एसिडिटी, गैस और कॉन्स्टिपेशन के लिए घरेलु उपचार

स्वस्थ आहारBy Onlymyhealth editorial teamAug 24, 2016

कब्ज एक ऐसी बीमारी है जो हर किसी को कभी न कभी जरुर होती है। आमतौर पर कब्ज की समस्या उस समय होती है जब शरीर में पानी की कमी, डाइट में पोषण की कमी, व्यायाम न करना, जीवनशैली और काम के बोझ हो। महिलाओं और बुजुर्गों में कब्ज की समस्या ज्यादा पाई जाती है। पानी पीने से शरीर से एसिड बाहर निकल जाता है। साथ ही गैस की समस्या से तुंरत निजात मिलती है। खाना खाने के बाद तुंरत अधिक मात्रा में पानी नहीं पीना चाहिए। खाना खाते समय बीच में थोड़ा पानी पिएं और खाना खाने के करीब एक घंटे बाद पानी पीयें।  कच्चे आलू को छीलकर पानी डालकर मिक्सी में पीस लें। इस जूस को छानकर इसमें थोड़ा गर्म पानी मिलाकर पिएं। गैस से राहत मिल जाएगी। आलू में पोटाशियम सॉल्ट, अम्लता की समस्या से छुटकारा पाने में मदद करता है। अदरक के टुकड़े को घी में सेंक कर काला नमक लगायें, इसे खाने के साथ खाने पर गैस से छुटकारा मिल जाता है। जब भी गैस की समस्या परेशान करें, एक चम्मच जीरा पाउडर ठंडे पानी में घोलकर पीएं।अदरक का जूस आपके पेट में पड़े हुए खाने को हिलाकर उसे निकास द्वार की तरफ धकेलता है। इससे बहुत लाभ होगा। तुलसी के दो चार पत्ते दिन में कई बार चबाकर खाने से लाभ होता है। इसका रस निकाल कर भी थोड़ी मात्रा में सेवन किया जा सकता है। हर तीन टाइम भोजन के बाद गुड़ जरूर खायें। विटामिन और मिनरल्स से भरपूर गुड़ को गर्म करके खाने से कब्ज में बहुत आराम मिलता है। पाचन क्रिया को बेहतर बनाए रखने के लिए भी गुड़ एक कारगर उपाय है।त्रिफला चूर्ण को दूध के साथ पीने से एसिडिटी समाप्त होती है। पेट की जलन भी शांत होती है। त्रिफला तीन चीजों यानी आंवला, बहेडा और हरड़ को समान मात्रा में मिलाकर बनता है।

Disclaimer