर समय हमारे आसपास मौजूद होते हैं। इनमें से कुछ इतने खतरनाक होते हैं कि कोरोना वायरस जैसी महामारी पैदा कर सकते हैं।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Apr 07, 2020
बीमारी फैलाने वाले वायरस, बैक्टीरिया से बचना है, तो आज से ही बना लें अपने डेली रूटीन में ये 5 आदतें

कोरोना वायरस ने जिस तरह से पूरी दुनिया में तबाही मचाई है, वो इस बात का प्रमाण है कि वायरस, बैक्टीरिया जैसे छोटे-छोटे परजीवी कितने खतरनाक हो सकते हैं। आमतौर पर बैक्टीरिया से होने वाले रोग संक्रामक नहीं होते हैं, मगर खतरनाक जरूर होते हैं। वहीं वायरस के कारण होने वाले ज्यादातर रोग संक्रामक और खतरनाक दोनों होते हैं। सीजनल फ्लू से लेकर कोरोना वायरस जैसी महामारी तक इन वायरसों की चपेट में आने से हर साल लाखों लोग अपनी जान गंवाते हैं। इसलिए अब शायद लोगों को पर्सनल हाइजीन का महत्व समझ आ गया है। आइए आपको बताते हैं पर्सनल हाइजीन के ऐसे 5 नियम, जिन्हें अपनाकर आप वायरस, बैक्टीरिया और तमाम तरह की बीमारियों से दूर रहेंगे।

अपने साथ रखें सैनिटाइजर

सैनिटाइजर वैसे तो बहुत सारे लोगों के लाइफस्टाइल का हिस्सा था, मगर इसकी जरूरत का एहसास पिछले कुछ समय में जितना ज्यादा हुआ है, उतना कभी और नहीं हुआ। हम में से ज्यादातर लोग जब भी बाहर कुछ खाते-पीते हैं, अस्पताल किसी बीमार से मिलने जाते हैं या पब्लिक टॉयलेट का इस्तेमाल करते हैं, तो या तो हाथ नहीं धोते हैं या सादे पानी से हाथ धो कर फुरसत पाते हैं। मगर इन सभी कामों के बाद अपने हाथ या तो साबुन और पानी से या फिर सैनिटाइजर से जरूर साफ करने चाहिए। इसलिए अगली बार जब आप बाजार में गोलगप्पे खाएं, तो पहले अपने हाथ सैनिटाइजर से साफ करें। इसके लिए अपने बैग में हमेशा सैनिटाइजर का एक छोटा बॉटल जरूर रखें।

इसे भी पढ़ें:- कभी नहीं पड़ेंगे बीमार अगर आज से ही फॉलो करेंगे यह पर्सनल हाइजीन टिप्स

गर्मी में डियो इस्तेमाल करें

गर्मी के मौसम में अक्सर पसीना बहुत आता है। पसीना आना शरीर के लिए अच्छी प्रक्रिया है, इसलिए इसमें कोई बुराई नहीं है। मगर पसीने के साथ टॉक्सिन्स और बैक्टीरिया भी आते हैं। ये बैक्टीरिया आपके शरीर में बदबू पैदा करते हैं और सेंसिटिव स्किन हो, तो त्वचा रोग भी पैदा करते हैं। इनसे बचने के लिए आपको अपने शरीर पर बॉडी डियोड्रेंट का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए। इन डियोज में एल्कोहल होता है, जिसके कारण बैक्टीरिया पनपते तो हैं मगर मर जाते हैं।

अपने अंडर गारमेंट्स रोजाना धोएं

कुछ लोगों की आदत होती है कि वो रोजाना अंडरगारमेंट्स नहीं बदलते हैं या नहीं धोते हैं। पुरुष हो या महिला, बैक्टीरिया का सबसे ज्यादा खतरा उनके प्राइवेट अंगों में होता है। इसलिए एक्सपर्ट्स सलाह देते हैं कि आपको हर दिन अपने अंडर गारमेंट्स साबुन से धोकर धूप में अच्छी तरह सुखाने चाहिए। अगर आप रोजाना नहीं धो सकते हैं, तो कम से कम रोज नए अंडर गारमेंट्स बदलें और सप्ताह में जिस दिन भी आपको समय मिले, सभी को धोएं। यानी कुल मिलाकर आपको एक दिन से ज्यादा एक कपड़े का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

Loading...

प्यूबिक हेयर साफ करते रहें

प्यूबिक हेयर का अर्थ है गुप्तांगों के आसपास वाले बाल। प्यूबिक हेयर साफ करने की आदत बहुत कम लोगों में पाई जाती है। ये आदत लड़के और लड़कियों दोनों के लिए ही खतरनाक है। प्यूबिक हेयर साफ न करने से कई तरह की एसटीडीज (STDs), इंफेक्शन और त्वचा रोगों का खतरा रहता है। इसलिए अधिकतम 2 सप्ताह में 1 बार अपने प्यूबिक हेयर जरूर साफ करें। अगर इसके लिए हेयर रिमूवर क्रीम का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो ध्यान दें कि इसमें केमिकल्स की मात्रा बहुत ज्यादा न हो, ताकि आपके गुप्तांग काले न पड़ जाएं।

इसे भी पढ़ें:- सही तरीके से नहीं धोते हैं हाथ तो हो सकती हैं ये 5 बीमारियां, जानें कैसे धोना चाहिए हाथ

पीरियड्स के दौरान साफ-सफाई

लड़कियों को ऊपर बताई गई बातों के अलावा पीरियड्स के दौरान भी विशेष सावधानी बरतने की जरूरत होती है। पीरियड्स के दौरान वजाइना की अच्छी तरह सफाई करना जरूरी है। इस दौरान इंफेक्शन होने या एसटीडीज (STDs) की संभावना बहुत बढ़ जाती है। सफाई और स्वच्छता की दृष्टि से पैड्स का इस्तेमाल आसान है। इसलिए आपको पीरियड्स के दौरान पैड्स का इस्तेमाल करना चाहिए। अपने साथ हमेशा बैग में एक्स्ट्रा पैड लेकर चलें। अगर ये आपके काम नहीं आया, तो किसी इमरजेंसी स्थिति में किसी और लड़की के काम आ सकता है।

Read More Articles on Mind Body in Hindi

Disclaimer