बालों के लिए प्रोडक्ट खरीदने से पहले जांच लें ये 5 केमिकल्स, वर्ना फायदे के बजाय होगा नुकसान

बालों की देखभाल के लिए शैंपू, कंडीशनर, हेयर ऑयल, हेयर जेल और सीरम खरीदने से पहले उसके लेबल को जरूर पढ़ें। हेयर केयर और ब्यूटी प्रोडक्ट्स में मौजूद ये 5 केमिकल्स आपके बालों के साथ-साथ शरीर को भी नुकसान पहुंचा सकते हैं।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavUpdated at: Oct 17, 2019 15:23 IST
बालों के लिए प्रोडक्ट खरीदने से पहले जांच लें ये 5 केमिकल्स, वर्ना फायदे के बजाय होगा नुकसान

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

हमें खूबसूरत बनाने में हमारे बाल बड़ी भूमिका निभाते हैं। शायद इसीलिए हममें से ज्यादतर लोग अपने बालों को स्वस्थ रखने के लिए ढेर सारे ब्यूटी प्रोडक्ट्स जैसे- शैंपू, कंडीशनर, हेयर जेल, सीरम, हेयर ऑयल आदि का सहारा लेते हैं। ये हेयर केयर प्रोडक्ट्स बालों को स्वस्थ रखने के साथ-साथ उन्हें हमारी जरूरत के अनुसार स्टाइलिश बनाने में भी मदद करते हैं। मगर यदि आपको ये बात पता चले कि आपके हेयर केयर प्रोडक्ट्स में कई ऐसे केमिकल्स हैं, जो आपके लिए नुकसानदायक हो सकते हैं, तो आपका क्या रिएक्शन होगा? जाहिर है आप हैरान और परेशान होंगी।

अंजाने में ही सही, मगर ऐसे केमिकलयुक्त ब्यूटी प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल आप भी करती होंगी, क्योंकि आज बाजार ऐसे प्रोडक्ट्स से भरा पड़ा है। शायद यही कारण है कि सक्षम और जानकार लोग धीरे-धीरे ऑर्गेनिक और नैचुरल प्रोडक्ट्स की तरफ तेजी से बढ़ रहे हैं।

हेयर केयर प्रोडक्ट्स में ये केमिकल्स इस उद्देश्य से मिलाए जाते हैं, ताकि इन्हें लगाते ही उपभोक्ता को परिणाम मिल जाए और वो संतुष्ट हो जाए। मगर लंबे समय तक इन केमिकल्स का इस्तेमाल इंसानों के लिए खतरनाक हो सकता है। आइए आपको बताते हैं ऐसे ही 5 सामान्य केमिकल्स, जो नुकसानदायक होते हैं। अगली बार अपने लिए कोई भी हेयर केयर प्रोडक्ट खरीदने से पहले आपको उसके डिब्बे/पैकेट/बॉक्स के पीछे लिखे Ingredients सेक्शन को पढ़ना है। अगर उनमें ये केमिकल्स लिखे हुए हैं, तो आपको प्रोडक्ट का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए या कम से कम सोच-समझकर करना चाहिए।

hair-care-products-chemicals

पैराबीन्स (Parabens)

पैराबीन्स एक तरह के प्रिजर्वेटिव होते हैं, जो ब्यूटी प्रोडक्ट्स को लंबे समय तक खराब होने से रोकते हैं। Butylparaben, Methylparaben और Propylparaben आदि कुछ कॉमन पैराबीन्स के प्रकार हैं, जिनका इस्तेमाल ब्यूटी प्रोडक्ट्स में किया जाता है। ये आपकी त्वचा के रास्ते से आपके शरीर में प्रवेश कर सकते हैं और आपके हार्मोन्स और जीन्स को नुकसान पहुंचा सकते हैं। कुछ पैराबीन्स के कारण कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों का भी खतरा बढ़ जाता है।

इसे भी पढ़ें:- प्रदूषण से बढ़ रहे हैं कम उम्र में बाल झड़ने के मामले, आपके बाल भी झड़ रहे हैं तो ध्यान रखें ये 5 बातें

एल्कोहल (Alcohol)

बहुत सारे हेयर केयर प्रोडक्ट्स और ब्यूटी प्रोडक्ट्स में एल्कोहल का प्रयोग किया जाता है। कुछ सामान्य एल्कोहल के प्रकार- Ethanol, SD Alcohol 40, Propyl, Isopropyl, Porpanol आदि हैं। एल्कोहल आपकी त्वचा को रूखा बना सकते हैं और बालों को कमजोर बनाते हैं। इसके इस्तेमाल से आपके बाल दो-मुंहे हो सकते हैं।

सल्फेट (Sulfate)

सल्फेट एक तरह का क्लीन्जिंग एजेंट है, जो गंदगी को साफ करने के लिए जाना जाता है। इसका इस्तेमाल टॉयलेट क्लीनर, डिटर्जेंट, साबुन आदि में होता है। मगर आपको जानकर हैरानी होगी कि शैंपू में भी धड़ल्ले से सल्फेट का इस्तेमाल किया जाता है, जबकि ये सल्फेट आपके स्कैल्प पर पाए जाने वाले नैचुरल ऑयल सीबम को खत्म कर स्कैल्प को रूखा बना देता है, जिससे कई परेशानियां हो सकती हैं। आमतौर पर शैंपू में दो प्रकार के सल्फेट ज्यादा प्रयोग किए जाते हैं- sodium lauryl sulfate और sodium laureth sulfate.

फ्रैग्रेंस (Fragrance)

वैसे को फ्रैग्रेंस का अर्थ मनमोहक खुश्बू होता है। मगर कुछ हेयर केयर प्रोडक्ट्स में इस शब्द का इस्तेमाल एक छलावे के तौर पर किया जाता है। कई उत्पादक 'थैलेट्स' (Phthalates) नाम के केमिकल का नाम छुपाने के लिए इसको 'फ्रैग्रेंस' लिख देते हैं। रिसर्च बताती हैं कि थैलेट्स के इस्तेमाल से लिवर, किडनी और फेफड़े डैमेज हो सकते हैं और प्रजनन तंत्र को भी नुकसान पहुंच सकता है। चूंकि ये केमिकल खुश्बू के लिए इस्तेमाल किया जाता है, इसलिए इसका एक खतरा ये है कि ये आपके शरीर के भीतर सांसों के द्वारा और त्वचा के द्वारा, दोनों तरह से प्रवेश कर सकता है।

इसे भी पढ़ें:- चिपचिपे और ऑयली बालों से हैं परेशान? तो अपनाएं ये 5 तरीके, बाल बनेंगे रेशमी और बाउंसी

फॉर्मएल्डिहाइड (Formaldehyde)

फॉर्मएल्डिहाइड एक ऐसा केमिकल प्रोडक्ट है, जिसे पहले ही वैश्विक संस्थाएं कार्सिनोजेन मान चुकी हैं। मगर फिर भी ब्यूटी प्रोडक्ट्स में इसका इस्तेमाल खूब किया जाता है। ये ब्यूटी प्रोडक्ट्स में एक तरह के प्रिजर्वेटिव का काम करता है। मगर वैज्ञानिक बताते हैं कि इस केमिकल के कारण इंसानों में कैंसर और अस्थमा जैसी बीमारियों का खतरा काफी बढ़ जाता है। कुछ सामान्य फॉर्मएल्डिहाइड इस प्रकार हैं, जिनकी जांच ब्यूटी प्रोडक्ट्स में कर लेनी चाहिए- Diazolidinyl urea, DMDM ydantoin, Glyoxal, Imidazolidinyl urea, Polyoxymethylene urea, Quaternium-15, Sodium hydroxymethylglycinate आदि।

Read more articles on Hair Care in Hindi

Disclaimer