सीने में दर्द होने पर अपने डॉक्टर से जरूर पूछें ये 5 सवाल, हार्ट अटैक के खतरे से बच जाएंगे

अगर आपके सीने में अचानक दर्द की समस्या होती है, तो आप भी इसे हार्ट अटैक या इसके पूर्व लक्षण मानकर डर जाते हैं। ऐसे में अगर आप डॉक्टर को अपनी समस्या दिखाते हैं, तो उनसे ये 5 सवाल जरूर पूछ लें।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Sep 03, 2019
सीने में दर्द होने पर अपने डॉक्टर से जरूर पूछें ये 5 सवाल, हार्ट अटैक के खतरे से बच जाएंगे

आज हार्ट अटैक ऐसी बीमारी बन चुकी है, जिसके कारण दुनियाभर में सबसे ज्यादा मौतें होती हैं। दिल की बीमारियों का एक प्रमुख कारण लाइफस्टाइल यानी जीवनशैली है। मगर कई बार जानकारी की कमी के कारण भी लोग दिल की बीमारियों का शिकार हो जाते हैं। दिल की बीमारी की आशंका होने पर जब आप पहली बार डॉक्टर से मिलने जाते हैं, तभी कुछ ऐसे जरूरी सवाल हैं, जिनके बारे में आपको कार्डियोलॉजिस्ट से पूछ लेना चाहिए। इससे आपको अपनी बीमारी और अपने शरीर को समझने में मदद मिलेगी और आप बेकार की चिंताओं से भी बच जाएंगे। आइए आपको बताते हैं ऐसे 5 जरूरी सवाल, जो आपको अपने दिल के डॉक्टर से जरूर पूछने चाहिए।

क्या मेरे शरीर में दिखने वाले लक्षण हृदय रोग के हैं?

यदि आप कुछ लक्षणों के कारण हृदय रोग विशेषज्ञ से मिल रहे हैं, तो आपको पता होना चाहिए कि ये लक्षण हृदय के कारण हैं या नहीं? ज्यादातर लोग सीने में दर्द होने पर इसे दिल की बीमारी का संकेत मान लेते हैं। मगर सीने में दर्द होना आम है, जो मस्कुलोस्केलेटल या गैस्ट्रिक के कारण भी हो सकता है। इसके अलावा ज्यादा तनाव लेने, पेट में गैस बनने या एसिडिटी के कारण भी सीने में दर्द की समस्या हो सकती है। इसलिए डॉक्टर से पूछें कि ये लक्षण किस कारण से सामने आ रहे हैं।

इसे भी पढ़ें:- त्वचा पर दिखने वाले ये 6 निशान हो सकते हैं 'हार्ट अटैक' का पूर्व संकेत, 35+ उम्र वाले रहें सावधान

बीमारी की सही जानकारी के लिए किन टेस्ट्स की जरूरत पड़ेगी?

सही बीमारी का पता लगाने के लिए टेस्ट करना बहुत जरूरी है। अगर आप सीने में दर्द की समस्या लेकर डॉक्टर के पास जाते हैं, तो सबसे पहले डॉक्टर बाहरी तौर पर मुआयना करके आपके कुछ बातचीत करते हैं। इसके बाद  यदि आपके लक्षणों में दिल के दौरे का संदेह है, तो आपको एक इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम (ईसीजी) और एक साधारण रक्त परीक्षण (कार्डियक एंजाइम - ट्रोपोनिन) की सलाह दी जाएगी। यदि आपके लक्षण एन्जाइना के  हैं, तो आपको ईसीजी या शायद 2 डी-इको और ट्रेडमिल स्ट्रेस टेस्ट की सलाह दी जाएगी।

क्या मुझे हार्ट अटैक का खतरा है? अगर हां तो इसे कैसे कम कर सकते हैं?

यदि आपको दिल की बीमारी है और आप इसके इलाज के लिए कार्डियोलॉजिस्ट से मिल रहे हैं, तो आपको इस बारे में जरूर पूछ लेना चाहिए कि आपको भविष्य में दिल का दौरा या स्ट्रोक होने का कितना खतरा है? इसके लिए एक आसान एल्गोरिदम है, जिसके आधार पर आपका हृदय रोग विशेषज्ञ आपको दिल का दौरा पड़ने और स्ट्रोक की संभावना के बारे में आसानी से बता सकते हैं। अगर डॉक्टर आपको इसके बारे में बताते हैं, तो उनसे बचाव के बारे में भी जरूर पूछें। आमतौर पर कुछ टेस्ट्स, जीवन शैली में बदलाव और कभी-कभी दवाओं के द्वारा हार्ट अटैक के खतरे को कम किया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें:- धमनियों में जमे कोलेस्ट्रॉल को साफ करते हैं ये 5 फूड्स, तेजी से घटेंगे LDL और ट्राईग्लिसराइड्स

हार्ट को स्वस्थ रखने के लिए लाइफस्टाइल में कौन से बदलाव करने जरूरी हैं?

आपको अपने डॉक्टर से यह भी पूछना चाहिए कि हृदय को स्वस्थ रखने के लिए आपको लाइफस्टाइल में कौन से बदलाव करने जरूरी हैं। हार्ट अटैक से बचने के लिए जीवनशैली में बदलाव महत्वपूर्ण हैं, और आपको पता होना चाहिए कि ये क्या हैं। आमतौर पर डॉक्टर इस स्थिति में शारीरिक गतिविधि (फिजिकल एक्टिविटी) और हेल्दी डाइट को अपनाने की सलाह देते हैं।  इसके अलावा धूम्रपान और शराब की लत छोड़ना, वजन घटाना, मोटापा कंट्रोल करना, तनाव से बचना आदि बदलाव भी बहुत जरूरी हैं।

क्या हार्ट अटैक से बचने के लिए ऑपरेशन (एंजियोप्लास्टी या बाईपास सर्जरी) के अलावा भी कोई विकल्प हैं?

यदि आपको एंजियोप्लास्टी या बाईपास सर्जरी या किसी अन्य सर्जिकल या इंटरवेंशनल प्रक्रिया की सलाह दी गई है, तो आपको अपने कार्डियोलॉजिस्ट से पूछना चाहिए कि क्या आपके लिए इसका कोई वैकल्पिक इलाज मौजूद नहीं है। अगर यह है तो कितना सुरक्षित है और उसके सक्सेसफुल होने के क्या चांस हैं।

इनपुट्स: डॉ तिलक सुवर्णा, सीनियर इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजिस्ट, एशियन हार्ट इंस्टीट्यूट, मुंबई

Read more articles on Heart Health in Hindi

Disclaimer