एड़ियों में दर्द के दौरान आहार में क्या बदलाव लाएं

दर्द का प्रबंधन By Onlymyhealth editorial teamSep 23, 2016

शरीर में यूरिक एसिड बढ़ जाने और इसके हमारी हड्डियों और उत्‍तकों के बीच में इकट्ठा हो जाने के कारण एड़ि‍यों में दर्द होता है। इसलिए हमें शरीर में यूरिक एसिड को जमा होने से बचाना चाहिए और सबसे जरूरी एड़ि‍यों में दर्द आने की नौबत से बचना चाहिए। इसलिए अगर आप मांसाहारी है तो इसे कम मात्रा में सेवन करें। आमतौर पर देखा जाता है कि आप अपने तीनों समय के खाने के दौरान मांसाहार का सेवन करते हैं। ऐसा बिल्‍कुल न करें और रेड मीट का सेवन तो बिल्‍कुल ही कम कर दें। लेकिन अगर दर्द हो ही गया है तो कोशिश करें कि चिकन या अंडे का सफेद भाग ही खाएं, रेड मीट कम लें और पोर्क और बीफ का सेवन तो बिल्‍कुल भी न करें। और शाकाहारी लोगों को अपने खाने में राजमा, लोबिया जैसी बींस वाली फलियां की मात्रा थोड़ी कम कर देनी चाहिए। फलों में शरीफा और चीकू को भी कम मात्रा में लें। दालें आप ले सकते हैं लेकिन बींस वाली दाल और साबूत मसूर नहीं लेनी चाहिए। अगर लेनी भी हैं तो बहुत कम मात्रा में लें। इसके अलावा एड़ियों के दर्द से बचने के लिए मशरूम का सेवन भी थोड़ा कम करें। हरी गोभी यानी ब्रोकली का सेवन तो आप बिल्‍कुल बंद कर दें और फूलगोभी को सेवन भी कम कर दें। आप हफ्ते में एक बार ही फूलगोभी खा सकते हैं। अपने खाने में घीया, तोरई, गाजर टिंडा जैसी सब्जियों को अधिक से अधिक मात्रा में शामिल करें। इसके साथ अपने खाने में फाइबर की मात्रा बढ़ा दें। इसके लिए अपने खाने में छिलके वाली दालें, काले चने लें। इसके अलावा दर्द से बचने के लिए डेयरी प्रोडक्‍ट को अपने आहार में शामिल कर सकते हैं, लेकिन पनीर की मात्रा कम और दही की मात्रा अधिक लें। ऐसा करने से आपको कुछ ही दिनों में दर्द से राहत महसूस होने लगेगी।




Disclaimer