नवजात में मोशन की समस्या का समाधान

परवरिश के तरीकेBy Onlymyhealth editorial teamMar 03, 2017

जिस तरह बड़ों में मोशन की समस्या होती है ठीक उसी तरह नवजात शिशु में भी मोशन की समस्या होती है। हालांकि कई बार हम ये समझ पाते हैं और कई बार नहीं भी समझ पाते हैं। आज डॉक्टर आर जी होल्ला हमें नवजात में मोशन की समस्या के बारे में बता रहे हैं। डॉक्टर कहते हैं कि जब बच्चे की खुराक बड़ों से अलग होती है तो उसका मल की बड़ों से अलग होता है। शुरुआती 2 से 3 दिन तक बच्चे का मल काले रंग का होता है। फिर उसके बाद जब उसके पेट में दूध जाता है तो उसके मल का रंग हरा और बाद में पीला हो जाता है। बच्चे का एक दिन में 8 से 10 बार टट्टी करना आम बात है। अगर बच्चा बहुत ज्यादा पतला मल निकाल रहा हो तो उसे एक बार डॉक्टर को दिखाना चाहिए। जो बच्चे मां का दूध पीते हैं वो थोड़ी ज्यादा टट्टी करते हैं और जो बाहर का या पैकेट वाला दूध पीते हैं वो कम करते हैं। अगर कभी बच्चे का पेट फूल जाए या पॉटी की जगह से टट्टी और हवा दोनों आना बंद हो जाए तो ये एक एमरजेंसी है। इस​ स्थिति में किसी डॉक्टर को दिखाना चाहिए।

Disclaimer