मांसपेशियों की ताकत बढ़ाने और मस्कुलर बॉडी बनाने में मदद करेंगे ये 5 ऑर्गेनिक फूड्स, जरूर खाएं

अगर आप अपनी मसल्स की ताकत बढ़ाना और अच्छी आकर्षक बॉडी पाना चाहते हैं, तो आपको ये 5 ऑर्गेनिक फूड्स जरूर खाने चाहिए। प्रोटीन और एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर ये फूड्स आपके शरीर को मजबूत बनाएंगे, जिससे आपकी बॉडी चुस्त और आकर्षक दिखेगी।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavUpdated at: Sep 02, 2019 13:19 IST
मांसपेशियों की ताकत बढ़ाने और मस्कुलर बॉडी बनाने में मदद करेंगे ये 5 ऑर्गेनिक फूड्स, जरूर खाएं

मस्कुलर बॉडी यानी उभरा हुआ सीना, चौड़े कंधे, सिक्स पैक एब्स, मसल्स आदि आपके लुक को आकर्षक बनाते हैं। ऐसी बॉडी पाने के लिए क्या करना जरूरी है? ज्यादातर लोगों का जवाब होगा एक्सरसाइज और वर्कआउट। ये बात सच है कि मस्कुलर बॉडी पाने के लिए आपको जिम और एक्सरसाइज की मदद लेनी पड़ेगी, मगर बिना खान-पान बदले, सिर्फ एक्सरसाइज से आप ऐसी बॉडी नहीं बना सकते हैं। आपका खाना आपके मसल्स को बढ़ने के लिए पर्याप्त पोषक देगा और एक्सरसाइज शरीर में जमा अतिरिक्त फैट को बर्न करेगी। इस तरह दोनों के कॉम्बिनेशन से आप अच्छी, फिट और मस्कुलर बॉडी पा सकते हैं। अक्सर एक्सरसाइज की जानकारी तो लोगों को होती है, मगर डाइट के बारे में लोग कम जानते हैं। आइए आपको बताते हैं 5 ऑर्गेनिक फू्ड्स, जो मस्कुलर बॉडी को तेजी से बनाने में आपकी मदद करेंगे।

ऑर्गेनिक क्विनोआ

क्विनोआ एक अनाज है, पिछले 3-4 सालों में तेजी से पॉपुलर हुआ है। खासकर जिम जाने वाले और फिटनेस का ख्याल रखने वाले लोगों में क्विनोआ को लेकर अलग ही क्रेज दिखता है। इसके पॉपुलर होने का कारण यह है कि ये सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। क्विनोआ में 9 तरह के एमिनो एसिड्स होते हैं और ये प्रोटीन से भरपूर होता है। इसकी खास बात ये है कि इसमें ग्लूटेन नहीं होता है। इसके अलावा क्विनोआ में मैग्नीशियम और आयरन भी अच्छी मात्रा में होता है।

इसे भी पढ़ें:- मस्तिष्क की क्षमता को बढ़ाते हैं ये 6 विटामिन ई से भरपूर आहार, डाइट में करें शामिल

ऑर्गेनिक बादाम

जब हम मांसपेशियों की ताकत के बारे में बात करते हैं, तो बादाम को निश्चित रूप से सूची में शामिल करना होगा। बादाम अत्यंत पौष्टिक होता है और ये कई स्वास्थ्य लाभों के लिए प्रसिद्ध है। बादाम में विटामिन ई की उपस्थिति आपको मांसपेशियों की ताकत बनाने में सक्षम कर सकती है। इसके अलावा, चूंकि बादाम एंटी-ऑक्सीडेंट से भरे होते हैं, यह वर्कआउट के बाद शरीर को रिपेयर करने में आपकी मदद करता है। बादाम में फाइबर, प्रोटीन, पोटेशियम, मैग्नीशियम और कैल्शियम भी होते हैं, जो एक फिट और सुडौल शरीर बनाने में मदद करते हैं। इसलिए अपनी डाइट में बादाम को जरूर शामिल करें। बादाम को आप सुबह या शाम के स्नैक्स में भी खा सकते हैं।

ऑर्गेनिक ब्राउन राइस

जिम जाने वालों के लिए ब्राउन राइस (भूरे चावल) का सेवन हेल्दी होता है और ये मांसपेशियों को मजबूत बनाने में भी फायदेमंद है। ब्राउन राइस में कॉम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट अच्छी मात्रा में होता है, इसलिए शरीर में जाने के बाद इसके पोषक तत्व आसानी से टूटकर शरीर को फायदा पहुंचाते हैं और शरीर का मेटाबॉलिज्म बढ़ाते हैं। इससे आप ज्यादा कैलोरीज बर्न करते हैं। ब्राउन राइस के सेवन से मसल्स अच्छी बनती हैं। यह पोस्ट-वर्कआउट खाने के लिए सबसे अच्छा आहार है क्योंकि ये कार्ब्स से भरपूर होता है और मुख्य व्यंजन के रूप में या कुछ स्वादिस्ट सलाद के रूप में तैयार किया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें:- आंखों की कमजोरी, शरीर का दुबलापन और याददाश्त की कमी दूर करता है खसखस (पोस्ता दाने) का हलवा, जानें रेसिपी

ऑर्गेनिक हल्दी

हल्दी के सेवन से होने वाले स्वास्थ्य लाभों से हम सभी वाकिफ हैं, लेकिन क्या हम वास्तव में जानते हैं कि हल्दी मसल्स बनाने में कैसे मदद करती है? सुपरफूड हल्दी मांसपेशियों के निर्माण के लिए उपयोगी है क्योंकि इसमें करक्यूमिन की मौजूदगी मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मदद करती है और मांसपेशियों की वृद्धि को बढ़ाती है। आप आसानी से अन्य भोजन के साथ इसका सेवन कर सकते हैं या इसे गर्म दूध के साथ ले सकते हैं। हल्दी का नियमित सेवन आपकी मांसपेशियों को बढ़ाने और उभारने में मदद करेगा और इन्हें मजबूत बनाएगा।

ऑर्गेनिक दालें और छोले

शाकाहारियों के लिए, दाल और छोले में वो सभी पोषक तत्व होते हैं, जो मांसपेशियों की ताकत के लिए आवश्यक होते हैं। जो कोई भी मस्कुलर बॉडी पाना चाहता है और मसल्स पावर को बढ़ाना चाहता है, उसके लिए प्रोटीन से भरपूर भोजन का सेवन करना अनिवार्य हो जाता है। सभी प्रकार की दालों, जैसे- मूंग, मसूर, अरहर, उड़द और काबुली चने (छोले) प्रोटीन से भरपूर होते हैं, इसलिए ये मांसपेशियां बनाने में मदद करते हैं। अच्छी बॉडी पाने और शरीर को स्वस्थ रखने के लिए आपको इनका सेवन जरूर करना चाहिए।

Read more articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer