रोजमर्रा के लिए आवश्यक तेलों का इस्तेमाल

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 29, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • आवश्यक तेलों से स्वास्थ्य को फायदे।
  • नींबू, मिंट, गुलाब, लौंग, लैवेंडर के तेल।
  • जुकाम, सिर और दांत दर्द में राहत।
  • घर की सफाई में भी मिलती है मदद।

कुछ खुशबूदार तेल स्‍वास्‍थ्‍य के लिये बहुत लाभदायक होते हैं। इन तेलों में नींबू, नीलगिरी, मिंट, वैनीला, गुलाब, लौंग और लैवेंडर के तेल शामिल हैं। आवश्यक तेल बाजार में बड़ी आसानी से उपलब्ध हो जाते हैं। इन तेलों में कुछ ऐसे गुण होते हैं जिनसे कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का समाधान किया जा सकता है। ये तेल न सिर्फ खाना बनाने में काम आते हैं, बल्कि इनमें औषधीय गुण भी होते हैं जो आपकी उम्र को लंबा सकते हैं। आइये जानते हैं कि किस तरह से आप अपने रोजमर्रा के जीवन में आवश्यक या लाभकारी तेलों का इस्तेमाल कर सकते हैं :-

 

Essential Oils in Hindi


जुकाम में फायदा

टी ट्री या मिंट तेल की कुछ बूंदें गर्म पानी में डाल दें। इस गर्म पानी की भाप लीजिए। इससे आपको जुकाम में फायदा होगा। इसके अलावा, टी ट्री, पेपरमिंट या युकलिप्टस तेल की कुछ बूंदों को एक चम्मच केरिअर तेल में मिला लें, और फिर उसे छाती औऱ गले पर मलें। इससे जुकाम में बलगम जमने व सांस लेने में समस्या जैसी दिक्कतों से राहत मिलती है।

सिर दर्द से राहत

 

मिंट तेल की कुछ बूंदों को केरिअर तेल में मिला लें, और धीरे धीरे अपने सिर पर मलें। इससे फौरन आराम मिलता है। लेकिन ध्यान रहे, अपनी आंखों को तेल से बचा कर रखें, क्योंकि मिंट तेल बहुत तेज होता है। इसके आंखों पर लगने से आंखों को दिक्कत हो सकती है।

दांत दर्द का इलाज

 

अगर आपके दांत में दर्द है और आपके पास न दवा है न आप डेंटिस्ट के पास जाना चाहते हैं। तो ऐसे में एक और ऐसी चीज है जिससे आपको तुरंत आराम मिल सकता है। लौंग का तेल। लौंग के तेल को थोड़े से वेजीटेबल तेल में मिलाकर रूई की मदद से दांतों में लगाएं। तुरत राहत मिलेगी। अगर दाढ़ में ज्यादा दर्द है तो इस तेल में भीगे छोटे रूई के टुकड़े को दांत में दबा कर रखा जा सकता है।

 

Rosemary oil in Hindi

 

सनबर्न को कम करें

लेवेंडर लाभदायक तेल की कुछ बूंदे, वेजीटेबल तेल के साथ मिला लें। तेल के इस मिश्रण को हल्के हाथों से उन हिस्सों पर लगाएं जहां सनबर्न हुआ है। इसके अलावा, ठंडे पानी में लेवेंडर तेल की बूंदे डालकर नहाने से भी सनबर्न कम होता है। इस पानी में कपड़ा डुबो कर सनबर्न वाले हिस्सों पर भी लगाया जा सकता है।

कीड़े के काटने पर

 

कीड़े का काट लेना बहुत आम समस्या है। ऐसी स्थिति में लेवेंडर और टी ट्री तेल, किसी का भी इस्तेमाल फायदेमंद होता है। बस, दोनों में से किसी को भी रूई की फाह से प्रभावित स्थान पर सीधे ही लगाएं। कुछ ही देर में वहां होने वाली जलन और खुजली से राहत मिल जाएगी।

ताज़गी

दिन भर की थकान को उतारने के लिए नींबू या रोजमैरी लाभदायक तेल की कुछ बूंदें अपने बाथटब में डाल लें, या फिर नहाने के पानी में मिला लें। लेवेंडर तेल भी थकान उतारने और ताज़गी देने के काम आता है। इन तेलों के पानी से नहाने से आपकी पूरी थकान उतर जाएगी और हल्कापन महसूस करेंगे।

 

मांसपेशियों के दर्द में

ज्यादा थकान या फिर मेहनत से मांसपेशियों का दर्द आम बात है। ऐसे में लाभदायक तेलों से मालिश करनी चाहिए। अपने पसंदीदा वेजीटेबल ऑयल में कुछ बूंदे पेपरमिंट तेल या रोजमैरी तेल की डाल लीजिए, और फिर उससे मांसपेशियों की मसाज करें। इससे दर्द में बहुत राहत मिलती है।

 

होममेड क्लीनर

अपने घर के लिए क्लीनर खुद बनाएं। पेपरमिंट और नींबू के तेल से घर की सफाई में काफी मदद मिलती है। बस, सफाई के पानी में थोड़ा सा ये तेल मिला लें, खासतौर पर नींबू का तेल। इससे फर्श के दाग धब्बे मिट जाते हैं। अगर आप अपने घर में ताज़गी लाना चाहते हैं तो लाभदायक तेल को मिस्टर बॉटल में पानी के साथ मिलाकर, घर में स्प्रे करें। इसके लिए भी, नींबू का तेल सबसे अच्छा होता है।



तो ये थे, आवश्यक तेलों के कुछ इस्तेमाल। ये इतने आसान हैं कि आप अपने रोजमर्रा के जीवन में इनसे काफी मदद ले सकते हैं। तो फिर खोलिए अलमारी, और निकालिये आपके पास रखी लाभदायक तेलों की बॉटल को।


Image Source - Getty Images

Read More Articles on Home Remedies in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES24 Votes 3928 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर