फल और सेहतः जानें कौन सा फल आपकी सेहत के लिए है फायदेमंद और खतरनाक, पहचानने में लगेंगे कुछ मिनट

फल और सेहतः आपने अक्सर अपने किसी बड़े-बुजुर्ग को यह कहते हुए सुना होगा कि फल हमारी सेहत के लिए खजाना है। दिन में एक फल जरूर खाना चाहिए। लेकिन इन फलों को खाते वक्त हमें यह ध्यान रखना चाहिए कि इसका हमारे स्वास्थ्य पर क्या प्रभाव पड़ेगा।

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaPublished at: Nov 19, 2019Updated at: Nov 19, 2019
फल और सेहतः जानें कौन सा फल आपकी सेहत के लिए है फायदेमंद और खतरनाक, पहचानने में लगेंगे कुछ मिनट

मौजूदा वक्त में फल हमारी सेहत के लिए पर्यायवाची बन गए हैं क्योंकि इनमें पाए जाने वाले विटामिन, एंटीऑक्सीडेंट, फाइबर, मिनरल, पानी, आयरन और अन्य पोषक तत्व हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहद जरूरी हैं। हालांकि फलों में कई खाद्य पदार्थों की तरह कार्बोहाइड्रेट भी होता है, जो हमारे शरीर के ब्लड शुगर लेवल को बढ़ा सकता है। कुछ फलों में सामान्य के मुकाबले अधिक कार्ब होते हैं, जो अचानक ब्लड शुगर लेवल बढ़ा देते हैं। हम आपको ऐसे ही कुछ फलों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनसे दूरी बनाना आपके लिए बेहतर साबित हो सकता है। आप इन फलों का सेवन तभी करें जब डॉक्टर या कोई डायटिशन आपको इन्हें लेने की सलाह दें।

fruit and health

फलों का रस

डायबिटीज,  पॉलीसिस्टिक ओवरी, इंसुलिन रेसिस्टेंट, हाई ब्लड शुगर जैसी बीमारी से जूझ रहे मरीजों को सख्त रूप से किसी भी प्रकार का जूस नहीं पीने की सलाह दी जाती है। एक गिलास फ्रूट जूस में मुश्किल से 16 आउंस फलों का रस होता है। इसके अलावा इसमें 23 चम्मच शुगर और 52 ग्राम कार्बोहाइड्रेट होता है। इतनी मात्रा में कार्ब लेने के लिए व्यक्ति को दो से तीन फल खाने होंगे। इसके अलावा जूस को फिल्टर करने वाला उपकरण फल से हेल्दी फाइबर निकाल लेता है। इसलिए जूस के बजाए लोगों को ताजे फल की सलाह दी जाती है ताकि ब्लड शुगर को बढ़ने से रोका जा सके और अधिक से अधिक पोषक तत्व शरीर में जा सके।

इसे भी पढ़ेंः सर्दी में किसी 'वरदान' से कम नहीं 'अमरूद' 5 खतरनाक रोगों से रखता है दूर, जानें इसके अचूक फायदे

ड्राइ फ्रूट

किशमिश, काजू जैसे ड्राइ फ्रूट में पानी की मात्रा कम और कंसनट्रेटेड शुगर (concentrated sugar)की मात्रा बहुत ज्यादा होती है।  उदाहरण के लिए कुछ किशमिश एक कप में 8 चम्मच चीनी और 30 ग्राम कार्बोहाइड्रेट के बराबर होती है। क्रैनबेरी जैसे अन्य सूखे मेवों में कार्बोहाइड्रेट की अतिरिक्त मात्रा होती है क्योंकि इसमें आर्टिफिशियल शुगर को मिलाया जाता है। इसलिए जरूरी है कि आप ड्राइ फ्रूट का सेवन सीमित मात्रा में करें या इन्हें अधिक खाने से बचें।

हाई कार्ब वाले फल

ताजे फल आपके लिए हर वक्त स्वस्थ होते हैं। ऐसा कहा जाता है कि कुछ फलों से दूर रहना आपके लिए बहुत जरूरी है क्योंकि ये तुरंत ब्लड शुगर लेवल बढ़ा देते हैं। उदाहरण के लिए एक केले में 32 ग्राम कार्ब होते हैं और एक सामान्य आम में 50 ग्राम। वहीं सेब में करीब 35 ग्राम कार्ब होते हैं, जो करीब-करीब आठ चम्मच शुगर के बराबर है। इसलिए अपने फलों का चुनाव करते वक्त खास रूप से उनके आकार का ध्यान रखना चाहिए। इसके साथ ही जरूरी है कि फलों में कार्ब की मात्रा पर ध्यान रखें।

इसे भी पढ़ेंः पुरानी से पुरानी कब्ज दूर करने में रामबाण हैं ये 3 प्रकार के फूड, स्वाद के साथ पेट हमेशा रहेगा साफ

fruit and health

फलों का चुनाव करते वक्त जरूरी बातें

हाई ब्लड शुगर की समस्या से जूझ रहे मरीजों को आम, केले जैसे बहुत ज्यादा मीठे फलों का सेवन करने से बचना चाहिए।

फलों का सेवन हमेशा एक बार के बजाए टुकड़ों में करना चाहिए। इसका मतलब है कि हमें कभी भी पेट भर कर फल नहीं खाने चाहिए। हमेशा कम मात्रा में फलों का सेवन करना चाहिए।

डायबिटीज से पीड़ित मरीजों को जूस को किसी भी प्रकार से नहीं अपनाना चाहिए।

ब्लड शुगर कंट्रोल करने में मदद करने वाले फल

  • एवोकेडो।
  • ग्रेपफ्रूट।
  • अनानास।
  • कीवी।
  • चेरी।
  • नाशपाती।
  • अमरूद।
  • हरा सेब। 
  • जामुन / ब्लूबेरी।

Read More Articles On Healthy Diet in Hindi

Disclaimer