कोरोनाकाल में अनाथ हुए बच्चों की मदद कैसे कर सकते हैं? जानें बच्चों को गोद लेने की कानूनी प्रक्रिया

परवरिश के तरीकेBy Onlymyhealth editorial teamJun 03, 2021

कोरोना वायरस महामारी में लाखों लोगों ने अपनी जान गंवाई है। इसी दौरान बहुत सारे बच्चों ने अपने माता-पिता और अभिभावकों को खोया है। खासकर भारत में आई कोरोना की दूसरी लहर में ऐसे बच्चों की संख्या बहुत ज्यादा रही है। ऐसे बच्चों की मदद के लिए आगे आना न सिर्फ एक बेहतरीन कदम है, बल्कि एक सामाजिक व्यक्ति के नाते आपका कर्तव्य भी है। लेकिन सवाल ये उठता है कि आप ऐसे बच्चों की मदद करेंगे कैसे? इसी सवाल का जवाब आज ओनलीमायहेल्थ और न्यूजवर्दी की इस साझा स्पेशल सीरीज 'कोविड-19 आपके सवालों के स्पष्ट जवाब' के वीडियो में हम आपको दे रहे हैं।

अगर आपकी जानकारी में ऐसा कोई बच्चा है या आप तक ऐसे किसी बच्चे की सूचना आती है, जो कोविड-19 महामारी के दौरान आपने परिजनों को खो चुका है, तो आप उस बच्चे की कई तरह से मदद कर सकते हैं।

  • सबसे पहले तो उस बच्चे की सूचना नैशनल चाइल्डलाइन हेल्प नंबर 1098 या नैशनल प्रोटेक्शन फॉर चाइल्ड राइट्स के टोल फ्री नंबर 1800-121-2830 पर दीजिए।
  • अगर किसी कारणवश इन नंबर्स पर संपर्क नहीं कर पा रहे हैं या उपयुक्त सहायता नहीं मिल रही है तो नजदीकी पुलिस स्टेशन पर इसकी सूचना दीजिए।
  • ऐसे बच्चों के लिए सरकार और कई NGOs मिलकर फॉस्टर होम का इंतजाम कर सकते हैं।
  • अगर आप ऐसे किसी बच्चे को स्वयं गोद लेना चाहते हैं तो आपको केंद्रीय एजेंसी CARA में इसके लिए अर्जी देनी पड़ेगी।
  • कई बार ऐसा भी हो सकता है कि आप ऊपर बताए गए हेल्पलाइन नंबर्स पर संपर्क करें और सरकारी या NGO की मदद मिलने में समय लगे, तो आप CARA में टेम्परेरी फॉस्टर केयर सर्टिफिकेट के लिए अप्लाई कर सकते हैं और मदद मिलने तक बच्चे को अपने साथ रख सकते हैं।
  • इसके अलावा आप अपने निजी स्तर पर बच्चे की देखभाल करके, उसकी सुरक्षा करके, खाने-कपड़े आदि की जरूरतें पूरी करके भी उनकी मदद कर सकते हैं, लेकिन इसके पहले भी आपको ऊपर बताए गए संस्थानों या पुलिस स्टेशन पर इसकी सूचना जरूर देनी चाहिए।
  • ऐसे सभी बच्चे जिन्होंने अपने मां-बाप इस कोविड-19 महामारी में खोए हैं, उनके लिए PM Cares Fund से कई लाभकारी योजनाएं दे रही है।

नियमों और योजनाओं की अधिक जानकारी के लिए आप ये वीडियो पूरा देख सकते हैं। साथ ही ऐसे बच्चों की मदद के लिए लोगों को प्रेरित करने के लिए आप इस वीडियो को अपने फैमिली और फ्रैंड्स के ग्रुप में शेयर भी कर सकते हैं। ओनलीमायहेल्थ की अपील है कि अगर आप सक्षम हैं तो ऐसे बच्चों की मदद जरूर करें।

Watch More Health Videos in Hindi

Disclaimer