कमर दर्द तो इन 3 स्लीपिंग पोजीशन में सोना होता है बेहतर, बिना दर्द आएगी सुकून की नींद

पीठ या कमर दर्द होने पर सबसे मुश्किल सोते समय आती है। सोने के दौरान लगातार होने वाले दर्द से बचना है, तो आप ट्राई कर सकते हैं ये 3 स्लीपिंग पोजीशन।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Jan 27, 2020Updated at: Jan 27, 2020
कमर दर्द तो इन 3 स्लीपिंग पोजीशन में सोना होता है बेहतर, बिना दर्द आएगी सुकून की नींद

कमर दर्द एक ऐसी समस्या है, जो साल में 4-5 बार तो हर व्यक्ति को परेशान करती ही करती है। कमर दर्द के कई कारण होते हैं, जिनमें कुछ बेहद सामान्य हैं, इसलिए ये आम समस्या है। आड़ा-तिरछा बैठना, मांसपेशियों में खिंचाव, ज्यादा मेहनत, भारी सामान उठाने आदि कई कारणों से कमर में दर्द हो सकता है। एक बार दर्द शुरू हो जाए, तो व्यक्ति का झुकना, बैठना, लेटना सब मुश्किल हो जाता है। मगर सबसे ज्यादा परेशानी सोने में आती है। सामान्य तरीके से लेटने या सोने पर आपके कमर में दर्द होता है, जिसके कारण आपको नींद नहीं आती है। मगर यदि कमर दर्द के दौरान आप कुछ खास स्लीपिंग पोजीशन्स में सोएं, तो आपको दर्द का अनुभव नहीं होगा और आपको अच्छी, सुकून भरी नींद आएगी। आइए आपको बताते हैं कमर दर्द में 3 बेस्ट स्लीपिंग पोजीशन्स।

स्लीपिंग पोजीशन 1

कमर दर्द का कारण अगर मांसपेशियों का खिंचाव या हार्निएटेड डिस्क है, तो आप इस पोजीशन में सो सकते हैं। ज्यादातर लोगों को इस पोजीशन में सोने से आराम मिलता है। इसके लिए-

  • अपने पीठ के बल बिल्कुल सीधा लेट जाएं।
  • अब किसी एक तरफ शरीर को मोड़ें और फिर अपने घुटनों को मोड़ते हुए अपने सीने से चिपका लें। अब अपने हाथों से पैरों को जकड़ कर लेटें।
  • इस पोजीशन में आपके शरीर की मांसपेशियां खिंची हुई रहती हैं, इसलिए उनमें दर्द का अनुभव नहीं होता है।
  • एक साइड से थक जाने पर आप दूसरी साइड से इसी पोजीशन में सो सकते हैं।

स्लीपिंग पोजीशन 2

इस पोजीशन में आप पेट के बल लेटकर एक तकिया को बांहों में भरकर सोते हैं। इसलिए कुछ लोग मजाक में इसे सिंगल लोगों की पोजीशन कहते हैं। इस पोजीशन में सोने से आपकी गर्दन का तनाव कम हो जाता है, जिससे पीठ में होने वाला दर्द नहीं महसूस होता है। इसके लिए-

  • पेट के बल लेट जाएं और एक तकिया लें।
  • इस तकिया को अपने पेल्विक (पेड़ू) यानी पेट के निचले हिस्से में दबा लें।
  • आप चाहें तो अपने सीने या सिर के आसपास भी तकिया को होल्ड कर सकते हैं।
  • डिजेनेरेटिव डिस्क रोग से प्रभावित लोगों के लिए ये पोजीशन सबसे बेहतर है। इस पोजीशन में सोने से डिस्क के बीच के स्पेस में स्ट्रेस कम हो जाता है, जिससे दर्द नहीं होता है।

स्लीपिंग पोजीशन 3

ये कमर दर्द में सोने की सबसे आसान पोजीशन है। अगर आपको पीठ के बल सोने में तेज दर्द हो रहा है, तो आप इस पोजीशन में आसानी से सो सकते हैं। इस पोजीशन में आप पेट या पीठ के बल नहीं, बल्कि कंधे के बल सोते हैं। इससे आपके पीठ और कमर की नसें खिंची हुई रहती हैं और आपको दर्द नहीं होता है।

  • सीधा लेट जाएं और फिर किसी एक साइड मुड़ जाएं।
  • अब एक लंबी तकिया लें और अपने दोनों घुटनों के बीच तकिया को फंसा लें।
  • चूंकि तकिया लंबी है, इसलिए ये आपके घुटनों के साथ-साथ बांहों में भी आ जाएगी।
  • इसलिए तकिया को बांहों में भी भर लें।
  • इस पोजीशन में लेटना कमर दर्द से जल्दी राहत दिलाने में मददगार है। आप लंबे समय तक इस पोजीशन में सो सकते हैं। दर्द या थकान होने पर आप दूसरी साइड से भी इसी पोजीशन को बदल कर सो सकते हैं।

Read more articles on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer