खाना बनाते हुए जल गए हैं तो घबराएं नहीं, बल्कि इन घरेलू तरीकों को अपनाएं

किसी भी कारण से जलने के बाद आपको घबराने की नहीं बल्कि इन तरीकों को अपनाने की जरूरत होती है। जानें कैसे करें जले हुए हिस्से की जलन कम। 

सम्‍पादकीय विभाग
घरेलू नुस्‍खWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Jul 04, 2012
खाना बनाते हुए जल गए हैं तो घबराएं नहीं, बल्कि इन घरेलू तरीकों को अपनाएं

घर और बाहर कई ऐसे काम होते हैं जिनमें जलने का खतरा होता है। कई बार हल्का सा जलने पर कोई फर्क नहीं पड़ता लेकिन जब शरीर का ज्यादा हिस्सा जल जाए तो परेशानी बढ़ जाती है। अगर जले हुए हिस्से का तुरंत इलाज नहीं किया गया तो ये आपकी त्वचा को भी खराब कर सकता है साथ ही आपको नुकसान भी पहुंचा सकता है। 

अक्सर लोग जब किसी कारण से जल जाते हैं तो तुरंत कोशिश करते हैं कि या तो पानी से उस हिस्से को धो लें या फिर ज्यादा जलने पर अस्पताल का रुख करते हैं। लेकिन कई बार ये घटना ऐसे वक्त होती है जब आप अस्पताल जा नहीं पाते। उसके लिए आपको घबराने की जरूरत नहीं है ऐसे में आप घर पर इसका तुरंत इलाज कर सकते हैं। आइए जानते हैं कि किस तरह हम घरेलू तरीके से जले हुए हिस्से की देखभाल कर सकते हैं। 

Burn Care in Hindi

ठंडे पानी का इस्तेमाल करें

अगर आपका खाना बनाते हुए या फिर किसी और कारण से हाथ या शरीर का कोई हिस्सा जलता है तो आप ऐसे में सबसे पहले ठंडे पानी से उस हिस्से को धोएं। अगर आप ऐसा नहीं करते तो इससे आपके शरीर पर फफोला पड़ सकता है। इसके अलावा आप जले हुए हिस्से को ठंडे पानी में कपड़ा भिगोकर लपेट दें। 

एलोवेरा 

जलने पर एलोवेरा काफी ज्यादा फायदेमंद होता है। एलोवेरा के गूदे का इस्तेमाल कर आप जले हुए हिस्से पर लगा सकते हैं। आप पानी से उस हिस्से को धोने के बाद एलोवेरा के गूदे को उस हिस्से पर लगा सकते हैं। 

हल्दी का पानी

जैसा कि आप सभी जानते हैं हल्दी हमारी सेहत के लिए कितना फायदेमंद है। ऐसे में वो जलने पर भी हल्दी का पानी काफी ज्यादा असरदार होता है। आप जले हुए हिस्से पर तुरंत हल्दी का पानी लगा सकते हैं। इससे आपकी जलन कम होती है और आपका दर्द भी कम होता है। 

इसे भी पढ़ें: खूनी बवासीर, दस्‍त और ल्‍यूकोरिया में फायदेमंद है सेमल, जानें अन्‍य फायदे और सेवन का तरीका 

शहद 

शहद में एंटीबॉयोटिक गुण होते हैं जो जलने पर आपको काफी फायदा होता है। शहद का इस्तेमाल करने से घाव से बैक्टीरिया खत्म हो जाते हैं। इसके लिए आप इसे पट्टी पर लगाकर घाव पर रख दें, आप इस पट्टी को दिन में दो से तीन बार लगाएं। 

तुलसी 

जले हुए हिस्से पर तुलसी के पत्तों का रस लगाना भी बेहद असरदार होता है। तुलसी का रस लगाने से जलने के बाद किसी तरह का दाग नहीं बनता। आपने अक्सर देखा होगा जलने के बाद उस हिस्से पर काफी समय तक निशान बन जाते हैं। लेकिन अगर आप तुलसी का रस लगाते हैं तो इससे आपके घाव पर निशान नहीं बनेगा। 

इसे भी पढ़ें: चोट के घाव को जल्‍द भरने के लिए अपनाएं ये 10 असरदार घरेलू उपचार

जलने पर क्‍या ना करें 

  • जलने के बाद अक्सर लोग बर्फ का सहारा लेते हैं और बर्फ की सिकाई करना शुरू कर देते हैं। बर्फ से आपकी जलन खत्म हो सकती है, लेकिन बर्फ की सिकाई करने से जले हुए हिस्से में खून जमा हो सकता है। 
  • जले हुए हिस्से पर रूई का प्रयोग भूल कर भी न करें। यह त्वचा पर चिपक सकती है, जिससे आपको ज्यादा जलन हो सकती है। 
  • फफोले पड़ने पर उन्हें फोड़ने की गलती बिल्कुल न करें, इससे फफोले के अंदर मौजूद संक्रमण फैल सकते हैं। 

Read More Articles on Home Remedies in Hindi

Disclaimer