Health Videos »

इंच लोस या पतले होने के ट्रीटमेंट कितने सफल हैं

Onlymyhealth Editorial Team, Date:2016-06-30
मोटापे की समस्या देश और पूरी दुनिया के लिए एक गंभीर विषय बन चुका है। मोटापा न सिर्फ पर्सनेलिटी को खराब करता है, बल्कि हजारों बीमारियों को भी जन्म देता है। शोध बताते हैं कि मोटापे ने मृत्यु दर को भी बढ़ावा दिया है। बढ़ता मोटापा अपने साथ अनेक बीमारियों को लेकर आता है, ऐसे में मृत्यु का खतरा सामान्य से कई गुना अधिक हो जाता है। कुछ अध्ययन बताते हैं कि मोटापे से ग्रस्त मरीज जो वजन कम करने के लिए सर्जरी कराते हैं, उनकी मोटापे की वजह से मरने की आशंका सर्जरी नहीं कराने वालों की तुलना में कम रही है। देखा गया है कि जल्द मोटापा कम करने की सर्जरी और ट्रीटमेंट लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर रहे हैं। लोग मोटापा कम करने के लिए लोग कई तरह के ट्रीटमेंट अपना रहे हैं। इस प्रक्रिया में अलग अलग तकनीक की मदद से पेट का आकार कम किया जाता है इससे न सिर्फ भूख कम हो जाती है बल्कि शरीर में खाना भी कम जाता है। इस दौरान शरीर जमी हुई चर्बी यानी फैट का इस्तेमाल शारीरिक कामों को करने में करता है। इससे तेज और स्थाई तरीके से वजन कम होता है, लेकिन इसके कुछ साइड इफेक्ट भी देखे गए हैं। हालांकि मोटापा कम करने की इस तरह की सर्जरी का फैशन तेजी से बढ़ना बहुत अच्छा संकेत नहीं है। क्योंकि शरीर का वजन अचानक कम होने से त्वचा ढीली होकर लटक जाती है और इसे ठीक करने के लिए कॉस्मेटिक सर्जरी भी करनी पड़ सकती है। अगर वास्तविकता में देखा जाए तो बेहतर है कि जीवन को समय रहते ही नियमित कर लिया जाए। खूब कसरत की जाए और सही भोजन किया जाए। शरीर के सभी हिस्सों के लिए कसरत का फायदा अलग होता है। यह प्रक्रिया धीमी और मेहनत वाली तो होती है, लेकिन इसके कोई साइड इपेक्ट नहीं होते हैं।
Related Videos
I have read the Privacy Policy and the Terms and Conditions. I provide my consent for my data to be processed for the purposes as described and receive communications for service related information.
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK