घरेलू नुस्‍खBy Onlymyhealth editorial teamSep 22, 2021

बदलते मौसम के साथ लोगों में वायरल फीवर (viral fever in hindi)  बड़ी तेजी से फैल रहा है। ये हर साल मौसम बदलने के दौरान होता है और उन लोगों को ज्यादा शिकार बनाता है जो कि कमजोर इम्यूनिटी वाले होते हैं। जैसे बच्चे और बूढ़े।  वायरल फीवर के कारणों (causes of viral fever) की बात करें तो, वायरल इंफेक्शन (viral infection) के कारण होता है। वायरस बहुत छोटे संक्रामक एजेंट होते हैं। वे आपके शरीर की कोशिकाओं को पहले संक्रमित करते हैं और फिर बाद में मल्टीप्लाई करते हैं। इसमें ज्यादातर लोगों को तेज बुखार होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि बुखार आपके शरीर का वायरस से लड़ने का तरीका है। कई वायरस तापमान में बदलाव के प्रति संवेदनशील होते हैं, इसलिए आपके शरीर के तापमान में अचानक वृद्धि आपको वायरस के प्रति कम संवेदनशील बनाती है।ऐसे कई तरीके हैं जिनसे आप वायरस से संक्रमित हो सकते हैं, जैसे कि किसी के छींकने या खांसने से और खाने-पीने की दूषित चीजों से। 

ऐसे में शरीर में वायरल फीवर के कई सारे लक्षण (symptoms of viral fever) नजर आते हैं जैसे कि बहुत तेज बुखार। ठंड लगने के साथ बुखार। पसीना आना, डिहाइड्रेशन, सरदर्द, मांसपेशियों में दर्द, कमजोरी महसूस होना और भूख न लगना। पर वायरल फीवर में आप कुछ घरेलू नुस्खों  (home remedy for viral fever) को भी अपना सकते हैं, जो कि बुखार को कम करने के साथ इन सभी लक्षणों को कम करने में भी मदद करते हैं। तो, आइए वायरल फीवर का घरेलू उपचार जानने के लिए देखते हैं ये विडियो। 

Watch More Health Videos in Hindi

Disclaimer