क्या और कैसे होता है भावनात्मक शोषण

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 13, 2015
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • शब्दों या क्रोध से तकलीफ पहुंचाना भावनात्मक शोषण।
  • पार्टनर का कोसना, चिल्लाना या बेज्जती करना है लक्षण।
  • भावनात्मक शोषण में घरेलू हिंसा भी शामिल होती है।
  • रिश्तों को खोखला कर देता है इस तरह का शोषण।

शोषण के बारे में बात करते वक्त हमारे ज़ेहन में सिर्फ शारीरिक शोषण आता है। शारीरिक शोषण जैसे कि चोट पहुंचाना या यौन शोषण करना। भावनात्मक शोषण वो होता है,जब कोई अपने शब्दों से या क्रोध से आपको तकलीफ पहुंचाता है,या नियंत्रित करने की कोशिश करता है।
couple in hindi

भावनात्मक शोषण के लक्षण क्या हैं?

आपको लगातार कोसना, दोष देना, ताने मारना।
आप पर चिल्लाना।
भावनात्मक तौर पर आपसे खुद को दूर रखना।
आपको मूर्ख, मोटे, बदसूरत कहना।
आपकी जाति, लिंग, उम्र या व्यक्तिगत बातों का मज़ाक उड़ाना।
आपसे ऐसी उम्मीद रखना जो पूरी नहीं हो सकती, आपको ये जताना कि आप कुछ नहीं कर सकते।
बहुत ज्यादा ध्यान रखना या बिलकुल ध्यान ना रखना।
आपसे ये कहना कि आपको कोई पसंद नहीं करता।
आपकी दिलचस्पी में कोई रुचि ना दिखाना।
घरेलू हिंसा।
आपको मारने की धमकी देना।
मौखिक शोषण ही आगे चलकर शारीरिक शोषण में बदल सकता है, इसीलिए इससे पहले कि हालात बिगड़ जाएं, आप मदद लें।  
women in hindi

भावनात्मक शोषण का नुकसान

कोई भी रिश्ता प्यार में ही पनप पाता है। जब कोई कपल साथ में होता है तो वो एक दूसरे का ख्याल रखता है, इज्जत करता है और ढेर सारा प्यार लुटाना है। लेकिन जब रिश्ते में ऊपर लिखी हुई बातें होने लगे तो इससे कोई भी रिश्ता खराब हो सकता है। भावनात्मक शोषण न सिर्फ किसी रिश्ते को खोखला बनाता है बल्कि ये इंसान को अंदर ही अंदर घुन की तरह खाने लगता है। अगर आपके रिश्ते में भी ऐसा कुछ हो रहा हो तो आप अपने पार्टनर से इस पर खुल कर बात करें। अपने दोस्तों और परिवार से मदद लें। थोड़ी सी कोशिशों से अगर रिश्ता संभल जाए तो अच्छा है वरना आपको अपने आपको शोषित होने से बचाने के लिए अपने पार्टनर से दूर भी करना पड़ सकता है।

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES8 Votes 44306 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर