शरीर में जिंक की कमी होने पर बढ़ता है हाइपरटेंशन का खतरा, इन आहारों से करें इसकी पूर्ति

जिंक एक ऐसा पोषक तत्व है जिसकी शरीर को बहुत बड़ी मात्रा में जरूरत होती है। शरीर में जब जिंक की कमी हो जाती है तो इम्यूनिटी कमजोर होने, जल्दी बीमारियों की चपेट में आने और अनावश्यक बैक्टिरिया के शरीर में घुसने का खतरा बहुत बड़ जाता है। हाल ही में एक

Rashmi Upadhyay
स्वस्थ आहारWritten by: Rashmi UpadhyayPublished at: Jan 25, 2019
शरीर में जिंक की कमी होने पर बढ़ता है हाइपरटेंशन का खतरा, इन आहारों से करें इसकी पूर्ति

जिंक एक ऐसा पोषक तत्व है जिसकी शरीर को बहुत बड़ी मात्रा में जरूरत होती है। शरीर में जब जिंक की कमी हो जाती है तो इम्यूनिटी कमजोर होने, जल्दी बीमारियों की चपेट में आने और अनावश्यक बैक्टिरिया के शरीर में घुसने का खतरा बहुत बड़ जाता है। हाल ही में एक रिसर्च आई है कि जब शरीर में जिंक की मात्रा जरूरत से ज्यादा कम होती है तो व्यक्ति हाइपरटेंशन की चपेट में आ जाता है। हाइपरटेंशन होने के बाद व्यक्ति का ब्लड प्रेशर लेवल बढ़ता और घटता रहता है। जिन लोगों को टाइप -2 मधुमेह और क्रोनिक किडनी रोग होता है उनमें जिंक की कमी होना आम है। यह भी पता चला है कि मूत्र में कम सोडियम आमतौर पर उच्च रक्तचाप से मेल खाता है।

जिंक से भरपूर आहार

  • प्रोटीन से भरपूर इस आहार में जिंक की मात्रा भी काफी अधिक होती है। जिंक की कमी को पूरा करने के लिए फलियों का सेवन एक बहुत ही सुरक्षित विचार है। इसलिए अपने आहार में राजमा, दालें तथा सोयाबीन को अपने आहार में शामिल करें। हालांकि राजमा में प्रोटीन और जिंक दोनों की मौजदूगी होती हैं, लेकिन इसे एक सीमित मात्रा में ही खाइये क्‍योंकि इसमें मोटापा बढाने वाले तत्‍व भी होते हैं। 
  • मूंगफली जिंक का सबसे अच्‍छा स्रोत है। साथ ही इसमें आयरन, विटामिन ई, मैग्नीशियम, पोटेशियम, फोलिक एसिड तथा फाइबर भी होता है। इसमें फ्री रेडिकल्स से बचाने वाला ‘रिसवेरेट्राल’ नामक एंटी-आक्सीडेंट भी पाया जाता है। साथ ही मूंगफली में ‘ओमेगा-6′ फैट भी प्रचुर मात्रा में मिलता है, जो स्वस्थ कोशिकाओं तथा अच्छी त्वचा के लिए जिम्मेदार है। साथ ही इनमें फैट तथा कोलेस्ट्रॉल कम मात्रा में होता है।
  • लहसुन में भी बहुत जिंक पाया जाता है। साथ ही प्रतिदिन लहसुन की एक कली के सेवन से शरीर को विटामिन ए, बी और सी के साथ आयोडीन, आयरन, पोटैशियम, कैल्शियम और मैग्नीशियम जैसे कई पोषक तत्व एक साथ मिल जाते हैं। साथ ही लहुसन में एंटी बैक्‍टीरियल और एंटी-फंगल गुण भी पाये जाते हैं। 
  • हालांकि डॉक्‍टर अंडे की जर्दी खाने के लिए मना करते हैं क्‍योंकि इसमें कोलेस्‍ट्रॉल बहुत अधिक मात्रा में होता है। लेकिन अगर आपको जिंक चाहिए तो आपको अपने आहार में अंडे के पीले भाग को शामिल करना चाहिए। इसके साथ ही पीले भाग में कैल्‍शियम, आयरन, फॉस्‍फोरस, थाइमिन, विटामिन बी6, फोलेट, विटामिन बी12 और पैंथोनिक एसिड भी पाया जाता है। 
  • तिल में बहुत अधिक मात्रा में जिंक पाया जाता है। साथ ही इसमें कई प्रकार के प्रोटीन, कैल्शियम, बी काम्‍प्‍लेक्‍स और कार्बोहाइट्रेड आदि तत्‍व पाये जाते हैं। तिल में फोलिक एसिड भरपूर मात्रा में होता है। यह मोनो-सैचुरेटेड फैटी एसिड का एक स्रोत है, जो बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करता है। और गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है।
  • मशरुम को सुपरफूड के नाम से भी जाना जाता है। इसमें बहुत सारा मिनरल, जिसमें जिंक भी अच्‍छी मात्रा में पाया जाता है। साथ ही मशरुम में उपयोगी

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Healthy Eating In Hindi

Disclaimer