क्या है कार्डियक अरेस्ट (Cardiac Arrest)? एक्सपर्ट से जानें इसके कारण और बचाव के उपाय

हृदय स्‍वास्‍थ्‍यBy Onlymyhealth editorial teamSep 22, 2021

हाल के दिनों में, अचानक कार्डियक अरेस्ट (Cardiac Arrest) की कई घटनाएं बढ़ी हैं। विशेषज्ञों के अनुसार, कार्डियक अरेस्ट युवा आबादी में मौत का सबसे बड़ा कारण बनता जा रहा है। दरअसल, कार्डियक अरेस्‍ट (Cardiac Arrest) का मतलब है अचानक से आपकी दिल का काम करना बंद हो जाना। दरअसल, इसके पीछे सबसे बड़ा कारण होता है आपके ब्लड वेसेल्स का हेल्दी ना होना। आपके ब्लड वेसेल्स में ब्लॉकेज होने पर या फिर ब्लड सर्कुलेशन का सही से ना होने पर कार्डियक अरेस्‍ट होने के चांस बढ़ जाते हैं। इन स्थितियों को मेडिकल भाषा में समझाएं तो, ये कोरोनरी हार्ट डिजीज (coronary artery disease)है। इसमें आपकी धमनियां ब्लॉक होने लगती हैं। इसकी वजह से ब्लड सर्कुलेशन और ऑक्सीजन की सप्लाई कम हो जाती है। इससे अचानक से दिल काम करना बंद कर देता है और अचानक कार्डियक अरेस्ट आ जाता है। इसके अलावा हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, कोलेस्ट्रॉल, मोटापा और अनुवांशिक कारणों से भी लोगों को कार्डियक अरेस्ट होता है। पर इसमें ज्यादातर लोग ये जानना चाहते हैं कि क्या कार्डियक अरेस्ट हमेशा अचानक ही होता है और इसके लक्षण पहले से महसूस नहीं होते? तो ऐसा नहीं है। 

कार्डियक अरेस्‍ट के लक्षण (Symptoms of Cardiac Arrest) जैसे कि अचानक बेहोश हो जाना, सांस न चलना, छाती में दर्द, सांस लेने में कठिनाई, कमजोरी और जी मिचलाना आदि आपको लंबे समय से महसूस हो सकते हैं। पर ये लक्षण कई अन्य बीमारियों में भी होते हैं इसलिए इन्हें अक्सर लोग पहचान नहीं पाते। तो, आज हम इस वीडियो में डॉक्टर से जानेंगे कार्डियक अरेस्‍ट का कारण (Causes of Cardiac Arrest) और फिर इससे बचाव के उपाय (Tips to prevent Cardiac Arrest)

Watch More Health Videos in Hindi

 

Disclaimer