क्या कोविड वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज अलग-अलग ब्रांड्स की लगवा सकते हैं? जानें डॉक्टर से

विविधBy Onlymyhealth editorial teamMay 17, 2021

कोरोना वायरस से बचाव के लिए देशभर में वैक्सिनेशन (टीकाकरण) तेजी हो रहा है। भारत में अभी तक 3 वैक्सीन्स के इस्तेमाल की परमीशन मिल चुकी है, जो कोविशील्ड, कोवैक्सिन और स्पुतनिक हैं। इन सभी वैक्सीन के 2 डोज लगने हैं जिनके बीच 4 से 12 सप्ताह तक का अंतर है। ऐसे में लोगों के मन में ये सवाल उठ रहे हैं कि अगर उन्होंने पहली वैक्सीन एक ब्रांड की ले ली है, तो क्या वो दूसरी वैक्सीन किसी अन्य ब्रांड की ले सकते हैं। इस सवाल पर ओनलीमायहेल्थ ने बात की मनिपाल हॉस्पिटल दिल्ली के पल्मोनोलॉजी और रेस्पिरेटरी मेडिसिन के हेड डॉ. पुनीत खन्ना से

डॉ. खन्ना के अनुसार दो वैक्सीन दो अलग-अलग ब्रांड्स की लगवाने की सलाह नहीं दी जा सकती है। ये कई बार खतरनाक हो सकता है और इसके गंभीर परिणाम देखने को मिल सकते हैं। आपके लिए बेहतर यही है कि आपने जिस भी ब्रांड की पहली वैक्सीन लगवाई है, उसी ब्रांड का बूस्टर डोज भी लगवाएं। यानी अगर किसी व्यक्ति ने पहली वैक्सीन कोविशील्ड लगवाई है, तो उसे दूसरी डोज भी कोविशील्ड की ही लगवानी चाहिए। इसी तरह अगर किसी ने पहली वैक्सीन कोवैक्सिन की लगवाई है, तो उसे दूसरी वैक्सीन भी कोवैक्सिन ही लगवानी चाहिए।

एक ही व्यक्ति अगर दोनों डोज में दो अलग-अलग वैक्सीन लगवाता है, तो इससे दोनों वैक्सीन से बनने वाले एंटीजन क्लैश कर सकते हैं, जो कि खतरनाक हो सकता है। इसलिए फिलहाल भारत में मौजूद वैक्सीन्स को आपस में मिलाकर नहीं लगाया जा सकता है।

Watch More Health Videos in Hindi

Disclaimer